New

जनपद के अंदर स्थानांतरण प्रकिया में ऑनलाइन आवेदन करें, समस्त दिशा निर्देश पढ़ते हुए यहां से आवेदन करें

शासनादेश  आवेदन पत्र भरने हेतु महत्त्वपूर्ण दिशा निर्देश   ( ऑनलाइन आवेदन करने से पूर्व दिशा निर्देश ध्यान पूर्वक पढ़ लें एवं आवेदन के प्र...

Friday, 14 April 2017

विद्यालयों को ऑनलाइन मान्यता पर लगेगी मुहर तैयारी,संबद्धता पाने के इच्छुक कालेज को अब कागजी कार्यवाही करने के बजाय बोर्ड की वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन की सारी शर्ते पूरी करनी होगी

विद्यालयों को ऑनलाइन मान्यता पर लगेगी मुहर
तैयारी

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : यूपी बोर्ड तकनीक के साथ कदमताल कर रहा है। शिक्षक, छात्र-छात्रओं से जुड़ी तमाम सुविधाएं यहां ऑनलाइन हो चुकी हैं और अब यूपी बोर्ड की मान्यता भी ऑनलाइन देने की है। संबद्धता पाने के इच्छुक कालेज को अब कागजी कार्यवाही करने के बजाय बोर्ड की वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन की सारी शर्ते पूरी करनी होगी। बोर्ड उन पर मंथन करके मान्यता देने की प्रक्रिया पूरी करेगा। ऐसे ही योग शिक्षा के लिए सिखाने वालों का इंतजाम कैसे हो इस पर विशेषज्ञ गंभीरता से मंथन करेंगे। 1माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड का शैक्षिक सत्र इस साल बदल गया है, क्योंकि नये सत्र के शुभारंभ के समय बोर्ड की परीक्षाएं चल रही थीं। अब सत्र जुलाई में शुरू होना है। इसी बीच प्रदेश सरकार की प्राथमिकताओं के अनुरूप पाठ्यक्रम को उम्दा बनाने की पहल शुरू हो गई है। इसीलिए 18 अप्रैल को सिर्फ दो विषयों पर चर्चा के लिए बैठक बुलाई गई है। इसमें योग शिक्षा को पाठ्यक्रम में जोड़ा जाना और विद्यालय की मान्यता के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया अपनाना शामिल है। योग शिक्षा पिछले कुछ वर्षो से कक्षा नौ से लेकर इंटर तक में नैतिक शिक्षा एवं खेल विषय में एक चैप्टर में रूप में जुड़ा है, लेकिन अब तक उस पर विशेष नहीं रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद शिक्षा विभाग के अफसर इस पर गंभीर हुए हैं। बैठक में पाठ्यक्रम में योग शिक्षा के रूप में और क्या और कैसे जोड़ा जाए इस पर चर्चा होगी। शारीरिक शिक्षक उमेश खरे कहते हैं कि बोर्ड की यह पहल सराहनीय है जिसमें यह तय होने जा रहा है कि परीक्षा में कम से कम छह अंक के सवाल योग शिक्षा से होंगे। यह भी मांग हो रही है कि शारीरिक शिक्षकों को योग का प्रशिक्षण दिलाया जाए और जहां शिक्षकों की कमी है उसे पूरा किया जाए। 1दूसरा प्रकरण ऑनलाइन मान्यता दिये जाने का है। यह निर्णय पारदर्शिता व तत्परता के लिहाज से उठाया गया है। यह प्रस्ताव पास होने के बाद नये कालेज संचालकों को यूपी बोर्ड की वेबसाइट पर मान्यता पाने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा, सारी शर्ते पूरी करने वाले कालेजों को बोर्ड ऑनलाइन मान्यता पत्र भी निर्गत करेगा। इसी तरह से नये विषय, नया संकाय, हाईस्कूल से इंटर आदि की मान्यताएं भी ऑनलाइन ही मिल सकेंगी। यूपी बोर्ड ने इसकी पहले से कर रखी थी अब सरकार भी इसकी पक्षधर है इसलिए कार्य तेजी से आगे बढ़ाया जा रहा है।’>>यूपी बोर्ड की 18 अप्रैल को होने वाली बैठक में रखा जाएगा प्रस्ताव 1’>> योग की पढ़ाई का पहले से समावेश, योग सिखाने पर होगी चर्चा

Blog Archive

Blogroll