New

डी० एल० एड० ( पूर्व प्रचलित नाम बी० टी० सी० ) प्रशिक्षण- 2016 के लिये ऑनलाइन आवेदन प्रारम्भ, समस्त नियम शर्ते अर्हता आदि को पढ़ते समझते हुए यहां से आवेदन करें

डी० एल० एड० ( पूर्व प्रचलित नाम बी० टी० सी० ) प्रशिक्षण- 2016 परीक्षा नियामक प्राधिकारी, इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश STEP 1 आवेदन पत्र भर...

Tuesday, 28 February 2017

BTC 2013 3RD SEM & 4RTH SEM EXAM SCHEDULE : बीटीसी 2013 / सेवारत उर्दू ( मृ0आ0 ) बीटीसी परीक्षा वर्ष 2017 तृतीय ऍम चतुर्थ सेमस्टर परीक्षा की समय सारिणी जारी, प्रति देखें

Baghpat:दिव्यांग बच्चे नही पढ़ने पर शिक्षको को नोटिस

दिव्यांग बच्चे नहीं पढ़ाने पर शिक्षकों को नोटिस

जागरण संवाददाता, बागपत : दिव्यांग बच्चों को तालीम नहीं देना शिक्षकों को अब महंगा पड़ेगा। बीएसए योगराज सिंह ने चौदह शिक्षकों को नोटिस जारी कर जवाब- तलब किया है। शासन दिव्यांग बच्चों का भविष्य संवारने को समेकित शिक्षा पर पानी की मानिंद पैसा बहाने में कसर नहीं छोड़ता है। छह से चौदह साल आयु के दिव्यांग बच्चों की शिक्षा को प्राथमिक स्कूलों में अलग से शिक्षक नियुक्त हैं। इसके बावजूद बागपत में गरीब परिवारों के दिव्यांग बच्चों को तालीम नहीं मिल रही है। बीएसए योगराज सिंह ने बड़ौत, बागपत, खेकड़ा, बिनौली और छपरौली आदि क्षेत्रों के शिक्षकों को नोटिस जारी कर नाराजगी जताई है।1बीएसए ने अमित कुमार, राजकुमार वर्मा, संजय यादव, विकास कुमार, राजपाल सिंह, लोकेश तोमर, कविता शर्मा, सीमा, लता देवी, परवेज आलम और योगेश कुमार को नोटिस जारी कर गत साल घर-घर जाकर दिव्यांग बच्चों को चिह्नित कर शिक्षा नहीं दी। दिव्यांग बच्चों को शैक्षिक सपोर्ट प्रदान न करना गंभीर मामला है। दिव्यांग बच्चों के चिह्नित नहीं होने से उनके शिक्षा को प्री-इंटीग्रेशन कैंप आयोजित नहीं होने से बागपत की छवि धूमिल हुई है। दिव्यांग बच्चों को चिह्न्ति कर पूरा ब्योरा उपलब्ध कराने का आदेश दिया है।जागरण संवाददाता, बागपत : दिव्यांग बच्चों को तालीम नहीं देना शिक्षकों को अब महंगा पड़ेगा। बीएसए योगराज सिंह ने चौदह शिक्षकों को नोटिस जारी कर जवाब- तलब किया है। शासन दिव्यांग बच्चों का भविष्य संवारने को समेकित शिक्षा पर पानी की मानिंद पैसा बहाने में कसर नहीं छोड़ता है। छह से चौदह साल आयु के दिव्यांग बच्चों की शिक्षा को प्राथमिक स्कूलों में अलग से शिक्षक नियुक्त हैं। इसके बावजूद बागपत में गरीब परिवारों के दिव्यांग बच्चों को तालीम नहीं मिल रही है। बीएसए योगराज सिंह ने बड़ौत, बागपत, खेकड़ा, बिनौली और छपरौली आदि क्षेत्रों के शिक्षकों को नोटिस जारी कर नाराजगी जताई है।1बीएसए ने अमित कुमार, राजकुमार वर्मा, संजय यादव, विकास कुमार, राजपाल सिंह, लोकेश तोमर, कविता शर्मा, सीमा, लता देवी, परवेज आलम और योगेश कुमार को नोटिस जारी कर गत साल घर-घर जाकर दिव्यांग बच्चों को चिह्नित कर शिक्षा नहीं दी। दिव्यांग बच्चों को शैक्षिक सपोर्ट प्रदान न करना गंभीर मामला है। दिव्यांग बच्चों के चिह्नित नहीं होने से उनके शिक्षा को प्री-इंटीग्रेशन कैंप आयोजित नहीं होने से बागपत की छवि धूमिल हुई है। दिव्यांग बच्चों को चिह्न्ति कर पूरा ब्योरा उपलब्ध कराने का आदेश दिया है।

एटा: शिक्षण कार्य में लापरवाही पर नापेंगे गुरूजी

Hardoi:अनुपस्थित 32 शिक्षको का रोक गया वेतन

अनुपस्थित 32 शिक्षकों का रोका गया वेतन

हरदोई : माध्यमिक अशासकीय सहायता प्राप्त और राजकीय विद्यालयों में छह दिवसीय प्रशिक्षण में 32 शिक्षक हस्ताक्षर करके गायब हो गए। जिस पर सभी का वेतन रोकते हुए अनुशासनात्मक कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। राजकीय इंटर कालेज में अर¨वदो सोसाइटी द्वारा अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों और राजकीय विद्यालयों के गणित, विज्ञान, सामाजिक विषय और भाषा के शिक्षकों का सोमवार से छह दिवसीय प्रशिक्षण शुरू हुआ है। प्रशिक्षण में 150 शिक्षकों को प्रतिभाग करना था। इसके लिए सभी प्रधानाचार्यों को दो-दो शिक्षकों भेजने के लिए निर्देशित किया गया था। सोमवार को प्रशिक्षण में 150 के सापेक्ष 84 शिक्षक ही उपस्थित हुए। सोमवार को प्रशिक्षण का लंच के बाद जिला विद्यालय निरीक्षक कमलाकर पांडेय ने निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान 32 शिक्षक अनुपस्थित मिले। प्रशिक्षण में जानकारी मिली कि अनुपस्थित शिक्षक हस्ताक्षर करने के बाद लंच लेकर बगैर सूचना के ही चले गए। इस पर अनुशासनहीनता के तहत विद्यालयों के प्रधानाचार्यों, प्रबंधकों को संबंधित शिक्षकों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई करने और एक दिन का वेतन रोकने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि साथ ही उन सभी प्रधानाचार्यों को भी हिदायत दी गई है जिन्होंने प्रशिक्षण में शिक्षकों को नहीं भेजा है।हरदोई : माध्यमिक अशासकीय सहायता प्राप्त और राजकीय विद्यालयों में छह दिवसीय प्रशिक्षण में 32 शिक्षक हस्ताक्षर करके गायब हो गए। जिस पर सभी का वेतन रोकते हुए अनुशासनात्मक कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। राजकीय इंटर कालेज में अर¨वदो सोसाइटी द्वारा अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों और राजकीय विद्यालयों के गणित, विज्ञान, सामाजिक विषय और भाषा के शिक्षकों का सोमवार से छह दिवसीय प्रशिक्षण शुरू हुआ है। प्रशिक्षण में 150 शिक्षकों को प्रतिभाग करना था। इसके लिए सभी प्रधानाचार्यों को दो-दो शिक्षकों भेजने के लिए निर्देशित किया गया था। सोमवार को प्रशिक्षण में 150 के सापेक्ष 84 शिक्षक ही उपस्थित हुए। सोमवार को प्रशिक्षण का लंच के बाद जिला विद्यालय निरीक्षक कमलाकर पांडेय ने निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान 32 शिक्षक अनुपस्थित मिले। प्रशिक्षण में जानकारी मिली कि अनुपस्थित शिक्षक हस्ताक्षर करने के बाद लंच लेकर बगैर सूचना के ही चले गए। इस पर अनुशासनहीनता के तहत विद्यालयों के प्रधानाचार्यों, प्रबंधकों को संबंधित शिक्षकों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई करने और एक दिन का वेतन रोकने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि साथ ही उन सभी प्रधानाचार्यों को भी हिदायत दी गई है जिन्होंने प्रशिक्षण में शिक्षकों को नहीं भेजा है।

महिला शिक्षा को बढ़ावा देने की आवश्यकता

TGT 2013 : टीजीटी 2013 के सोशल और संस्कृत का रिजल्ट संशोधित

TGT : टीजीटी कला का स्कूल आवंटन 20 मार्च से

नर्सरी दाखिला : स्कूलों के लिए नेबरहुड नीति की बहाली से कोर्ट का इनकार

B.Ed : राज्य स्तरीय बीएड ( द्विवर्षीय ) संयुक्त प्रवेश परीक्षा 2017-19 हेतु विज्ञप्ति जारी

FATEHPUR : परिषदीय स्कूल की परीक्षाएं 18 से 21 मार्च तक, परिषद ने दिए यह निर्देश , देखें

B.ED : अब बीएड आवेदन के लिए आधार नंबर होगा अनिवार्य

ALLAHABAD:परिषदीय विद्यालयों की वार्षिक परीक्षाएं 18 से होंगी 🎯बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव संजय सिन्हा ने सोमवार को इसका कार्यक्रम जारी कर दिया है।

परिषदीय विद्यालयों की वार्षिक परीक्षाएं 18 से होंगी
🎯बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव संजय सिन्हा ने सोमवार को इसका कार्यक्रम जारी कर दिया है।

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : प्रदेश भर के प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में वार्षिक परीक्षाएं 18 मार्च से होंगी। बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव संजय सिन्हा ने सोमवार को इसका कार्यक्रम जारी कर दिया है। इम्तिहान 21 मार्च तक चलेगा। जिलों में परीक्षा की प्रक्रिया दो मार्च से ही शुरू हो जाएगी। परिषद सचिव ने मंडलीय सहायक शिक्षा निदेशक बेसिक एवं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों को भेजे आदेश में लिखा है कि दो मार्च को जिले में समय सारिणी एवं अन्य निर्देशों को विकासखंड, संकुल विद्यालय एवं विद्यालय तक भेजे जाएंगे। तीन मार्च को जिला स्तर पर कक्षा एक से पांच एवं कक्षा छह से आठ तक के प्रश्नपत्रों का निर्माण होगा। 13 मार्च को जिला स्तर पर प्रश्नपत्रों का मुद्रण एवं शील्ड पैकेट जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान यानी डायट प्राचार्य की कस्टडी में रखा जाएगा। 15 मार्च को डायट प्राचार्य प्रश्नपत्रों के शील्ड पैकेट खंड शिक्षा अधिकारियों को उपलब्ध कराएंगे। 16 मार्च को खंड शिक्षा अधिकारी प्रश्नपत्रों को केंद्रीय विद्यालय भेजेंगे। केंद्रीय विद्यालय से समय सारिणी के अनुसार परीक्षा की तारीख पर संबंधित प्रश्नपत्र उपलब्ध कराया जाएगा। 21 मार्च को इम्तिहान पूरा होने के बाद 24 से 26 मार्च तक उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन होगा।


UP BOARD : परीक्षा से पूर्व होगी कक्ष निरीक्षकों की खोज,फर्जी शिक्षकों का कैसे होगा सत्यापन? इसपर अफसर निरुत्तर

परीक्षा से पूर्व होगी कक्ष निरीक्षकों की खोज

यूपी बोर्ड परीक्षा

शिक्षक संघ ने कहा पुराना है खेल1माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रांतीय संयोजक डॉ आरपी मिश्र व संगठन के अन्य पदाधिकारियों का कहना है कि जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय का यह खेल नया नहीं है। बीते वर्ष भी कक्ष निरीक्षकों की तैनाती में विभाग ने पहले समय निकाला, फिर आपा-धापी में मनमाने तरीके से कक्ष निरीक्षक तैनात कर दिए। उन्होंने कक्ष निरीक्षकों की तैनाती में हर साल होने वाले खेल में नकलमाफियों की मजबूत पकड़ होने की बात कही है। शिक्षक संघ का आरोप है कि नकल माफिया को फायदा पहुंचाने के लिए ही केंद्र निर्घारण से लेकर कक्ष निरीक्षकों की तैनाती तक में अधिकारी ढिलाई बरतते हैं। यदि ऐसा नहीं तो ऐन परीक्षा के समय ही तैयारियां क्यों पूरी की जाती हैं?

जागरण संवाददाता,लखनऊ : इसे बदहाल शिक्षा व्यवस्था का हिस्सा कहा जाए या संवेदनशील विभाग के जिम्मेदारों की मनमानी। इस बार बोर्ड परीक्षाओं से दस दिन पूर्व तक शिक्षा विभाग कक्ष निरीक्षकों की तलाश करेगा। कारण, पूर्व निर्धारित अवधि में स्कूलों ने अपने शिक्षकों का ब्योरा ही नहीं दिया, इसलिए उन्हें एक और मौका दे दिया गया है। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि उसके बाद कब उन शिक्षकों का सत्यापन होगा और कब उन्हें आईडी कार्ड जारी होंगे?1यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षाएं 16 मार्च से हैं। परीक्षा में फर्जी शिक्षक ड्यूटी न करें, इसके लिए निजी स्कूलों के शिक्षकों का सत्यापन करके कक्ष निरीक्षण कार्य में लगाने की व्यवस्था है। नियमानुसार सत्यापन का यह कार्य परीक्षा केंद्र निर्धारण के समय सितंबर, अक्टूबर से शुरू हो जाना चाहिए, लेकिन विभाग ने ऐसा नहीं किया। जिला विद्यालय निरीक्षक द्वारा 20 फरवरी को कॉलेजों को शिक्षकों का ब्यौरा मुहैया कराए जाने को कहा गया। अंतिम तिथि 26 फरवरी तय की गई, लेकिन तय मियाद बीतने के बाद भी कॉलेजों ने विभाग को शिक्षकों का ब्यौरा नहीं उपलब्ध कराया। ऐसे में ढुलमुल रवैये को अपनाए जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय ने तारीख फिर आगे बढ़ा दी। अब विभाग 4 मार्च तक शिक्षकों के ब्यौरे का इंतजार करेगा। ऐसे में शिक्षकों का सत्यापन कार्य कब होगा? इसका जवाब विभागीय अधिकारियों के पास भी नहीं है। कक्ष निरीक्षकों की तैनाती और सत्यापन को लेकर जिला विद्यालय निरीक्षक उमेश त्रिपाठी कुछ भी बोलने से कतरा रहे हैं।

स्कूलों को चार मार्च तक शिक्षकों का ब्योरा देने की मिली छूट

फर्जी शिक्षकों का कैसे होगा सत्यापन? इसपर अफसर निरुत्तर

FATEHPUR : विद्या ज्ञान परीक्षा 23 अप्रैल को

विद्या ज्ञान परीक्षा 23 अप्रैल को

जागरण संवाददाता, फतेहपुर : कक्षा 6 से 12 तक नि:शुल्क पढ़ाई लिखाई के लिए जानी जाने वाली विद्या ज्ञान की प्रवेश परीक्षा 23 अप्रैल को सरस्वती बाल मंदिर इंटर कॉलेज रघुवंश पुरम में आयोजित की जाएगी। साल भर में एक बार जिला स्तरीय परीक्षा आयोजित की जाती है, जिसमें बेसिक शिक्षा के प्राथमिक स्कूलों के बच्चे ही परीक्षा में बैठने की अनिवार्यता है। प्रथम प्रवेश परीक्षा के बाद द्वितीय स्तर में यह परीक्षा सीतापुर जनपद मुख्यालय में होती है। इसके बाद प्रवेश प्रक्रिया पूरी की जाती है। नि:शुल्क हाईटेक शिक्षा के लिए पूरे प्रदेश भर में इसी क्रम में परीक्षा का आयोजन होता है। फिलहाल अभी तक प्रवेश परीक्षा के लिए परीक्षार्थियों की संख्या बेसिक शिक्षा विभाग के पास नहीं आई है। बीते सालों में यह प्रवेश परीक्षा एकमात्र केंद्र सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज वीआईपी रोड में आयोजित की जाती रही है। बीएसए विनय कुमार सिंह ने बताया कि परीक्षा केंद्र फाइनल हो चुका है। परीक्षार्थियों की संख्या और प्रवेश पत्र आदि नहीं आ पाए हैं।

FATEHPUR : औचक निरीक्षण में स्कूल मिला बंद, नोटिस जारी,एमडीएम चेक करने के निर्देश

औचक निरीक्षण में स्कूल मिला बंद, नोटिस जारी

जागरण संवाददाता, फतेहपुर : विधानसभा चुनाव के बाद परिषदीय स्कूलों की दशा जानने के लिए बीएसए ने बीईओ को क्षेत्र बदलकर निरीक्षण करवाया। निरीक्षण में स्कूलों की पोल खुलकर आ गई। निरीक्षण में ऐरायां ब्लाक का प्राथमिक विद्यालय बंद मिला। इसके अलावा तीन शिक्षक-शिक्षिकाओं को गैरहाजिर पकड़ा। निरीक्षण की जद में आए शिक्षक-शिक्षिकाओं को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। बीएसए ने सोमवार को निरीक्षण कराने आदेश जारी किया। 1सुबह पहर से शिक्षक-शिक्षिकाओं को इसकी भनक लग गई थी। जिसके चलते सुबह पहर से स्कूल जाने की हड़बड़ी देखी गई थी। सुबह पहर से तैनाती वाले ब्लाकों का क्षेत्र बदलकर दूसरे क्षेत्रों में निरीक्षण करवाया। जिसमें ऐरायां ब्लाक का प्राथमिक विद्यालय में तालाबंदी पाई गई। तैनाती पाया शिक्षामित्र 12 बच्चों के साथ गेट में बंद ताले के साथ पाई गई। इसके साथ ही जिले में तीन अन्य शिक्षक-शिक्षिकाएं बिना सूचना के स्कूल से गायब मिले। बीएसए विनय कुमार सिंह ने बताया कि लापरवाही बर्दास्त नहीं की जाएगी। तीन दिन के अंदर नोटिस का जवाब देना होगा। जवाब से संतुष्ट न होने पर विधिक कार्यवाही की जाएगी।

एमडीएम चेक करने के निर्देश

फतेहपुर : स्कूलों के रूटीन चेकिंग के दौरान बच्चों को मिलने वाले एमडीएम की जांच करने के निर्देश बीएसए ने दिए हैं। स्कूलों में शिक्षक-छात्रों की उपस्थिति के साथ एमडीएम की गुणवत्ता परखने के निर्देश बीएसए द्वारा सभी खंड शिक्षाधिकारियों को दिए गए हैं। जिससे कि बच्चों को निर्धारित मेन्यू के अनुसार भोजन परोसा जा सके। बीएसए ने सभी खंड शिक्षाधिकारियों को यह भी निर्देशित किया है कि वह प्रतिदिन अपनी रिपोर्ट विभाग के पोर्टल पर अपडेट करें। इसके साथ ही निरीक्षित स्कूल का फोटो व्हाट्स एप में जरूर डालें। जिससे कि स्कूलों के चुनाव के चलते पटरी से उतरी व्यवस्था को सही किया जा सके।

FATEHPUR : UP BOARD : EXAM : बोर्ड परीक्षा के लिए आई प्रश्नपत्रों की खेप,16 मार्च से शुरू हो रही बोर्ड परीक्षा

बोर्ड परीक्षा के लिए आई प्रश्नपत्रों की खेप

जागरण संवाददाता, फतेहपुर : 16 मार्च से शुरू हो रही बोर्ड परीक्षा के प्रश्नपत्रों की पहली खेप सोमवार को जिले में आ गई। भोर पहर आई खेप की जानकारी होते ही माध्यमिक शिक्षा विभाग में हड़कंप मच गया। आनन फानन जिम्मेदार पहुंचे और प्रश्नपत्रों को सुरक्षित स्काउट भवन में रखवाया। थोड़ी देर बाद एसपी के निर्देश पर सुरक्षा के लिए दो पुलिस के जवान भी पहुंच गए। रखे गए प्रश्नपत्रों की रखवाली में पुलिस के जवान व्यस्त रहे। वहीं विभागीय जिम्मेदार नई खेप आने की प्रतीक्षा करते रहे। 1माध्यमिक शिक्षा विभाग की बोर्ड परीक्षा की तैयारियों में दिनों दिन तेजी आती दिख रही है। अब जब एक पखवारे का समय शेष बचा है तैयारियों को जिम्मेदारों तक पहुंचाने का क्रम शुरू हो गया है। प्रश्नपत्रों की खेप सुबह पहर पहुंचने से उनके आने का क्रम शुरू हो गया है। एक ट्रक में प्रश्नपत्र आ चुके हैं। अभी तीन से चार ट्रकों में प्रश्नपत्रों की खेप आनी बाकी है। डीआईओएस द्वारा नियुक्त परीक्षा प्रभारी विनोद कुमार श्रीवास्तव ने बोर्ड से भेजे गए प्रश्नपत्रों को रिसीव किया और परिचरों द्वारा उन्हें डबल लॉक सुरक्षित रखवा दिया। प्रश्नपत्रों की सुरक्षा के लिए पुलिस महकमे के जवान मुस्तैदी से ड्यूटी निभाते दिखे। डीआईओएस नंदलाल यादव ने बताया कि पहली खेप आ चुकी है। बारी-बारी से प्रश्नपत्रों की खेप आ रही है। जिन्हें स्काउट भवन के कमरे में ताले में सुरक्षित रखवाया जा रहा है। सुरक्षा के लिए पुलिस के जवान 24 घंटे पहरा देंगे।1कल तक बनवा लें कार्ड : बोर्ड परीक्षा में कक्ष निरीक्षक की ड्यूटी बिना पहचान पत्र के नहीं हो पाएगी, इसका आदेश डीआईओएस द्वारा जारी कर दिया गया है। सोमवार को डीआईओएस की पड़ताल में सादे परचय पत्र ले जाने वालों में 50 शिक्षण संस्थाएं ऐसी सामने आईं हैं जिन्होंने कार्ड भर कर जमा नहीं किया है।1 वहीं सादे कार्ड न ले जाने वालों की संख्या 6 है जो विभिन्न कारणों से सादे पहचान पत्र नहीं ले जा पाए हैं। डीआईओएस नंदलाल यादव ने कक्ष निरीक्षक के पहचान पत्र को हर दशा में मंगलवार को पूरा करने के आदेश दिए हैं।

B.ED : बीएड में दाखिले को आवेदन दस मार्च से,तीन मई को बीएड में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन

बीएड में दाखिले को आवेदन दस मार्च से

लखनऊ : सूबे में दो वर्षीय बीएड कोर्स में दाखिले के लिए ऑनलाइन आवेदन दस मार्च से शुरू होंगे। 25 मार्च तक अभ्यर्थी बिना विलंब शुल्क के ऑनलाइन फॉर्म भर सकेंगे। इसके बाद 26 से 31 मार्च तक विलंब शुल्क भरकर अभ्यर्थी फॉर्म भर सकेंगे। शासन ने परीक्षा की जिम्मेदारी लविवि को दी है। तीन मई को बीएड में दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया जाएगा। बीएड का ऑनलाइन फॉर्म भरने के लिए इस बार आधार कार्ड अनिवार्य होगा। बीएड की संयुक्त प्रवेश परीक्षा के राज्य समन्वयक प्रो. एनके खरे ने बताया कि ऑनलाइन आवेदन शुल्क अभी तय नहीं है। इसके लिए एक मार्च को शासन में बैठक होगी। इस बार फॉर्म की कीमत सामान्य व ओबीसी अभ्यर्थियों के लिए 1200 रुपये व एससी-एसटी के अभ्यर्थियों के लिए 600 रुपये निर्धारित की गई है। जबकि पिछले वर्ष यह 1100 रुपये व 550 रुपये थी। प्रो. खरे ने बताया कि फॉर्म की कीमत में 100 रुपये की बढ़ोतरी का प्रस्ताव है।

SHAMILI : शिक्षा का उजियारा फैला रहे नीरज प्राथमिक विद्यालय में बढ़ाई शिक्षा की गुणवत्ता

शिक्षा का उजियारा फैला रहे नीरज

प्राथमिक विद्यालय में बढ़ाई शिक्षा की गुणवत्ता

संजीव शर्मा, शामली1प्राथमिक विद्यालय का नाम सुनते ही जेहन में शिक्षा के नाम पर खानापूरी का ख्याल आता है। मिड डे मील और वजीफे के बीच शिक्षा की बदहाली सामने आती है। शामली के प्राथमिक विद्यालय नंबर दस के प्रधानाध्यापक नीरज गोयल इस प्रवृत्ति के खिलाफ लड़ रहे हैं। उनके स्कूल में छात्र संख्या के नाम पर खानापूरी नहीं होती है। वे अभिभावकों को प्रेरित करते हैं और शिक्षा की गुणवत्ता बनाने के लिए भरसक प्रयास करते हैं। 1 शामली के जैन मोहल्ला निवासी नीरज गोयल साल 2010 में मुंडेट कलां प्राथमिक विद्यालय नंबर एक में बतौर सहायक अध्यापक नियुक्त हुए। इस समय वे मोहल्ला बरखंडी स्थित प्राथमिक विद्यालय नंबर 10 में प्रधानाध्यापक है। गरीब परिवार के बच्चों को स्कूल तक लाने के लिए उन्होंने मुहिम चला रखी है। उन्होंने मोहल्ला चौपाल नामांकन भ्रमण के नाम से कार्यक्रम चलाया। स्कूल की छुट्टी के बाद नीरज गोयल मोहल्लों में पहुंचते और वहां ठेले वाले, सब्जी बेचने वाले, रिक्शा चलाकर गुजर बसर करने वाले परिवारों के बीच जाकर बच्चों को स्कूल भेजने के लिए प्रेरित करते हैं। रात में मोहल्लो में मीटिंग कर उन्हें शिक्षा का महत्व बताते हैं। इसी का असर है कि विद्यालय में नामांकन 300 हुआ और ज्यादातर बच्चे रोज स्कूल भी आते हैं। 1बच्चों के बीच अपनेपन का अहसास : प्रधानाध्यापक नीरज गोयल बच्चों को हर कदम पर अपनेपन का अहसास कराते हैं। उनसे मित्रवत व्यवहार करते है ताकि उन्हें किसी तरह की कोई कमी महसूस न हो। नीरज गोयल बताते है कि बाल सर्वे के दौरान उन्हें लाहोरी गेट मोहल्ले में एक बच्चा नेत्रहीन मिला।1 उन्होंने उस बच्चे को स्कूल भेजने के लिए अभिभावकों से कहा तो उन्होंने पहले तो मना कर दिया, लेकिन जब उन्होंने उन्हें समझाया तो वे मान गए। प्राथमिक विद्यालय नंबर 6 में जब वे तैनात थे तो उन्हें एक दिव्यांग बच्चा मिला, उसे भी प्रयास कर वे स्कूल लाने में सफल हुए। 1स्कूल में शुरु कराईं प्रतियोगिताएं : प्राथमिक विद्यालयों में प्रतियोगिताएं नहीं होंती। इससे बच्चों के अंदर की ङिाझक नहीं दूर होती है। नीरज गोयल ने विद्यालय में समय-समय पर मेहंदी, चित्रकला, भाषण व निबंध आदि प्रतियोगिता शुरु कराईं। पिछले दिनों जनपद स्तरीय प्रतियोगिता में जिले के प्राथमिक विद्यालयों में सिर्फ उनके विद्यालय के बच्चों ने प्रतिभाग किया। महीने के आखिरी शनिवार को उस महीने में जन्मे बच्चों का जन्म दिन विद्यालय में मनाया जाता है। 1बीएसए चंद्रशेखर का कहना है कि नीरज गोयल बेहतर काम कर रहे हैं। अभिभावकों को जागरूक करने के साथ-साथ शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने की तरफ भी ध्यान दे रहे हैं।

Monday, 27 February 2017

BASIC SCHOOL : ANNUAL EXAM : उ0प्र0 बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित परिषदीय प्राथमिक/उच्च प्राथमिक विद्यालयों की वार्षिक परीक्षा कराये जाने सम्बन्ध में समय सारिणी एवं आदेश जारी

UPSC : यूपीएससी में पांच सालों में इस साल सबसे कम भर्ती

BTC 2015 : EXAM : 16 से 20 अप्रैल तक बीटीसी 2015 के प्रथम सेमेस्टर की परीक्षा

UPTET 2017 : EXAM : टीईटी 2017 सितंबर में होने के आसार, मई से आवेदन लेने की बन रही योजना

टीईटी 2017 सितंबर में होने के आसार

राब्यू, इलाहाबाद : उप्र शिक्षक पात्रता परीक्षा का वर्ष 2017 में भी आयोजन एक बार ही हो पाएगा। विधानसभा चुनाव के कारण फरवरी में टीईटी कराने की योजना सफल नहीं हो सकी है। अब नई सरकार के गठन के बाद सचिव, परीक्षा नियामक प्राधिकारी की ओर से नए सिरे से इसका प्रस्ताव शासन को भेजा जाएगा। उम्मीद है कि परीक्षा सितंबर या फिर अक्टूबर में होगी। यूपीटीईटी 2016 का परिणाम जल्द आने के आसार हैं। इसके पहले ही सचिव, परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने यूपीटीईटी 2017 को लेकर तैयारियां शुरू की थी। राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) का निर्देश है कि टीईटी साल में दो बार आयोजित की जाए। निर्देश है कि साल में एक बार अनिवार्य रूप से परीक्षा कराई जाए। परीक्षा नियामक कार्यालय ने 2017 से दो बार टीईटी कराने की तैयारियां कई माह पहले ही शुरू कर दी थीं। उसके कुछ दिन बाद विधानसभा चुनाव की घोषणा के बाद योजना ठंडे बस्ते में चली गई। यूपी बोर्ड की परीक्षा को लेकर चुनाव आयोग ने जिस तरह से तेवर दिखाए उसके बाद से शिक्षा विभाग के अधिकांश अफसरों ने कुछ नया करने से किनारा कर लिया।

अब तैयारी है कि सूबे में नई सरकार बनने के बाद मार्च के अंत या फिर अप्रैल में टीईटी कराने का नया प्रस्ताव सचिव, परीक्षा नियामक प्राधिकारी की ओर से भेजा जाएगा। मई से आवेदन लेने एवं सितंबर या फिर अक्टूबर में इम्तिहान कराने की योजना बन रही है। ऐसे हालात में इस साल भी दो बार परीक्षा होने के बिल्कुल आसार नहीं है। सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी डा. सुत्ता सिंह ने बताया कि टीईटी के लिए नया प्रस्ताव होली के बाद भेजा जाएगा।

Sunday, 26 February 2017

BTC 2015 : EXAM : बीटीसी प्रशिक्षण 2015 के अंतर्गत डायट एवं निजी संस्थानों में प्रवेश लेने वाले प्रथम सेमेस्टर के अभ्यर्थियों की परीक्षा दिनांक 18.04.17 से 20.04.17 में प्रस्तावित, प्रति देखें

ALLAHABAD:टीईटी का रिजल्ट हुआ तैयार आयोग की झंडी का इंतजार 🎯सचिव डा. सुत्ता सिंह ने बताया कि परीक्षा परिणाम तैयार हो गया है,अनुमति मिली तो 28 को रिजल्ट जारी करेंगे।

टीईटी का रिजल्ट हुआ तैयार आयोग की झंडी का इंतजार
🎯सचिव डा. सुत्ता सिंह ने बताया कि परीक्षा परिणाम तैयार हो गया है,अनुमति मिली तो 28 को रिजल्ट जारी करेंगे।

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : उत्तर प्रदेश की शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी टीईटी 2016 का परीक्षा परिणाम तैयार हो गया है। इस समय विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लागू है। यूपी बोर्ड के परीक्षा कार्यक्रम पर आयोग की सख्ती के बाद से सतर्क परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव ने चुनाव आयोग से परिणाम जारी करने की अनुमति मांगी है। साथ ही विभागीय अफसरों से मार्ग दर्शन लिया जा रहा है कि इसमें आचार संहिता आड़े तो नहीं आएगी। सूत्रों का कहना है कि अफसर रिजल्ट जारी करने के पक्ष में है। यदि सब कुछ दुरुस्त रहा तो 28 फरवरी को रिजल्ट घोषित किया जाएगा। इस बार टीईटी-2016 की परीक्षा प्रदेश के सभी जिलों के 858 केंद्रों पर हुई। सुबह की पाली में उच्च प्राथमिक के लिए पांच लाख एक हजार 821 व दूसरी पाली में प्राथमिक शिक्षक के लिए दो लाख 54 हजार 68 पंजीकृत में से दोनों पालियों में 92 फीसद अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए। उसके बाद परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव एवं अन्य अफसरों का तबादला हो गया। नई सचिव डा. सुत्ता सिंह ने तय कार्यक्रम के मुताबिक की उत्तरकुंजी जारी कराई और अभ्यर्थियों से आपत्तियां ली। संशोधित उत्तरकुंजी भी पिछले दिनों जारी हो चुकी है। परीक्षा शेड्यूल के मुताबिक टीईटी का परिणाम 28 फरवरी तक आना है। सचिव डा. सिंह ने बताया कि परीक्षा परिणाम तैयार हो गया है। अनुमति मिली तो 28 को रिजल्ट जारी करेंगे, अन्यथा जैसा निर्देश होगा उसी के अनुरूप कार्य किया जाएगा।


Blog Archive

Blogroll