LUCKNOW:सपा शासन काल में बीपीएड संघर्ष मोर्चा के सदस्यों के ऊपर दर्ज मुकदमे हटवाने की माँग मुख्यमन्त्री से। ➡उसके बाद माननीय मुख्यमन्त्री योगी जी से बेरोजगार बीपीएड धारकों ने आशिर्वाद के रुप मे 32022 अनुदेशक भर्ती पर से रोक हटवाने के लिए विशेष आग्रह किया। ➡बेसिक शिक्षा परिषद के उच्च प्राथमिक विद्यालयों में खेलकूद तथा शारीरिक शिक्षा के अंशकालिक 32022 अनुदेशकों की संविदा पर नियुक्ति शुरू होने के लिए बीपीएड डिग्री धारकों की निगाहें टिकी हुईं हैं।

May 24, 2017







सपा शासन काल में बीपीएड संघर्ष मोर्चा के सदस्यों के ऊपर दर्ज मुकदमे हटवाने की माँग मुख्यमन्त्री से।
➡उसके बाद माननीय मुख्यमन्त्री योगी जी से बेरोजगार बीपीएड धारकों ने आशिर्वाद के रुप मे 32022 अनुदेशक भर्ती पर से रोक हटवाने के लिए विशेष आग्रह किया।
➡बेसिक शिक्षा परिषद के उच्च प्राथमिक विद्यालयों में खेलकूद तथा शारीरिक शिक्षा के अंशकालिक 32022 अनुदेशकों की संविदा पर नियुक्ति शुरू होने के लिए बीपीएड डिग्री धारकों की निगाहें टिकी हुईं हैं।
===================================
➡बीपीएड डिग्री धारक अनुदेशक भर्ती को शुरू करवाने के लिए सीधे माननीय मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथ जी से माँग करने आज लखनऊ पहुँचे थे ।
🎯बेसिक शिक्षा परिषद के उच्च प्राथमिक विद्यालयों में खेलकूद तथा शारीरिक शिक्षा के अंशकालिक 32022 अनुदेशकों की संविदा पर नियुक्ति शुरू होने के लिए बीपीएड डिग्री धारकों की निगाहें टिकी हैं।
➡बेसिक शिक्षा परिषद के उच्च प्राथमिक विद्यालयों में खेलकूद तथा शारीरिक शिक्षा के अंशकालिक 32022 अनुदेशकों की संविदा पर नियुक्ति शुरू होने के लिए बीपीएड डिग्री धारकों की निगाहें टिकी हैं। इसका आदेश शासन ने 19 सितंबर 2016 को जारी किया, इसके एक माह बाद भर्ती के लिए 24 अक्टूबर से वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन लिए गए। उस समय नोटबंदी के कारण बैंकों से पर्याप्त सहयोग न मिलने पर परिषद ने ई-चालान से शुल्क जमा करने एवं आवेदन की मियाद बढ़ाई। इससे दावेदारों की संख्या तेजी से बढ़ी। भर्ती के लिए एक लाख 54 हजार 216 ने आवेदन किया है। इसमें 8625 दिव्यांग आवेदक भी हैं। वहीं बीते 28 से 30 नवंबर तक अभ्यर्थियों ने ऑनलाइन आवेदन में संशोधन किया है, इसी के साथ पहला चरण पूरा हो गया है।
अब दूसरे चरण में काउंसिलिंग की प्रक्रिया शुरू होनी है। ऑनलाइन आवेदन में संशोधन हुए चार माह बीत बीत चुके हैं लेकिन काउंसिलिंग की तारीख भी तय कर दी गयी लेकिन सरकार बदलने के कारण शासन ने रोक लगा दी है। विधानसभा चुनाव को देखते हुए आवेदकों में यह चर्चा तेज थी कि भर्ती में कहीं आचार संहिता आड़े न आ जाए। भले ही चुनाव आयोग ने नियुक्तियां रोकी नहीं, लेकिन शासन ने काउंसिलिंग कराने का निर्देश भी नहीं दिया जिससे आवेदकों में मायूसी भी छायी रही। अब आवेदकों ने सीधे मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथ जी से भर्ती प्रक्रिया शुरू करवाने की माँग करने जा रहे हैं।जिससे अनुदेशकों की भर्ती प्रक्रिया का दूसरा चरण शुरू होगा।


Share this

Related Posts

Previous
Next Post »