Friday, 30 September 2016

, ,

प्रदेश के अशासकीय सहायता प्राप्त उच्च प्राथमिक विद्यालयों एवं अशासकीय सहायता प्राप्त के0जी0 नर्सरी मान्टेसरी स्कूलों के शिक्षक/शिक्षणेत्तर कर्मचारियों के वित्तीय वर्ष 2016-17 के द्वितीय छः माहों हेतु वेतनादि मद में धन आवंटन के सम्बन्ध में

, ,

स्कूलों में बायोमैट्रिक मशीन से हाजिरी की शुरुआत संभल से, शिक्षक-बच्चे मशीन से लगाएंगे हाजिरी, फिंगर प्रिंट लेना शुरू

स्कूलों में बायोमैट्रिक मशीन से हाजिरी की शुरुआत संभल से, शिक्षक-बच्चे मशीन से लगाएंगे हाजिरी, फिंगर प्रिंट लेना शुरू

प्रदेश में सम्भल जिले के असमोली ब्लॉक का प्राथमिक विद्यालय इटायला माफी पहला ऐसा विद्यालय होगा जिसमें बायोमीटिक मशीन से हाजिरी लगेगी। खास बात यह है कि इसके लिए शासन से कोई बजट नहीं मिला पर स्कूल को मिली पुरस्कार राशि से यह मशीन प्रधानाध्यापक कपिल मलिक ने मंगवाकर एक मिसाल कायम कर दी। अब शिक्षक व बच्चे स्कूल आने में देरी पर सही समय डालने के लिए बाध्य होंगे। बच्चे भी कोई बहाना नहीं बना पाएंगे।1पिछले महीने शिक्षक दिवस के मौके पर लखनऊ में एक लाख 20 हजार रुपये का पुरस्कार प्रधानाध्यापक मलिक को आदर्श विद्यालय घोषित होने पर मिला था। इस धनराशि से 30 हजार रुपये का लैपटॉप व 14 हजार रुपये की बायोमीटिक मशीन खरीद ली गई। इन दिनों स्कूल में पढ़ने वाले 308 बच्चे व छह शिक्षकों के फिंगर प्रिंट लेने व लैपटॉप में नामों की फीडिंग का कार्य चल रहा है। मशीन का उद्घाटन सात अक्टूबर को बतौर मुख्य अतिथि मंडलायुक्त एल वेक्टेश्वर लू के साथ-साथ क्षेत्र की विधायक पिंकी यादव व एडी बेसिक भगवत पटेल द्वारा किया जाएगा। इसके अलावा पुरस्कार की जो धनराशि बची है उससे बच्चों के लिए फर्नीचर भी खरीदा गया है। एडी बेसिक भगवत पटेल ने बताया कि यह बेसिक शिक्षा परिषद का प्रदेश में पहला ऐसा विद्यालय होगा जिसमें बायोमीटिक मशीन से शिक्षक व बच्चे हाजिरी लगाएंगे। मशीन का उद्घाटन अक्टूबर में होगा।

,

फतेहपुर : बिंदकी : अटेवा ने उठाई पेंशन की मांग

बिंदकी : अटेवा पेंशन बचाओ मंच की बैठक में गुरुवार को दयानंद इंटर कालेज ¨बदकी में आयोजित हुई। इसमें पेंसन विहीन कर्मचारियों से प्रदेश प्रवक्ता सत्येंद्र राय ने कहा कि अब खोई हुई पुरानी पेंशन लेने का समय आ गया है। 23 अक्टूबर को सरकार को अपनी ताकत दिखाना है। ब्लाक अध्यक्ष दीपक पटेल ने कहा सरकार से अपनी खोई हुई पेंशन जबरन छीनना है। संगठन प्रभारी प्राची उत्तम ने कहा इस लड़ाई में बहनें भी पीछे नहीं रहेंगी। निधान सिंह, नीरज गुप्ता किरन त्रिपाठी, सुचिता सचान आदि रहे।

Thursday, 29 September 2016

Text Widget 2