New

डी० एल० एड० ( पूर्व प्रचलित नाम बी० टी० सी० ) प्रशिक्षण- 2016 के लिये ऑनलाइन आवेदन प्रारम्भ, समस्त नियम शर्ते अर्हता आदि को पढ़ते समझते हुए यहां से आवेदन करें

डी० एल० एड० ( पूर्व प्रचलित नाम बी० टी० सी० ) प्रशिक्षण- 2016 परीक्षा नियामक प्राधिकारी, इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश STEP 1 आवेदन पत्र भर...

Saturday, 18 March 2017

ALLAHABAD:शिक्षक बनने को अनिवार्य है टीईटी उत्तीर्ण करना 🎯छह लाख 76 हजार 270 अभ्यर्थियों का परिणाम शुक्रवार शाम को जारी किया गया है। 🎯प्राथमिक स्तर में 11.38 प्रतिशत अभ्यर्थी उत्तीर्ण। 🎯उच्च प्राथमिक स्तर में 11.03 प्रतिशत अभ्यर्थी उत्तीर्ण

शिक्षक बनने को अनिवार्य है टीईटी उत्तीर्ण करना
🎯छह लाख 76 हजार 270 अभ्यर्थियों का परिणाम शुक्रवार शाम को जारी किया गया है।
🎯प्राथमिक स्तर में 11.38 प्रतिशत अभ्यर्थी उत्तीर्ण।
🎯उच्च प्राथमिक स्तर में 11.03 प्रतिशत अभ्यर्थी उत्तीर्ण
राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : प्रदेश के बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में शिक्षक के रूप में नियुक्ति पाने के लिए युवाओं का टीईटी उत्तीर्ण होना अनिवार्य है। परीक्षा नियामक प्राधिकारी उप्र की सचिव ने शासन के निर्देश पर टीईटी 2016 की परीक्षा 19 दिसंबर 2016 को सूबे के 858 परीक्षा केंद्रों पर आयोजित हुई थी। इसमें सात लाख 55 हजार 889 अभ्यर्थियों को शामिल होना था, लेकिन 79 हजार 619 अभ्यर्थियों ने परीक्षा छोड़ दी थी। शेष छह लाख 76 हजार 270 अभ्यर्थियों का परिणाम शुक्रवार शाम को जारी किया गया है। सचिव डा. सुत्ता सिंह ने बताया कि प्राथमिक स्तर की परीक्षा में दो लाख 54 हजार 68 अभ्यर्थी पंजीकृत थे, जबकि दो लाख 21 हजार 654 परीक्षा में शामिल हुए। उनमें से 25 हजार 226 अभ्यर्थी (11.38 फीसद) उत्तीर्ण हुए हैं, वहीं एक लाख 96 हजार 428 फेल हो गए हैं। ऐसे ही उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा में पांच लाख एक हजार 821 अभ्यर्थी पंजीकृत थे, जबकि चार लाख 54 हजार 616 अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल हुए उनमें से 50 हजार 138 युवा (11.03 फीसद) उत्तीर्ण हुए हैं, वहीं चार लाख चार हजार 478 अभ्यर्थी फेल हो गए हैं।


Blog Archive

Blogroll

Recommended Posts × +