��हलचल एक नाम विश्वास का ��शिक्षा विभाग की समस्त खबरें एवं आदेश सबसे तेज एवं सबसे विश्वसनीय सिर्फ हलचल पर - सौरभ त्रिवेदी

Breaking

Latest Update

सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा 2018 में ऑनलाइन फॉर्म भरने हेतु समस्त दिशा निर्देशों को पढ़ते हुए यहां से फॉर्म भरें

  Step I आवेदन पत्र भरने हेतु महत्त्वपूर्ण दिशा निर्देश (ऑनलाइन आवेदन करने से पूर्व दिशा निर्देश ध्यान पूर्वक पढ़ लें एवं आवेदन के प्रारूप को...

TOP 5 ORDERS ( महत्वपूर्ण 5 हलचलें )

Tuesday, 28 February 2017

FATEHPUR : औचक निरीक्षण में स्कूल मिला बंद, नोटिस जारी,एमडीएम चेक करने के निर्देश

औचक निरीक्षण में स्कूल मिला बंद, नोटिस जारी

जागरण संवाददाता, फतेहपुर : विधानसभा चुनाव के बाद परिषदीय स्कूलों की दशा जानने के लिए बीएसए ने बीईओ को क्षेत्र बदलकर निरीक्षण करवाया। निरीक्षण में स्कूलों की पोल खुलकर आ गई। निरीक्षण में ऐरायां ब्लाक का प्राथमिक विद्यालय बंद मिला। इसके अलावा तीन शिक्षक-शिक्षिकाओं को गैरहाजिर पकड़ा। निरीक्षण की जद में आए शिक्षक-शिक्षिकाओं को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। बीएसए ने सोमवार को निरीक्षण कराने आदेश जारी किया। 1सुबह पहर से शिक्षक-शिक्षिकाओं को इसकी भनक लग गई थी। जिसके चलते सुबह पहर से स्कूल जाने की हड़बड़ी देखी गई थी। सुबह पहर से तैनाती वाले ब्लाकों का क्षेत्र बदलकर दूसरे क्षेत्रों में निरीक्षण करवाया। जिसमें ऐरायां ब्लाक का प्राथमिक विद्यालय में तालाबंदी पाई गई। तैनाती पाया शिक्षामित्र 12 बच्चों के साथ गेट में बंद ताले के साथ पाई गई। इसके साथ ही जिले में तीन अन्य शिक्षक-शिक्षिकाएं बिना सूचना के स्कूल से गायब मिले। बीएसए विनय कुमार सिंह ने बताया कि लापरवाही बर्दास्त नहीं की जाएगी। तीन दिन के अंदर नोटिस का जवाब देना होगा। जवाब से संतुष्ट न होने पर विधिक कार्यवाही की जाएगी।

एमडीएम चेक करने के निर्देश

फतेहपुर : स्कूलों के रूटीन चेकिंग के दौरान बच्चों को मिलने वाले एमडीएम की जांच करने के निर्देश बीएसए ने दिए हैं। स्कूलों में शिक्षक-छात्रों की उपस्थिति के साथ एमडीएम की गुणवत्ता परखने के निर्देश बीएसए द्वारा सभी खंड शिक्षाधिकारियों को दिए गए हैं। जिससे कि बच्चों को निर्धारित मेन्यू के अनुसार भोजन परोसा जा सके। बीएसए ने सभी खंड शिक्षाधिकारियों को यह भी निर्देशित किया है कि वह प्रतिदिन अपनी रिपोर्ट विभाग के पोर्टल पर अपडेट करें। इसके साथ ही निरीक्षित स्कूल का फोटो व्हाट्स एप में जरूर डालें। जिससे कि स्कूलों के चुनाव के चलते पटरी से उतरी व्यवस्था को सही किया जा सके।

Adbox