��हलचल एक नाम विश्वास का ��शिक्षा विभाग की समस्त खबरें एवं आदेश सबसे तेज एवं सबसे विश्वसनीय सिर्फ हलचल पर - सौरभ त्रिवेदी

Breaking

Sunday, 23 April 2017

ALLAHABAD: राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री को छात्रों ने खून से लिखापत्र, इविवि के छात्रावासों को खाली करने की मुहिम पर पुनः विचार करने का विचार

राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री को छात्रों ने खून से लिखा पत्र
विरोध
इविवि में छात्रवासों को खाली कराने की मुहिम पर पुन: विचार करने का अनुरोध


इलाहाबाद : इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रवासों को खाली कराए जाने का जारी है। शनिवार को छात्र नेताओं ने राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री को अपने खून से लिखा पत्र प्रेषित किया। छात्रनेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने प्रदेश के राज्यपाल राम नाइक से पुलिस लाइंस में मिलकर उन्हें कैंपस की वर्तमान स्थिति के बारे में अवगत कराया। छात्रनेताओं ने राज्यपाल से छात्रवास मुद्दे पर केंद्रीय मानवसंसाधन विकास मंत्री से मिलकर हस्तक्षेप की मांग की। 1इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्रसंघ भवन पर छात्रों का क्रमिक अनशन शनिवार को छठवें दिन भी जारी रहा। दोपहर में बड़ी संख्या में छात्र और छात्र नेता वहां एकत्रित हुए और अपने रक्त से प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और मानव संसाधन मंत्री को कैंपस की वर्तमान स्थिति के संबंध में पत्र लिखा। इसमें छात्र नेताओं ने प्रशासनिक लापरवाही को रेखांकित किया। छात्रनेताओं का पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल प्रदेश के राज्यपाल से पुलिस लाइन में मिला और छात्रवासों को खाली कराए जाने के निर्णय में हस्तक्षेप की मांग की। राज्यपाल ने मानव संसाधन मंत्री से इस संदर्भ में वार्ता का आश्वासन दिया। 1इविवि छात्रसंघ के पूर्व उपाध्यक्ष विक्रांत सिंह ने कहा कि हम शांतिपूर्ण और वैधानिक तरीके से छात्रवासों को खाली कराने के निर्णय का करते रहेंगे। उपाध्यक्ष आदिल हमजा ने कहा कि कुलपति को छात्रों की मन:स्थिति को समझना चाहिए। प्रतिनिधिमंडल में छात्रसंघ अध्यक्ष रोहित मिश्र, उपाध्यक्ष आदिल हमजा, पूर्व उपाध्यक्ष विक्रांत सिंह, अखिलेश गुप्त आदि शामिल रहे।छात्रवासों को खाली कराए जाने के में इलाहाबा��

Adbox