Tuesday, 28 February 2017

Filled Under: ,

Hardoi:अनुपस्थित 32 शिक्षको का रोक गया वेतन

अनुपस्थित 32 शिक्षकों का रोका गया वेतन

हरदोई : माध्यमिक अशासकीय सहायता प्राप्त और राजकीय विद्यालयों में छह दिवसीय प्रशिक्षण में 32 शिक्षक हस्ताक्षर करके गायब हो गए। जिस पर सभी का वेतन रोकते हुए अनुशासनात्मक कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। राजकीय इंटर कालेज में अर¨वदो सोसाइटी द्वारा अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों और राजकीय विद्यालयों के गणित, विज्ञान, सामाजिक विषय और भाषा के शिक्षकों का सोमवार से छह दिवसीय प्रशिक्षण शुरू हुआ है। प्रशिक्षण में 150 शिक्षकों को प्रतिभाग करना था। इसके लिए सभी प्रधानाचार्यों को दो-दो शिक्षकों भेजने के लिए निर्देशित किया गया था। सोमवार को प्रशिक्षण में 150 के सापेक्ष 84 शिक्षक ही उपस्थित हुए। सोमवार को प्रशिक्षण का लंच के बाद जिला विद्यालय निरीक्षक कमलाकर पांडेय ने निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान 32 शिक्षक अनुपस्थित मिले। प्रशिक्षण में जानकारी मिली कि अनुपस्थित शिक्षक हस्ताक्षर करने के बाद लंच लेकर बगैर सूचना के ही चले गए। इस पर अनुशासनहीनता के तहत विद्यालयों के प्रधानाचार्यों, प्रबंधकों को संबंधित शिक्षकों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई करने और एक दिन का वेतन रोकने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि साथ ही उन सभी प्रधानाचार्यों को भी हिदायत दी गई है जिन्होंने प्रशिक्षण में शिक्षकों को नहीं भेजा है।हरदोई : माध्यमिक अशासकीय सहायता प्राप्त और राजकीय विद्यालयों में छह दिवसीय प्रशिक्षण में 32 शिक्षक हस्ताक्षर करके गायब हो गए। जिस पर सभी का वेतन रोकते हुए अनुशासनात्मक कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं। राजकीय इंटर कालेज में अर¨वदो सोसाइटी द्वारा अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों और राजकीय विद्यालयों के गणित, विज्ञान, सामाजिक विषय और भाषा के शिक्षकों का सोमवार से छह दिवसीय प्रशिक्षण शुरू हुआ है। प्रशिक्षण में 150 शिक्षकों को प्रतिभाग करना था। इसके लिए सभी प्रधानाचार्यों को दो-दो शिक्षकों भेजने के लिए निर्देशित किया गया था। सोमवार को प्रशिक्षण में 150 के सापेक्ष 84 शिक्षक ही उपस्थित हुए। सोमवार को प्रशिक्षण का लंच के बाद जिला विद्यालय निरीक्षक कमलाकर पांडेय ने निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान 32 शिक्षक अनुपस्थित मिले। प्रशिक्षण में जानकारी मिली कि अनुपस्थित शिक्षक हस्ताक्षर करने के बाद लंच लेकर बगैर सूचना के ही चले गए। इस पर अनुशासनहीनता के तहत विद्यालयों के प्रधानाचार्यों, प्रबंधकों को संबंधित शिक्षकों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई करने और एक दिन का वेतन रोकने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि साथ ही उन सभी प्रधानाचार्यों को भी हिदायत दी गई है जिन्होंने प्रशिक्षण में शिक्षकों को नहीं भेजा है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

Text Widget 2