New

डी० एल० एड० ( पूर्व प्रचलित नाम बी० टी० सी० ) प्रशिक्षण- 2016 के लिये ऑनलाइन आवेदन प्रारम्भ, समस्त नियम शर्ते अर्हता आदि को पढ़ते समझते हुए यहां से आवेदन करें

डी० एल० एड० ( पूर्व प्रचलित नाम बी० टी० सी० ) प्रशिक्षण- 2016 परीक्षा नियामक प्राधिकारी, इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश STEP 1 आवेदन पत्र भर...

Thursday, 2 March 2017

Lakhimpur: लेखाधिकारी के क्रियाकलापो पर संघ ने जताई नाराज़गी

लेखाधिकारी के क्रियाकलापों पर संघ ने जताई नाराजगी

संवादसूत्र, लखीमपुर : उप्र विद्यालय निरीक्षक संघ की बैठक कार्यालय खंड शिक्षा अधिकारी मुख्यालय में आयोजित की गई। जिसमें वित्त एवं लेखाधिकारी बेसिक शिक्षा के क्रियाकलापों को लेकर मुद्दा छाया रहा। 1बैठक में वित्त एवं लेखाधिकारी के बिना किसी कारण के वरिष्ठ खंड शिक्षा अधिकारियों का माह जनवरी 2017 से वेतन भुगतान नहीं किया गया है। शिक्षकों के आयकर निर्धारण के लिए वित्त एवं लेखाधिकारी द्वारा पूर्व में लिखे गए पत्रों में इस कार्य के लिए खंड शिक्षा अधिकारी को व्यक्ति रूप से उत्तरदायी बताया जा रहा है। साथ ही विवरण की अशुद्धता एवं भ्रामक सूचना पाए जाने पर उत्तरदायी कहा गया है। जबकि वित्त एवं लेखाधिकारी ने शिक्षकों के वेतन भुगतान, अवशेष भुगतान एवं आय कर अग्रिम कटौती की विवरण उपलब्ध नहीं कराया जा रहा है। इस संबंध में एक अखबार में भी वित्त एवं लेखाधिकारी ने विज्ञप्ति का प्रकाशन कराया था। जिसमें खंड शिक्षा अधिकारी को लापरवाह बताया गया। वित्त एवं लेखाधिकारी ने बिना सक्षम अधिकारी के सत्यापित उपस्थित के शिक्षकों के अवशेषों का भुगतान किया जा रहा है। भुगतान किए गए अवशेषों अग्रिम टैक्स कटौती की सूचना भी खंड शिक्षा अधिकारियों को उपलब्ध नहीं कराई जा रही है। बैठक में कहा गया कि इससे स्पष्ट है कि वित्त एवं लखाधिकारी मिथ्या आरोप लगाकर खंड शिक्षा अधिकारियों की छवि धूमिल करने का प्रयास कर रहे हैं।संवादसूत्र, लखीमपुर : उप्र विद्यालय निरीक्षक संघ की बैठक कार्यालय खंड शिक्षा अधिकारी मुख्यालय में आयोजित की गई। जिसमें वित्त एवं लेखाधिकारी बेसिक शिक्षा के क्रियाकलापों को लेकर मुद्दा छाया रहा। 1बैठक में वित्त एवं लेखाधिकारी के बिना किसी कारण के वरिष्ठ खंड शिक्षा अधिकारियों का माह जनवरी 2017 से वेतन भुगतान नहीं किया गया है। शिक्षकों के आयकर निर्धारण के लिए वित्त एवं लेखाधिकारी द्वारा पूर्व में लिखे गए पत्रों में इस कार्य के लिए खंड शिक्षा अधिकारी को व्यक्ति रूप से उत्तरदायी बताया जा रहा है। साथ ही विवरण की अशुद्धता एवं भ्रामक सूचना पाए जाने पर उत्तरदायी कहा गया है। जबकि वित्त एवं लेखाधिकारी ने शिक्षकों के वेतन भुगतान, अवशेष भुगतान एवं आय कर अग्रिम कटौती की विवरण उपलब्ध नहीं कराया जा रहा है। इस संबंध में एक अखबार में भी वित्त एवं लेखाधिकारी ने विज्ञप्ति का प्रकाशन कराया था। जिसमें खंड शिक्षा अधिकारी को लापरवाह बताया गया। वित्त एवं लेखाधिकारी ने बिना सक्षम अधिकारी के सत्यापित उपस्थित के शिक्षकों के अवशेषों का भुगतान किया जा रहा है। भुगतान किए गए अवशेषों अग्रिम टैक्स कटौती की सूचना भी खंड शिक्षा अधिकारियों को उपलब्ध नहीं कराई जा रही है। बैठक में कहा गया कि इससे स्पष्ट है कि वित्त एवं लखाधिकारी मिथ्या आरोप लगाकर खंड शिक्षा अधिकारियों की छवि धूमिल करने का प्रयास कर रहे हैं।

Blog Archive

Blogroll

Recommended Posts × +