��हलचल एक नाम विश्वास का ��शिक्षा विभाग की समस्त खबरें एवं आदेश सबसे तेज एवं सबसे विश्वसनीय सिर्फ हलचल पर - सौरभ त्रिवेदी

Breaking

Latest Update

बीटीसी 2014 चतुर्थ सेमेस्टर परीक्षा परिणाम डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें, BTC 2014 4rth SEMESTER EXAM RESULT DECLARED, CLICK HERE TO DOWNLOAD

पार्ट - 1रिजल्ट ( PART -1 RESULT )    परीक्षा परिणाम डाउनलोड करने के लिए यहाँ क्लिक करें  ( पार्ट - 1 )     पार्ट 2 डाउनलोड करने के लिए...

Thursday, 6 April 2017

UP BOARD : उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन 27 अप्रैल से, 254 केंद्रों पर होगा मूल्यांकन, डेढ़ लाख परीक्षक सूचीबद्ध

उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन 27 अप्रैल से
यूपी बोर्ड परीक्षा
254 केंद्रों पर होगा मूल्यांकन, डेढ़ लाख परीक्षक सूचीबद्ध

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : की उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन प्रदेश भर में 27 अप्रैल से शुरू होगा। हर साल परीक्षा खत्म होने के चंद दिन बाद ही मूल्यांकन शुरू हो जाता है, इस बार भी परीक्षा 21 अप्रैल तक चलेगी उसके पांच दिन बाद मूल्यांकन शुरू होना है। माध्यमिक शिक्षा परिषद की सचिव के प्रस्ताव पर शिक्षा निदेशक माध्यमिक ने मुहर लगा दी है।1 बोर्ड प्रशासन मूल्यांकन कार्य जल्द शुरू कराने का इसलिए भी पक्षधर है, ताकि हर हाल में जून के पहले सप्ताह में परीक्षा परिणाम जारी कर दिया जाए। परिषद ने 254 केंद्र भी तय कर लिए हैं, वहीं परीक्षकों के चयन का काम अंतिम चरण में है।माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड की हाईस्कूल की परीक्षा खत्म हो चुकी है और इंटरमीडिएट की परीक्षाएं जोरों पर हैं। 21 अप्रैल तक सारी परीक्षाएं पूरी होनी हैं। उसके बाद उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन होना है। इस बार परीक्षा खत्म होने के बाद तेजी से कॉपियां मूल्यांकन केंद्रों तक भेजी जाएंगी, पिछले वर्षो में यह काम एक सप्ताह तक चलता था, जबकि इस बार महज पांच दिन में उत्तरपुस्तिकाएं भेजी जाएंगी। 1बोर्ड कार्यालय के अनुसार इस बार प्रदेश के 254 केंद्रों पर मूल्यांकन होना है। इसके लिए केंद्र प्रभारी से लेकर परीक्षक तक तय हो रहे हैं। परीक्षा शुरू होने से पहले ही परिषद ने सभी स्कूलों से परीक्षकों के संभावित नाम पहले ही मंगा लिए थे उसी सूची के आधार पर उनका चयन हो रहा है।1यूपी बोर्ड अफसर कहते हैं कि पिछले साल परीक्षा 18 फरवरी से शुरू हुई थी और हाईस्कूल व इंटर का परिणाम 15 मई को घोषित हुआ। इस बार एक माह बाद परीक्षा शुरू हुई है इसलिए रिजल्ट जून के पहले सप्ताह से पूर्व घोषित हो पाना संभव नहीं है। बोर्ड में इन दिनों परीक्षकों के चयन को अंतिम रूप दिया जा रहा है। इसमें स्ववित्त पोषित स्कूलों के शिक्षकों को सबसे अंत में मौका देने के निर्देश हैं। ठीक उसी तरह जैसे परीक्षा केंद्र बनाने में सबसे पहले राजकीय स्कूल, फिर अशासकीय और सबसे अंत में स्ववित्त पोषित को मौका मिलता है। पिछली बार प्रायोगिक परीक्षा के परीक्षकों पर सवाल उठा, ऐसे में मूल्यांकन के परीक्षक तय करने में खासा एहतियात भी बरता जा रहा है। वैसे करीब डेढ़ लाख परीक्षक लगाए जाने की तैयारी है। सचिव शैल यादव ने बताया कि जल्द ही उत्तरपुस्तिकाओं के मूल्यांकन की सारी तैयारियां पूरी हो जाएंगी।

Adbox