More Services

Tuesday, 25 April 2017

SITAPUR:किंग्स इलेवन की रॉयल चैलेंजर्स पर शानदार जीत 🎯आयोजन समिति के सदस्य राज कुमार सिंह सहित अन्य शिक्षक मौजूद रहे। अगला मैच रॉयल लॉयंस और पैंथर्स के बीच खेला जाएगा।

किंग्स इलेवन की रॉयल चैलेंजर्स पर शानदार जीत
🎯आयोजन समिति के सदस्य राज कुमार सिंह सहित अन्य शिक्षक मौजूद रहे। अगला मैच रॉयल लॉयंस और पैंथर्स के बीच खेला जाएगा।

जासं, सीतापुर : आरएमपी इंटर कॉलेज मैदान पर बेसिक शिक्षा परिषद के अध्यापकों द्वारा टीचर्स प्रीमियर लीग-3 क्रिकेट टूर्नामेंट का आयोजन किया गया। टूर्नामेंट में क्रिकेट मैच किंग्स इलेवन व रॉयल चैलेंजर्स के मध्य खेला गया। रॉयल चैलेंजर्स के कप्तान मो. वाइस ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया। 1टीम 15 ओवर में 9 विकेट के नुकसान पर मात्र 116 रन ही बना सकी। टीम के शबाब ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 23 गेंदों में 36 रन, पवन सिंह ने 8 गेंदों में 25 रन बनाए। निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने उतरी किंग्स इलेवन की टीम की ओपनिंग जोड़ी ने 113 रन की शानदार साङोदारी निभाई। जिसमें सुनील ने 31 गेंदों में दो चौके और नौ छक्कों की मदद से 72 रन बनाए। किंग्स इलेवन ने शानदार प्रदर्शन करते हुए महज 10 ओवर में 1 विकेट खोकर जीत हासिल कर ली। मैन ऑफ द मैच किंग्स इलेवन के सुनील को चुना गया। इस दौरान आयोजन समिति के सदस्य राज कुमार सिंह सहित अन्य शिक्षक मौजूद रहे। अगला मैच रॉयल लॉयंस और पैंथर्स के बीच खेला जाएगा।


FAIZABAD: शहर के कई नामी गिरामी विद्यालयों में राष्ट्रगान का अपमान,भारतीय युवा मंच के अध्यक्ष ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर किया खुलासा

FAIZABAD: बेसिक शिक्षा कार्यालय बना भ्रष्टाचार का अड्डा,यूटा ने लगाए आरोप

LAKHIMPUR:बहू शिक्षिका, सास प्रधान कर दिया एमडीएम में खेल,बीईओ की टिप्पणी पर चिपका डाला था कागज,शिकायत के बाद हुआ खुलासा। 🎯पूरा मामला धौरहरा ब्लॉक के प्रा0वि0 टापरपुरवा का है।

बहू शिक्षिका, सास प्रधान कर दिया एमडीएम में खेल,बीईओ की टिप्पणी पर चिपका डाला था कागज,शिकायत के बाद हुआ खुलासा।
🎯पूरा मामला धौरहरा ब्लॉक के प्रा0वि0 टापरपुरवा का है।


UP BOARD : हर परीक्षक को देना होगा मूल्यांकन का हलफनामा

हर परीक्षक को देना होगा मूल्यांकन का हलफनामा
यूपी बोर्ड में बदला नियम
जागरण विशेष
मूल्यांकन में गलती पर परीक्षक होंगे डिबार
बोर्ड ने तैयार कर भेजा हर जिले में आठ बिंदळ् का परीक्षक घोषणा पत्रक

धर्मेश अवस्थी, इलाहाबाद 1यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटर की उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन में अब मनमानी नहीं चलेगी। अनमने तरीके से कॉपियां जांचना और यूं ही अंकों की रेवड़ियां बांटने पर इस बार प्रभावी अंकुश लगना तय हो गया है। बोर्ड प्रशासन अब हर परीक्षक से मूल्यांकन का हलफनामा लेगा। उसे लिखकर देना होगा कि जो कॉपियां उसने जांची हैं उसमें कोई त्रुटि नहीं है यदि मूल्यांकन में गलती रह गई है तो वह दंड भुगतने को तैयार है। माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटर की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन 27 अप्रैल से शुरू होने जा रहा है। उसके पहले हर जिला मुख्यालय पर विस्तृत दिशा-निर्देश पहुंच रहे हैं। इस बार मूल्यांकन में कुछ बदलाव हुए हैं। असल में कॉपी का गलत मूल्यांकन करने पर परीक्षक को डिबार करने, उसके पारिश्रमिक से कटौती करने जैसे निर्देश पहले से हैं। इसके बाद भी बोर्ड प्रशासन प्रभावी तरीके से परीक्षकों पर कार्रवाई नहीं कर पाता रहा है। इसीलिए परीक्षकों से हलफनामा लेने का निर्देश जारी हुआ है, ताकि चूक मिलने पर यह प्रभावी दस्तावेज होगा, जिसके आधार पर कार्रवाई की जाए। बोर्ड प्रशासन इसके पहले केवल उन परीक्षकों से केवल अर्हता का हलफनामा लेता था। मसलन, भौतिक विज्ञान का शिक्षक लिखकर देता था कि वह इसी विषय का शिक्षक है। इस बार से बोर्ड ने हर जिले में आठ बिंदु का परीक्षक घोषणा पत्रक तैयार कराकर भिजवाया है। इसमें लिखा है कि मैंने सारे प्रश्नों का सही से मूल्यांकन किया है। सभी सही प्रश्नों पर अंक दिये हैं और गलत को काटकर शून्य अंक दिया है। सभी प्रश्नों में दिए गए अं

वेतन के लिए निदेशालय क्यों आ रहे शिक्षक

वेतन के लिए निदेशालय क्यों आ रहे शिक्षक

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : वेतन वितरण अधिनियम में यह व्यवस्था है कि वेतन भुगतान के लिए जिला विद्यालय निरीक्षक सक्षम अधिकारी होगा, तब शिक्षक अपने वेतन के लिए निदेशालय का चक्कर क्यों काट रहे हैं। शिक्षा निदेशालय में सोमवार को मेरठ व सहारनपुर मंडल की समीक्षा बैठक में उप्र माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष ओम प्रकाश शर्मा ने यह सवाल पूछा तो अफसर बंगले झांकने लगे। असल में प्रदेश भर के शिक्षकों व कर्मचारियों के अवशेष व लंबित प्रकरणों का निस्तारण के लिए अपर शिक्षा निदेशक माध्यमिक रमेश के यहां मंडलवार समीक्षा बैठके हो रही हैं। सोमवार को शिक्षक विधायक दल के नेता ओम प्रकाश शर्मा निदेशालय में मौजूद रहे। इस दौरान विधान परिषद सदस्य हेमसिंह पुंडीर, सुरेश कुमार त्रिपाठी, पूर्व एमएलसी सुभाष शर्मा, प्रमोद मिश्र, इंद्रासन सिंह आदि मौजूद रहे।

Monday, 24 April 2017

UNNAO:सुबह विद्यालय पहुँच कर सेल्फ़ी भेजने के आदेश के विरोध में उतरे शिक्षक, बीआरसी पर प्रदर्शन कर एसडीएम के आदेश की प्रतियाँ जलाईं। 🎯सरकार के बिना आदेश व् शासनादेश के खिलाफ शिक्षकों ने खोला मोर्चा, कहा नहीं भेजेंगे सेल्फ़ी।ब्लॉक से लगातार विरोध जारी है........

उन्नाव : सुबह विद्यालय पहुँच कर सेल्फ़ी भेजने के आदेश के विरोध में उतरे शिक्षक, बीआरसी पर प्रदर्शन कर एसडीएम के आदेश की प्रतियाँ जलाईं।
🎯सरकार के बिना आदेश व् शासनादेश के खिलाफ शिक्षकों ने खोला मोर्चा, कहा नहीं भेजेंगे सेल्फ़ी।ब्लॉक से लगातार विरोध जारी है........


BAHRAICH:आज बेसिक शिक्षा मंत्री माननीय अनुपमा जयसवाल जी से जनपद बहराइच में शाम 8 बजे उनके आवास पर मुलाकात करके पुनः शिक्षकों की समस्याओं से अवगत कराया गया ।जिसमें श्रावस्ती जिला अध्यक्ष अजीत शुक्ला जिलां संरक्षक राकेश तिवारी एवं प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष विनोद मौर्या आदि समेत कई शिक्षक साथी मौजूद रहे।

आज बेसिक शिक्षा मंत्री माननीय अनुपमा जयसवाल जी से जनपद बहराइच में शाम 8 बजे उनके आवास पर मुलाकात करके पुनः शिक्षकों की समस्याओं से अवगत कराया गया ।जिसमें श्रावस्ती जिला अध्यक्ष अजीत शुक्ला जिलां संरक्षक राकेश तिवारी एवं प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष विनोद मौर्या आदि समेत कई शिक्षक साथी मौजूद रहे।


कुशीनगर :समायोजित 22 शिक्षको के प्रमाणपत्र मिले संदिग्ध

कुशीनगर:अब हर शुक्रवार को मनेगा बी आर सी डे

कुशीनगर:प्रोन्नत वेतनमान के लाभार्थियों हेतु बी एस ए ने जारी किया निर्देश

कुशीनगर:बी एस ए ने आकस्मिक अवकाश हेतु जनपद के समस्त बी ई ओ को जारी किया निर्देश

LUCKNOW:मनमानी फीस पर नकेल के लिए हरियाणा मॉडल में दिलचस्पी, स्कूलों को अब शैक्षिक सत्र से पहले देनी होगी फीस व्रद्धि की जानकारी

मनमानी फीस पर नकेल के लिए हरियाणा मॉडल में दिलचस्पी, स्कूलों को अब शैक्षिक सत्र से पहले देनी होगी फीस व्रद्धि की जानकारी


TRANSFER : 5.85 लाख बेसिक शिक्षकों के लिये तबादला नीति जल्द,महिलाओं को मिलेगी घर के पास तैनाती, दूर भेजे जाएंगे लापरवाह शिक्षक, ऑनलाइन लिए जाएंगे आवेदन, रिक्त पदों की स्थिति हर दिन होगी अपडेट

ATEWA : अटेवा संघ की हुई बैठक, संगठन के पदाधिकारियों ने समस्या निस्तारण के लिए चर्चा की

शिक्षा में भगवा सरोकारों का रंग भरेगी सरकार, योग-संस्कृत के साथ सूर्य नमस्कार भी होगा शामिल

POLYTECHNIC : पॉलीटेक्निक में प्रवेश को दी परीक्षा,54 केंद्रों पर सुबह-शाम की पाली में आयोजित की गई प्रवेश परीक्षा, 90 प्रतिशत छात्रों की रही उपस्थिति

पॉलीटेक्निक में प्रवेश को दी परीक्षा

इम्तिहान

54 केंद्रों पर सुबह-शाम की पाली में आयोजित की गई प्रवेश परीक्षा, 90 प्रतिशत छात्रों की रही उपस्थिति

इंजीनियरिंग व प्रोफेशनल कोर्स में होगा चयनितों का दाखिला,करीब 27 हजार छात्रों के लिए बनाए गए थे 54 परीक्षा केंद्र

इलाहाबाद : प्रदेश प्राविधिक शिक्षा परिषद लखनऊ द्वारा विभिन्न डिप्लोमा पाठ्यक्रमों के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा रविवार को आयोजित की गई। नगर में 54 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। सुबह और शाम की पाली में हुई परीक्षा में 90 प्रतिशत उपस्थिति रही। 1संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद द्वारा आयोजित इंजीनियरिंग, कंप्यूटर, फार्मेसी, होमसाइंस सहित विभिन्न कोर्स के लिए इलाहाबाद से 54 हजार छात्र-छात्रएं पंजीकृत थे। आइईआरटी सहित नगर के विभिन्न शिक्षण केंद्रों को इसका सेंटर बनाया गया।1महिला पॉलीटेक्निक तेलियरगंज नोडल सेंटर था। संस्थान के प्राचार्य एवं प्रवेश परीक्षा के नोडल अधिकारी एसके श्रीवास्तव ने बताया कि सुबह की पाली में ग्रुप ‘ए’ यानी सभी इंजीनियरिंग ट्रेड के डिप्लोमा, दोपहर की पाली में ग्रुप ‘बी’ के अंतर्गत प्रोफेशन कोर्स जैसे पीजीडीसीए, फार्मेसी, और होमसाइंस आदि पाठ्यक्रम के लिए प्रवेश परीक्षाएं सम्पन्न हुईं। लगभग 27 हजार छात्रों के लिए 54 केंद्र बनाए गए थे। आइईआरटी में एक हजार छात्रों का परीक्षा केंद्र बनाया गया था। यहां पर 980 अभ्यर्थी प्रवेश परीक्षा में शामिल हुए। 1इस प्रवेश परीक्षा के माध्यम से राजकीय और अनुदानित व निजी क्षेत्र की संस्थाओं में चल रहे विभिन्न पाठ्यक्रमों में प्रवेश दिया जाएगा। प्रवेश परीक्षा के प्राप्तांकों के आधार पर मेरिट सूची तैयार की जाएगी। इस सूची से वर्गवार आरक्षण तथा अन्य आरक्षण सुनिश्चित करते हुए काउंसिलिंग द्वारा चयन किया जाएगा।सिविल लाइन स्थित हिन्दू महिला इंटर कालेज से पॉलीटेक्निक में दाखिले के लिए परीक्षा देकर निकलते अभ्यर्थी।’

UP BOARD : यूपी बोर्ड की कापियों का मूल्यांकन 27 से,पांच हजार के लगभग शिक्षक करेंगे यूपी बोर्ड की कापियों का मूल्यांकन,सभी केंद्रों में पंखा, पानी और लंच की व्यवस्था रखने की मांग

यूपी बोर्ड की कापियों का मूल्यांकन 27 से,पांच हजार के लगभग शिक्षक करेंगे यूपी बोर्ड की कापियों का मूल्यांकन,सभी केंद्रों में पंखा, पानी और लंच की व्यवस्था रखने की मांग

तैयारी

जासं, इलाहाबाद : यूपी बोर्ड परीक्षा की कापियों का मूल्यांकन 27 अप्रैल से शुरू होगा। जिले में आठ केंद्रों पर कापियां जांची जाएंगी। पांच हजार के लगभग शिक्षक अलग-अलग केंद्रों में कापियों का मूल्यांकन करेंगे। कापियां राजकीय इंटरमीडिएट कालेज, जीजीआइसी, केपी इंटर कालेज, सीएवी इंटर कालेज, केसर विद्यापीठ, एंग्लो बंगाली इंटर कालेज, भारत स्काउट एंड गाइड इंटर कालेज, अग्रसेन इंटर कालेज में जांची जाएंगी। 1जिला विद्यालय निरीक्षक कोमल यादव का कहना है कि बोर्ड से एक-दो दिन में कापियों की संख्या का ब्योरा मिल जाएगा। वहीं उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ ‘शर्मा गुट’ के प्रांतीय सदस्य डॉ. शैलेश पांडेय ने मूल्यांकन केंद्रों में पीने के पानी, पंखा व खाने का उचित प्रबंध करने की मांग की। शिक्षक विधायक सुरेश त्रिपाठी ने कहा कि मूल्यांकन केंद्रों में शिक्षकों को दिक्कत हुई तो अधिकारी शांति से नहीं बैठ पाएंगे। ऐसे में कोई दिक्कत न होने पाए उसके लिए अभी से प्रबंध किया जाए।’

Sunday, 23 April 2017

FATEHPUR :ATEWA : आज दिनांक 23/4 /2017 को अटेवा पेंशन बचाओ मंच फतेहपुर के द्वारा की गयी एक अति आवश्यक बैठक, देवा शुक्ला जी बने जिला महामंत्री , बैठक में प्रस्तावित हुए महत्वपूर्ण बिंदु देखें

आज दिनांक 23/4 /2017 को अटेवा पेंशन बचाओ मंच फतेहपुर के द्वारा एक अति आवश्यक बैठक शिक्षक भवन फतेहपुर में बुलाई गई  lजिसमें पूर्व निर्धारित एजेंडे के अनुसार कुछ फैसले लिए गए जो फैसले लिए गए वह निम्नलिखित हैl  सर्वप्रथम प्रदेश नेतृत्व के  अनुपालन में जिला कार्यकारणी को मजबूत करने के उद्देश्य से निवर्तमान जिला महामंत्री श्री उमा शंकर साहू जी जानकी इंटर कॉलेज बकेवर जिन्होंने अस्वस्थता के कारण स्वेक्षा से अपने पद का त्याग करते हुए स्वयं संगठन के कर्मठ जुझारु एवं संगठन के लिए समर्पित श्री देवा शुक्ला जी को जिला महामंत्री के लिए प्रस्ताव रखा श्री साहू जी के प्रस्ताव पर श्री देव शरण शुक्ल को सर्वसम्मति से जिला महामंत्री मनोनीत किया गया lसाथ ही श्री प्रदीप कुमार पासवान जी को जिला मंत्री और श्री नागेंद्र प्रताप सिंह जी को भिटौरा ब्लॉक अध्यक्ष के रूप में मनोनीत किया गया l
बैठक में सर्वसम्मति से अमौली ब्लाक कार्यकारिणी को भंग किया गया
बैठक में निर्णय लिया गया की प्रतिमाह एक बैठक जिला कार्यकारणी एवं ब्लाक कार्यकारिणी की अवश्य होगीऔर बैठक में प्रस्ताव किया गया कि अगले 2 माह में प्रत्येक दशा में शेष बची हुई ब्लॉक इकाइयों का गठन करना है l

प्रत्येक माह की ब्लॉक की बैठक में जनपद कार्यकारणी से पदाधिकारी आवश्यक प्रतिभाग करेंगेl
अगले कार्यक्रम की घोषणा शीघ्र की जाएंगे जिसमें संगठन को विस्तार देने ,नए सक्रिय साथियों को नई जिम्मेदारी देने एवं किसी कारणवश संगठन के लिए कार्य न कर पाने वाले साथियों को कार्यमुक्त करने पर विचार किया जाएगा आज की बैठक में सभी उपस्थित लोगों का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए सभा समाप्त की घोषणा की गई बैठक में निदान सिंह यादव जिला संयोजक अटेवा फतेहपुर
देवा शुक्ला महामंत्रीअटेवा फतेहपुर
श्री उमा शंकर साहू बकेवर निवर्तमान जिला महामंत्री फतेहपुर ,तरुण सिंह जिला मंत्री दयाराम सिंह लोधी मीडिया प्रभारी ,मिथिलेश कुमार धाता जिला संगठन मंत्री ,प्रदीप कुमार पासवान जिला मंत्री ,दीपक कुमार गौतम ,मनीष प्रताप सिंह, अरविंद कुमार ,डा०नरेंद्र सिंह ब्लॉक संयोजक हथगांव ,रुपेश कुमार ,राम बाबू ,राजीव उमराव, पारितोष उमराव अमनयादव राजकुमार सैयद मोहम्मद अहमद m i c ,नागेंद्र प्रताप सिंह, संदीप कुमार, अर्चना द्विवेदी करुणाशंकर मिश्र जिलाध्यक्ष माध्यमिक शिक्षक संघ ,देवेंद्र पांडेय संगठनमंत्री अटेवा ,शैलेन्द्र सिंह,गंगा सागर ,शिवेंद्र कुमार आदि तमाम शिक्षक एवं कर्मचारी मौजूद रहे आज की सभा की अध्यक्षता निवर्तमान जिला महामंत्री श्री उमाशंकर साहू जी ने कीlएवं संचालन मिथिलेश कुमार जी ने किया
बैठक में आए सभी जागरूक साथियों को दिल की गहराइयों से नमनl
जय युवा जय अटेवा🌹🌹🌹🌹🌹💪💪💪

आज दिनांक 23.04.2017 को बेसिक शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष विनोद मौर्या ने अन्तर्जनपदिय एवं जिले के अंदर स्थानांन्तरण नीति अतिशीघ्र जारी करने और वाराणसी में जल्द पदोन्नति करने के संबंध में बेसिक शिक्षा राज्य मन्त्री को ज्ञापन सौंपा।

आज दिनांक 23.04.2017 को बेसिक शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष विनोद मौर्या ने अन्तर्जनपदिय एवं जिले के अंदर स्थानांन्तरण नीति अतिशीघ्र जारी करने और वाराणसी में जल्द पदोन्नति करने के संबंध में बेसिक शिक्षा राज्य मन्त्री को ज्ञापन सौंपा।


FAIZABAD: अटेवा पेंशन बचाओ मंच की सोहावल में बैठक सम्पन्न

ALLAHABAD:हाईस्कूल और इंटर के परीक्षार्थी घटे, 13 लाख से ज्यादा ने छोड़ी परीक्षा

13.5 लाख छात्र और छात्रएं नहीं बन सके परीक्षार्थी
हाईस्कूल व इंटर के परीक्षार्थी घटे 1वर्ष >>हाईस्कूल >> इंटर 12016 >>3749574 >> 3071741 12017 >>3404715>>2656319 1अंतर>>345039 >> 415422 1हाईस्कूल व इंटर की परीक्षा छोड़ने वालों की संख्या : 594503
यूपी बोर्ड

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा को दुनिया की सबसे बड़ी परीक्षा संस्था का तमगा हासिल है। बड़ी परीक्षा से आशय इसमें बैठने वाले परीक्षार्थियों की तादाद से है। इसका स्याह पक्ष यह भी है कि सूबे में सक्रिय नकल माफिया इस परीक्षा में अर्से से सेंधमारी कर रहे हैं। अपनों को दाखिला दिलाने से लेकर उन्हें उत्तीर्ण कराने के सारे इंतजाम का वह ठेका ले लेते हैं। इस बार पहले बोर्ड प्रशासन और फिर बदली सरकार के तेवर से बड़ा झटका लगा है। इसीलिए 13.5 लाख छात्र-छात्रएं परीक्षार्थी नहीं बन सके हैं।1माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी की हाईस्कूल व इंटर परीक्षा के लिए इधर कुछ वर्षो से ऑनलाइन परीक्षा फार्म भरवाये जा रहे हैं। इसमें छात्र या छात्र का कक्षा नौ और 11 का पंजीकरण नंबर आदि मांगने के बाद भी नकल माफिया बोर्ड प्रशासन को चकमा देते रहे हैं। हर साल बड़ी संख्या में चहेते छात्र-छात्रओं का दाखिला और परीक्षार्थी बनाने में वह सफल रहे हैं। इस बार के सिस्टम सेल ने हाईस्कूल व इंटर का परीक्षा फार्म भरते समय ऐसा साफ्टवेयर डेवलप कराया, जिसमें पिछले दस वर्षो में जो भी परीक्षार्थी थे उनका पूरा ब्योरा वेबसाइट से लिंक कर दिया गया। इसका यह असर हुआ कि परीक्षा फार्म भरते समय बड़ी संख्या में ऐसे छात्र-छात्रएं पकड़ी गई, जो पहले परीक्षार्थी रह चुकी हैं। ज्ञात हो कि में संस्थागत परीक्षार्थी के रूप में परीक्षा उत्तीर्ण करने का दो बार मौका दिया जाता है। उसके बाद व्यक्तिगत परीक्षार्थी बनना पड़ता है। बोर्ड प्रशासन के अनुसार इस बार साढ़े सात लाख से अधिक परीक्षार्थी परीक्षा फार्म

Lucknow:बगैर परीक्षा के भी पॉलीटेक्निक में प्रवेश,पढ़ाई कम प्रैक्टिकल ज्यादा

बगैर परीक्षा के भी पॉलीटेक्निक में प्रवेश

जितेंद्र उपाध्याय ’ लखनऊ1यदि आप पॉलीटेक्निक डिप्लोमा करना चाहते हैं और प्रवेश परीक्षा में शामिल नहीं हो सके हैं तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। राजकीय पॉलीटेक्निक आपको प्रवेश का मौका देगा। यही नहीं दाखिले के लिए आपको प्रवेश परीक्षा भी नहीं देनी होगी। मानव संसाधन विकास मंत्रलय की पहल पर कम्युनिटी कॉलेज के तहत यह कोर्स शुरू किया गया है। परीक्षण के लिए सबसे पहले इसका संचालन लखनऊ स्थित राजकीय पॉलीटेक्निक में किया जा रहा है। यहां सफल होने पर प्रदेश के कई राजकीय पॉलीटेक्निक संस्थाओं में इसका संचालन करने की तैयारी है। प्रवेश परीक्षा के आधार पर होने वाले दाखिले के बाद कम्युनिटी कॉलेज में प्रवेश प्रक्रिया शुरू होगी। 1ऐसे होगा प्रवेश 1हाईस्कूल पास अभ्यर्थी संस्थान से आवेदन प्राप्त करेंगे और उसे भरकर जमा करेगा। हाईस्कूल की मेरिट के आधार पर प्रवेश सूची तैयार होगी। अधिकतम आयु सीमा नहीं है। सीटों की संख्या के आधार पर प्रवेश होंगे। अखिल भारतीय शिक्षा परिषद ने ऑटोमोबाइल के चार ट्रेडों इंजन टेस्टिंग, ऑटो इलेक्ट्रानिक्स-इलेक्टिकल व व्हीकल टेस्टिंग को मान्यता दी है। एक ट्रेड में 100 सीटों का निर्धारण किया गया है। एक वर्ष की फीस चार हजार रुपये होगी।1पढ़ाई कम प्रैक्टिकल ज्यादा1निजी सरकारी सहभागिता से संचालित होने वाले कम्युनिटी कॉलेज में पढ़ाई से अधिक प्रैक्टिकल को तरजीह दी जाएगी। इसके पीछ मंशा यह है कि यदि छात्र को किसी भी वजह से बीच में ही पढ़ाई छोड़नी पड़े तो उनके पास तकनीकी योग्यता हो, जिससे वह अपना रोजगार कर सके। प्रैक्टिकल के लिए एक निजी कंपनी से करार किया गया है।1कम्युनिटी कॉलेज में अंतर1प्रवेश परीक्षा के आधार पर मिलने पॉलीटेक्निक में दाखिला लेने वाले छात्रों को तीन साल बाद ही डिग्री मिलेगी लेकिन, कम्य��

ALLAHABAD: राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को छात्रों ने खून से लिखापत्र, इविवि के छात्रावासों को खाली करने की मुहिम पर पुनः विचार करने का विचार

राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री को छात्रों ने खून से लिखा पत्र
विरोध
इविवि में छात्रवासों को खाली कराने की मुहिम पर पुन: विचार करने का अनुरोध


इलाहाबाद : इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रवासों को खाली कराए जाने का जारी है। शनिवार को छात्र नेताओं ने राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री को अपने खून से लिखा पत्र प्रेषित किया। छात्रनेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक से पुलिस लाइंस में मिलकर उन्हें कैंपस की वर्तमान स्थिति के बारे में अवगत कराया। छात्रनेताओं ने राज्यपाल से छात्रवास मुद्दे पर केंद्रीय मानवसंसाधन विकास मंत्री से मिलकर हस्तक्षेप की मांग की। 1इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रसंघ भवन पर छात्रों का क्रमिक अनशन शनिवार को छठवें दिन भी जारी रहा। दोपहर में बड़ी संख्या में छात्र और छात्र नेता वहां एकत्रित हुए और अपने रक्त से प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और मानव संसाधन मंत्री को कैंपस की वर्तमान स्थिति के संबंध में पत्र लिखा। इसमें छात्र नेताओं ने प्रशासनिक लापरवाही को रेखांकित किया। छात्रनेताओं का पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल प्रदेश के राज्यपाल से पुलिस लाइन में मिला और छात्रवासों को खाली कराए जाने के निर्णय में हस्तक्षेप की मांग की। राज्यपाल ने मानव संसाधन मंत्री से इस संदर्भ में वार्ता का आश्वासन दिया। 1इविवि छात्रसंघ के पूर्व उपाध्यक्ष विक्रांत सिंह ने कहा कि हम शांतिपूर्ण और वैधानिक तरीके से छात्रवासों को खाली कराने के निर्णय का करते रहेंगे। उपाध्यक्ष आदिल हमजा ने कहा कि कुलपति को छात्रों की मन:स्थिति को समझना चाहिए। प्रतिनिधिमंडल में छात्रसंघ अध्यक्ष रोहित मिश्र, उपाध्यक्ष आदिल हमजा, पूर्व उपाध्यक्ष विक्रांत सिंह, अखिलेश गुप्त आदि शामिल रहे।छात्रवासों को खाली कराए जाने के में इलाहाबा��

ALLAHABAD: नामांकन और उपस्थिति में फिसड्डी प्राइमरी स्कूल,कैसे होगा सुधार

नामांकन व उपस्थिति में फिसड्डी प्रा. स्कूल

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद 1नए शैक्षिक सत्र का प्राथमिक विद्यालयों में धीरे-धीरे एक माह पूरा होने वाला है, लेकिन स्कूलों में छात्र-छात्रओं की संख्या बढ़ने का नाम ही नहीं ले रही है। शिक्षक स्कूल समयावधि में मुट्ठीभर बच्चों को बैठाए रहते हैं। कॉपी-किताब, बैग, ड्रेस जैसा तोहफा जल्द मिलने की उम्मीद भी नहीं है, ऊपर से बरस रही आग बच्चों के मन में स्कूल का आकर्षण पैदा नहीं कर पा रही है। 1बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों में ऐसा ही नजारा इन दिनों दिख रहा है। अफसरों ने सत्र का श्रीगणोश करा दिया है, शैक्षिक कैलेंडर स्कूलों में भेजा जा चुका है और पुरानी किताबों से पढ़ाने का फरमान भी जारी हुआ है। साथ ही नई सरकार की सख्ती पर खंड शिक्षा अधिकारियों से माह में दो बार निरीक्षण रिपोर्ट भी मांगी जा रही है। ऐसे में अफसरों की चहलकदमी जरूर बढ़ी है। साथ ही बड़े अधिकारी भी स्कूलों का दौरा कर रहे हैं। इसमें छात्रों की संख्या को लेकर सभी परेशान हैं। ज्यादातर स्कूलों में जितने बच्चों का नामांकन है उसका एक चौथाई ही मौके पर मिल रहे हैं। 1कई जगहों पर स्कूल खुलने और बंद होने का समय अब भी शिक्षक की मनमर्जी के मुताबिक ही मिला है। अफसर लगातार अधिक बच्चों का नामांकन कराने और उन्हें जैसे-तैसे भी स्कूल में रोकने का निर्देश दे रहे हैं। यह हाल तब है जब पिछली कक्षा के बच्चों का अगली कक्षा में अपने आप दाखिला हो गया है। साथ ही छह से 14 वर्ष तक के छूटे हुए यानी स्कूल न जाने वाले बच्चों का नामांकन कराने के लिए अभियान चलाने के निर्देश हैं। शिक्षकों को इसके लिए विशेष प्रशिक्षण तक दिया गया है, लेकिन राज्य परियोजना कार्यालय को इसकी रिपोर्ट ही भेजी जा रही है। असल में विशेष प्रशिक्षण आदि कागजों पर हो गया है इसीलिए उसका असर धरातल पर नहीं दिख रहा ��

Like on Facebook