New

जनपद के अंदर स्थानांतरण प्रकिया में ऑनलाइन आवेदन करें, समस्त दिशा निर्देश पढ़ते हुए यहां से आवेदन करें

शासनादेश  आवेदन पत्र भरने हेतु महत्त्वपूर्ण दिशा निर्देश   ( ऑनलाइन आवेदन करने से पूर्व दिशा निर्देश ध्यान पूर्वक पढ़ लें एवं आवेदन के प्र...

Monday, 22 May 2017

मुख्यमंत्री के जाते ही बच्चों से छीने बस्ते,गुरेह गांव के प्राथमिक व जूनियर विद्यालय में शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का संभावित दौरा था,जब सीएम विद्यालय आए बगैर चले गए तो सभी बच्चों से बस्ते छीन लिये गए

मुख्यमंत्री के जाते ही बच्चों से छीने बस्ते,गुरेह गांव के प्राथमिक व जूनियर विद्यालय में शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का संभावित दौरा था,जब सीएम विद्यालय आए बगैर चले गए तो सभी बच्चों से बस्ते छीन लिये गए

जासं, बांदा : गुरेह गांव के प्राथमिक व जूनियर विद्यालय में शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का संभावित दौरा था, जिसको लेकर दो-तीन दिन पहले बच्चों को नए बस्ते बांटे गए। साथ ही एक्स्ट्रा क्लास लगा तोते की तरह पढ़ाया गया। मगर, जब सीएम विद्यालय आए बगैर चले गए तो सभी बच्चों से बस्ते छीन लिये गए। हाथों में कापियां और किताबें लेकर बच्चे घर लौटे। मुख्यमंत्री आगमन के लिए एक सप्ताह से तैयारी चल रही थी। जिला अस्पताल और मंडी समिति के निरीक्षण के साथ ही गुरेह या महोखर गांव के निरीक्षण की भी संभावना थी। कमिश्नर और डीएम स्तर पर संबंधित सभी विभागों को दो-तीन बार बैठकें कर प्रत्येक बिंदुओं पर गंभीरता से पालन करने के निर्देश दिए गए थे। बेसिक शिक्षा विभाग को भी कहा गया था कि गुरेह और महोखर गांव के प्राथमिक व जूनियर हाईस्कूल के विद्यालयों को दुरुस्त कर दिया जाए। च्च्चे सीएम के सवालों का बाखूबी जवाब दे सकें, इसकी भी तैयारी कर ली जाए। संबंधित विद्यालय के अध्यापकों ने च्च्चों को बस्ते बांटे। च्च्चों को बैठने उठने के तरीकों के साथ गिनती पहाड़ा तक रटा दिया गया। शनिवार को स्कूलों में अधिकारियों से लेकर शिक्षक सतर्क रहे। दोपहर बाद जैसे ही शिक्षकों के कानों में खबर गई कि सीएम नहीं आ रहे तो अपने असली रूप में आ गए। बच्चों को दिए गए बस्ते छीन कर उन्हें कापी किताबें लौटा दी गई। इस बाबत जिला बेसिक शिक्षाधिकारी से बात करने का प्रयास किया गया तो उनका सीयूजी नंबर बंद था।

Blog Archive

Blogroll