More Services

Thursday, 2 March 2017

Pratapgarh: शिक्षक निलंबित, दो प्रेरको को दिया नोटिस

शिक्षक निलंबित, दो प्रेरकों को दिया नोटिस
कार्रवाई
दो लीटर दूध पर 26 बच्चों की सेहत

प्रतापगढ़ : तीन दिन से बिना किसी सूचना के गायब प्राथमिक विद्यालय जमलामऊ के शिक्षक रोहित सिंह को बीएसए ने निलंबित कर दिया। स्कूल नहीं आने वाले प्राथमिक विद्यालय जेठवारा के दो प्रेरकों राजकुमार, शैलकुमारी को सेवा समाप्ति की नोटिस दी गई। बीएसए ने निरीक्षण के दौरान बंद मिले तीन विद्यालयों के हेडमास्टर व शिक्षकों का वेतन रोकते हुए कारण बताओ नोटिस जारी की। 1बीएसए बीएन सिंह ने बुधवार को कई प्राइमरी स्कूलों का निरीक्षण कर शिक्षा व्यवस्था की हकीकत खंगाली। सबसे पहले वह बिहार विकास खंड के प्राथमिक सकरदहा प्रथम पहुंचे। सुबह 9:10 पर विद्यालय बंद पाया गया। इस पर उन्होंने प्रधानाध्यापक मनोज कुमार, शिक्षिका रेखा देवी, कंचन देवी का वेतन अग्रिम आदेशों तक रोकते हुए कारण बताओ नोटिस जारी की। इसके बाद बीएसए प्राथमिक विद्यालय सकरदहा द्वितीय पहुंचे तो विद्यालय में ताला लटकता मिला। इस पर उन्होंने प्रधानाध्यापिका अर्चना देवी का वेतन रोकते हुए कारण बताओ नोटिस दी। इसके बाद बीएसए उच्च प्राथमिक विद्यालय सकरदहा पहुंचे। यह विद्यालय भी बंद मिला। इस पर बीएसए ने शिक्षिका श्वेता त्रिपाठी, मंजू मिश्र, कविता कुमारी, निखिल श्रीवास्तव, अनुचर पंकज पांडेय का वेतन रोकते हुए कारण बताओ नोटिस दी। स्कूल के पास मिले गावं के प्रधान संजय सिंह ने बीएसए से स्कूल की समयावधि पूछा। इसके बाद 9:20 पर बीएसए प्राथमिक विद्यालय नामदेवपुर पहुंचे। यहां के हेड मास्टर ओम प्रकाश वर्मा, शिक्षिका मीनाक्षी द्विवेदी व एक अन्य अनुपस्थित मिले। इन सभी का वेतन रोकते हुए नोटिस दी गई। 9:35 पर बीएसए प्राथमिक विद्यालय जमलामऊ कुंडा पहुंचे। यहां के शिक्षक रोहित सिंह 21, 28 फरवरी व एक मार्च को बिना किसी सूचना के अनुपस्थित मिले। बीएसए ने इन्हें निलंबित कर दिया। प्राथमिक विद्यालय पुरबिया कुंडा में बरामदे व कमरे की फर्श टूटी मिली। प्रधानाध्यापिका सरिता यादव द्वारा काम नहीं कराया गया था। बीएसए ने उनका भी वेतन रोक दिया। प्राथमिक विद्यालय जेठवारा में दिन में 2:20 पर बीएसए पहुंचे तो उन्होंने पाया कि हेडमास्टर ¨पटू मिश्र, शिक्षिका नीलम देवी बरामदे में बैठकर बातें कर रही थी। बच्चों को एक कमरे में बैठाया गया था। बीएसए ने इन सभी का वेतन रोकते हुए कारण बताओ नोटिस जारी किया। प्रेरक राजकुमार व शैलकुमारी के बारे में स्कूल न आने की शिकायत मिली। इस पर बीएसए ने दोनों को सेवा समाप्ति की नोटिस जारी की।कुंडा, प्रतापगढ़ : एक तरफ सरकार प्राथमिक शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए योजनाएं लागू कर रही है तो दूसरी तरफ प्राथमिक विद्यालयों में खेल चल रहा है। शिक्षक ही सरकार की मंशा पर पानी फेर रहे हैं। कुछ ऐसा ही देखने को मिला बुधवार को कुंडा के प्राथमिक विद्यालय फरेदूपुर में।1विद्यालय में तो 70 बच्चे नामांकित हैं लेकिन महज 26 बच्चे ही उपस्थित थे। सबसे बड़ी बात तो यह है कि 26 बच्चों के लिए महज दो लीटर ही दूध आया था। विद्यालय में बनने वाले मध्यान्ह भोजन में तहरी बनी थी। इसमें चावल आलू व हल्दी ही दिख रही थी। बच्चों से पूछने पर पता चला कि इसी तरह का भोजन दिया जाता है। बच्चों से पूछा गया कि कल क्या बना था तो उनसे पहले शिक्षिका बोल पड़ी..पूड़ी-सब्जी। जबकि बच्चों का जवाब था कि दाल-चावल बना था। विद्यालय में शिक्षिका मीरा त्रिपाठी व लता मौजूद मिलीं। उनसे पता चला कि जो खाद्यान्न मिलता है वही बनवा दिया जाता है। ऐसे में इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि किस तरह विद्यालय में मध्यान्ह भोजन के नाम पर मजाक किया जा रहा है। विभागीय अधिकारी सब कुछ जानते हुए भी अंजान बने हुए हैं। इस बाबत एबीएसए सुनील कुमार का कहना है कि मामला संज्ञान में नहीं था।फरेंदूपुर प्राथमिक विद्यालय में मिड-डे-मील के तहत बनी तहरी व खाते बच्चे ’ जागरण’बीएसए ने किया निरीक्षण, सवा नौ बजे तक नहीं खुले थे तीन स्कूल 1’निरीक्षण के दौरान बंद मिले स्कूलों के कई शिक्षकों का रोका वेतन

Like on Facebook