Saturday, 31 December 2016

,

TRANSFER : ORDER : नगर पालिका/ नगर पंचायत में स्थिति प्राथमिक विद्यालय में सहायक अध्यापकों के पदों पर ग्रामीण क्षेत्र से नगर क्षेत्र में विकल्प के आधार पर समायोजन के सम्बन्ध में आदेश जारी, 15.01.17 तक लिए जायेंगे आवेदन, आवेदन का प्रारूप भी देखें

, , ,

4000 URDU TEACHERS REQUIREMENT : ORDER : उ0प्र0 बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में 4000 सहायक अध्यापक (उर्दू भाषा) भर्ती प्रक्रिया में काउंसलिंग एवं नियुक्ति पत्र निर्गत करने की समय सारिणी सहित दिशा निर्देश जारी, आदेश की प्रति देखें

, ,

12460 TEACHERS REQUIREMENT : ORDER : उ0प्र0 बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में 12460 सहायक अध्यापक भर्ती प्रक्रिया में ककॉन्सलिंग एवं नियुक्ति पत्र निर्गत करने की समय सारिणी सहित दिशा निर्देश जारी, आदेश की प्रति देखें

,

Sitapur:एबीएसए सहित दो शिक्षिकाएं निलम्बित, डीएम की गिरी गाज ⛔ पिसावां ब्लॉक के एबीएसए नही दे पाये डीएम के सवालो के जबाब ⛔जिलाधिकारी के निरिक्षण में गैरहाजिर मिली थी शिक्षिकाएं ⛔ पिसावां ब्लॉक के एबीएसए नही दे पाये डीएम के सवालो के जबाब

एबीएसए सहित दो शिक्षिकाएं निलम्बित, डीएम की गिरी गाज
⛔ पिसावां ब्लॉक के एबीएसए नही दे पाये डीएम के सवालो के जबाब
⛔जिलाधिकारी के निरिक्षण में गैरहाजिर मिली थी शिक्षिकाएं
⛔ पिसावां ब्लॉक के एबीएसए नही दे पाये डीएम के सवालो के जबाब

UPBOARD : शासन की योजना धड़ाम ’तय तारीख से एक माह बाद भी केंद्र अधूरे,कंप्यूटर से भी समय पर नहीं बने परीक्षा केंद्र 

शासन की योजना धड़ाम ’तय तारीख से एक माह बाद भी केंद्र अधूरे

लखनऊ, प्रतापगढ़, गाजीपुर और फैजाबाद जिले में कार्य बेहद धीमा

कंप्यूटर से भी समय पर नहीं बने परीक्षा केंद्र

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद 1यूपी बोर्ड को एक साल के अंदर नई तकनीक का दूसरा बड़ा झटका लगा है। परीक्षा मोबाइल एप के बाद कंप्यूटर से परीक्षा केंद्र बनाने की योजना ने दम तोड़ दिया है। यह दोनों ही निर्णय शासन के वरिष्ठ अफसरों ने लिए जो कुछ कदम चलकर धड़ाम हो गए हैं। इधर कुछ वर्षो से परीक्षा केंद्र तय करने का काम जनवरी माह तक होता रहा है यह ढर्रा इस साल भी कायम रहा। लेटलतीफी वाले जिलों के केवल नाम बदल गए हैं कामकाज के तरीके में कहीं कोई बदलाव नहीं आया है। 1माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा 2017 में केंद्रों का निर्धारण तय समय सीमा के एक माह बाद भी पूरा नहीं हो सका है। वरिष्ठ अफसरों की सख्ती के बाद कुछ जिलों ने तो तेजी दिखाई, लेकिन निर्देशों की अवहेलना करने वाले जिला विद्यालय निरीक्षकों पर उसका कोई असर नहीं हुआ है। सूबे की राजधानी लखनऊ में समूची प्रदेश सरकार एवं सभी विभागों के आला अफसर रहते हैं, लेकिन वहां केंद्र निर्धारण का कार्य सबसे खराब है। वेबसाइट पर सभी परीक्षार्थियों का आवंटन एवं अन्य प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकी है। यह काम कब तक पूरा होगा कोई बताने को तैयार नहीं है। इसी तरह प्रतापगढ़ जिला भी नियमों की अनदेखी कर रहा है। सूत्रों ने बताया कि प्रतापगढ़ के डीआइओएस का तर्क है कि मंडलीय समिति की मुहर लगने के बाद ही वेबसाइट पर देने वाली सूचनाएं दुरुस्त करेंगे। मंडलीय समिति की बैठक हो चुकी है, फिर भी काम अधूरा है। वहां सबसे कम परीक्षार्थियों का आवंटन हो सका है। 1पूर्वाचल का गाजीपुर जिला केंद्र निर्धारण में काफी पीछे है। वैसे यहां हर साल देर से ही केंद्र तय होते रहे हैं, वह सिलसिला जारी है। इसी तरह फैजाबाद जिले ने भी वेबसाइट पर केंद्र निर्धारण का कार्य पूरा नहीं हुआ है। पिछले वर्षो में सबसे देर में केंद्र बनाने में हरदोई, बलिया एवं अन्य जिलों का नाम आता था, इस साल जिले के नामों में बदलाव हुआ है, लेकिन कार्यशैली में कोई अंतर नहीं आया है। शासन ने इस बार परीक्षा केंद्र नीति जारी करते हुए 28 नवंबर तक सारे केंद्र बनाने का निर्देश दिया था। पहली बार कंप्यूटर के जरिए केंद्र बनाए जाने का आदेश हुआ, ताकि वह समय पर बन जाएं। शासन ने इस प्रक्रिया पर बोर्ड सचिव, मंडलायुक्त, शिक्षा निदेशक माध्यमिक एवं प्रमुख सचिव माध्यमिक शिक्षा तक को निगाह रखने के लिए लॉगिन व पासवर्ड तक आवंटित किए थे, लेकिन उसका भी कोई असर नहीं हुआ। कुछ दिन पहले सभी जेडी की बैठक बुलाकर जल्द कार्य पूरा कराने का आदेश भी बेअसर रहा है। उधर, परिषद सचिव शैल यादव का कहना है कि नियमित रूप से उन जिलों से संपर्क किया जा रहा है, जो केंद्र निर्धारण में पीछे हैं। जल्द ही यह प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

, ,

29334 TEACHERS REQUIREMENT : 15 तक मेरिट से सभी पद भरे जाएं,बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव ने सभी बीएसए को भेजा आदेश,नियुक्ति पत्र पाने वालों को ज्वाइन करने का एक मौका और

15 तक मेरिट से सभी पद भरे जाएं,बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव ने सभी बीएसए को भेजा आदेश,नियुक्ति पत्र पाने वालों को ज्वाइन करने का एक मौका और

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : प्रदेश के उच्च प्राथमिक विद्यालयों में विज्ञान-गणित शिक्षकों के रिक्त पदों को भरने की बारी आ गई है। सभी अवशेष पदों को हर हाल में 15 जनवरी तक भरा जाना है। बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव संजय सिन्हा ने इस संबंध में बेसिक शिक्षा अधिकारियों को आदेश जारी कर दिया है। यही नहीं, जिन अभ्यर्थियों को सातवीं काउंसिलिंग में नियुक्ति पत्र मिल चुका है उन्हें भी कार्यभार ग्रहण करने का एक और मौका दिया जा रहा है। 1बेसिक शिक्षा परिषद के उच्च प्राथमिक विद्यालयों में विज्ञान-गणित के 29334 सहायक अध्यापकों की नियुक्ति का आदेश जुलाई 2013 में हुआ था। यह सीटें भरने के लिए 23 अगस्त 2013 से 23 फरवरी 2014 तक कई चरण की काउंसिलिंग कराई गई। इसके बाद भी कुछ जिलों में सभी सीटें भर नहीं सकी है। कुछ दिन पहले ही हाईकोर्ट ने भी कई याचिकाओं की सुनवाई करते हुए रिक्त सीटें भरने का आदेश जारी किया है। इस आदेश को मनवाने के लिए अभ्यर्थी कई दिन से परिषद मुख्यालय के सामने धरना दे रहे हैं। परिषद सचिव ने शुक्रवार को बेसिक शिक्षा अधिकारियों को पत्र भेजकर इस संबंध में आदेश जारी कर दिया है।

15 तक मेरिट से सभी पद भरे जाएं

परिषद सचिव ने बीएसए को यह भी निर्देश दिया है कि जिले को आवंटित पदों के सापेक्ष वर्गवार व श्रेणीवार अवशेष रिक्तियों को उस समय की काउंसिलिंग में अर्ह पाए गए अभ्यर्थियों से जिन्हें कटऑफ मेरिट में न आने के कारण नियुक्ति पत्र निर्गत नहीं किया गया था। उनसे संबंधित वर्ग की मेरिट के अनुसार रिक्त पद भरने की कार्यवाही 15 जनवरी तक पूरी की जाए। सचिव ने इस कार्यवाही के बाद रिक्तियों का विवरण 23 जनवरी तक परिषद मुख्यालय को अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराने का आदेश दिया है।

, , , ,

FATEHPUR : कार्यालय और कलेक्ट्रेट में शिक्षकों ने किया प्रदर्शन,डीआईओएस कार्यालय के लेखाधिकारी के खिलाफ लामबंद हुए लिपिक व शिक्षक

कार्यालय और कलेक्ट्रेट में शिक्षकों ने किया प्रदर्शन,डीआईओएस कार्यालय के लेखाधिकारी के खिलाफ लामबंद हुए लिपिक व शिक्षक

लेखाधिकारी के खिलाफ कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन करते लिपिक व शिक्षक नेता। जागरणजागरण संवाददाता, फतेहपुर : डीआईओएस कार्यालय में तैनात वित्त एवं लेखाधिकारी के खिलाफ भड़के शिक्षक एवं लिपिकों ने तालाबंदी करके आवाज बुलंद की। कार्यालय गेट में अनिश्चितकालीन धरना देकर कर्मचारी संगठनों ने कामकाज ठप करके प्रदर्शन किया। लेखाधिकारी की कार्यशैली पर सवालिया निशान लगाते हुए अभद्र व्यवहार व बिना धन लिए किसी कार्य को न करने का आरोप जड़ा गया। कार्यालय में धरना देने के बाद शिक्षक और लिपिक जुलूस की शक्ल में कलेक्ट्रेट आए और प्रदर्शन कर जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। यूपी एजूकेशनल मिनिस्टीरियल आफीसर्स एसोसिएशन, उप्र माध्यमिक शिक्षक संघ और उप्र माध्यमिक शिक्षणोत्तर संघ के बैनर तले शुक्रवार को डीआईओएस कार्यालय में अनिश्चितकालीन धरना शुरू किया गया। कार्यालय गेट में दरी बिछाकर लिपिकों और शिक्षकों ने लेखाधिकारी पर गंभीर आरोपों की बौछार लगा दी। लिपिकों के हड़ताल में होने के चलते डीआईओएस कार्यालय का काम पूरी तरह से बाधित रहा। आला अफसरों को भेजे ज्ञापन में लेखाधिकारी के तत्काल स्थानांतरण और किसी अन्य को चार्ज दिए जाने की मांग की गई। इस मौके पर शिक्षक विधायक प्रतिनिधि धनराज सिंह, कमल सिंह चौहान, आलोक शुक्ला, विनोद कुमार श्रीवास्तव, होरीलाल तिवारी, राजेश श्रीवास्तव, प्राथमिक शिक्षक संघ असोथर के ब्लाक अध्यक्ष अनुराग मिश्र मौजूद रहे।

, ,

FATEHPUR : HRA : पति-पत्नी दोनों आवास भत्ते के हकदार

पति-पत्नी दोनों आवास भत्ते के हकदार

जागरण, संवाददाता, फतेहपुर : पति-पत्नी के सरकारी कर्मचारी होने पर एक को ही आवासीय भत्ता दिए जाने की पुरानी व्यवस्था पर शासन ने रोक लगा दी है। नए शासनादेश के मुताबिक दोनों के सरकारी कर्मचारी होने पर दोनों ही भत्ते के हकदार होंगे। प्रमुख सचिव अनूप चंद्र पाण्डेय ने सरकारी कर्मचारियों को मिलने वाले भत्ते के नियम में परिवर्तन कर दिया है। 29 दिसंबर को जारी आदेश में प्रमुख सचिव ने साफ कर दिया है कि पति-पत्नी के सरकारी कर्मचारी हैं, तो दोनों को भत्ता दिया जाएगा। जिसके तहत स्थानीय निकायों, शिक्षण संस्थाओं, विश्व विद्यालयों, सार्वजनिक उपक्रमों, निगमों एवं स्वाशासी संस्थानों में सेवायोजित पत्नी-पति को इसका लाभ दिए जाने को आदेशित किया है। 1 आदेश में साफ कर दिया गया है कि सरकारी कर्मचारी किराए के भवन अथवा खुद के मकान में रह रहे हों उन्हें भत्ता देय होगा। राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष अशोक श्रीवास्तव, मंत्री विनोद कुमार श्रीवास्तव, माध्यमिक शिक्षक संघ के कमल सिंह चौहान, मंत्री अलोक शुक्ला, उप्र शिक्षणोत्तर कर्मचारी संघ के अध्यक्ष होरी लाल तिवारी, मंत्री राजेश श्रीवास्तव, प्राथमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष राजेंद्र सिंह, मंत्री विजय त्रिपाठी आदि ने नए शासनादेश पर खुशी जताई है।4>>किराए अथवा खुद के निजी भवनों में रहने वाले सरकारी मुलाजिमों को मिलेगा लाभ

Friday, 30 December 2016

,

Sitapur:शिक्षण कार्य गुणवत्तापूर्ण करें शिक्षक-बीएसए ⛔बैठक जिलाधिकारी के नेतृत्व में होना था ब्यस्तता के चलते बीएसए ने ली। ⛔बीएसए ने कहा कि जहाँ प्रधानाध्यापक एमडीएम में ज्यादा संख्या चढाये तो उसी से ज्यादा चढे बच्चों की कंवर्जन कास्ट वसूली की जाये।

शिक्षण कार्य गुणवत्तापूर्ण करें शिक्षक-बीएसए
⛔बैठक जिलाधिकारी के नेतृत्व में होना था ब्यस्तता के चलते बीएसए ने ली।
⛔बीएसए ने कहा कि जहाँ प्रधानाध्यापक एमडीएम में ज्यादा संख्या चढाये तो उसी से ज्यादा चढे बच्चों की कंवर्जन कास्ट वसूली की जाये।

Text Widget 2