��हलचल एक नाम विश्वास का ��शिक्षा विभाग की समस्त खबरें एवं आदेश सबसे तेज एवं सबसे विश्वसनीय सिर्फ हलचल पर - सौरभ त्रिवेदी

Breaking

Sunday, 5 February 2017

ALLAHABAD:केंद्रीय बलों की सिपाही भर्ती पर सवाल ●कर्मचारी चयन आयोग ने दो दिन पहले जारी किया था परिणाम ●कम कट ऑफ वाले युवाओं के चयन पर अभ्यर्थी खफा ●सफल अभ्यर्थियों के अंक आयोग ने अभी घोषित नहीं किए

केंद्रीय बलों की सिपाही भर्ती पर सवाल
●कर्मचारी चयन आयोग ने दो दिन पहले जारी किया था परिणाम
●कम कट ऑफ वाले युवाओं के चयन पर अभ्यर्थी खफा
●सफल अभ्यर्थियों के अंक आयोग ने अभी घोषित नहीं किए

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) की सिपाही भर्ती के चयन पर सवाल उठे हैं। युवाओं के एक वर्ग का कहना है कि मेडिकल परीक्षण के नाम पर कम कटऑफ वालों का चयन कर लिया गया है, जबकि योग्य अभ्यर्थी बाहर कर दिए गए हैं। 1एसएससी की केंद्रीय बलों के लिए सिपाही भर्ती का विज्ञापन 62320 पदों के लिए जारी हुआ था। आयोग ने इसकी लिखित परीक्षा चार अक्टूबर, 2015 को कराई थी। उस समय कुछ केंद्रों की परीक्षा निरस्त करके दोबारा लिखित परीक्षा 22 नवंबर, 2015 को हुई। लिखित परीक्षा का परिणाम 14 मार्च एवं सात अप्रैल, 2016 को घोषित किया गया। उस समय एक लाख 44 हजार अभ्यर्थी मेडिकल परीक्षण के लिए सफल हुए थे। इसमें नक्सल क्षेत्र के अधीन आने वाले जिलों की मेरिट पुरुष सामान्य में 69, पिछड़ी जाति में 64, अनुसूचित जाति में 54 और अनुसूचित जनजाति की 58 थी। मेडिकल के बाद अंतिम नियुक्ति दिए जाने के लिए दो दिन पहले परिणाम घोषित किया गया है। इसमें 57 हजार 14 अभ्यर्थी सफल करार दिए गए हैं। आयोग ने इसके अभी अंक घोषित नहीं किए हैं, लेकिन जिन अभ्यर्थियों का कम कटऑफ था उनका चयन कर लिया गया है, जबकि योग्य अभ्यर्थी दौड़ से बाहर हो गए हैं। खास बात यह है कि अधिक कटऑफ वाले मेडिकल परीक्षण में भी सफल हुए, लेकिन उनका अंतिम चयन नहीं हो सका है। अभ्यर्थी महेंद्र कुमार मिश्र, भारत कुमार त्रिपाठी, शिवशंकर बिंद, रविरंजन सिंह, प्रदीप कुमार यादव व कमलेश कुमार आदि ने परिणाम में संशोधन करने की मांग की है। इन सभी अभ्यर्थियों का कटऑफ 70 अंक से अधिक है, फिर अचयनित हैं।’


Adbox