��हलचल एक नाम विश्वास का ��शिक्षा विभाग की समस्त खबरें एवं आदेश सबसे तेज एवं सबसे विश्वसनीय सिर्फ हलचल पर - सौरभ त्रिवेदी

Breaking

Saturday, 17 June 2017

ALLAHABAD:बोर्ड की करतूत, कलंक कॉलेज पर लगा दिया, लेकिन जाँच में खुली फर्जी कलंक की पोल 🎯दुनिया के सबसे बड़े शिक्षा बोर्ड में शुमार यूपी बोर्ड ने गलती करने के बडे रिकॉर्ड में हुआ शामिल 🎯10वीं में तीन व 12वीं में पांच विषयों के अंक दर्ज करना ही भूल गया बोर्ड। 🎯एक कॉलेज के 239 परीक्षार्थियों का रिजल्ट शून्य, पूरा मामला चंद्रशेखर आजाद इंटर कालेज पूरबनारा इलाहाबाद के परीक्षार्थियों के साथ घटित हुई है।

बोर्ड की करतूत, कलंक कॉलेज पर लगा दिया, लेकिन जाँच में खुली फर्जी कलंक की पोल
🎯दुनिया के सबसे बड़े शिक्षा बोर्ड में शुमार यूपी बोर्ड ने गलती करने के बडे रिकॉर्ड में हुआ शामिल
🎯10वीं में तीन व 12वीं में पांच विषयों के अंक दर्ज करना ही भूल गया बोर्ड।
🎯एक कॉलेज के 239 परीक्षार्थियों का रिजल्ट शून्य, पूरा मामला चंद्रशेखर आजाद इंटर कालेज पूरबनारा इलाहाबाद के परीक्षार्थियों के साथ घटित हुई है।
धर्मेश अवस्थी
राज्य ब्यूरो इलाहाबाद।दुनिया के सबसे बड़े शिक्षा बोर्ड में शुमार यूपी बोर्ड ने गलती करने का भी बड़ा रिकॉर्ड बनाया है। हाईस्कूल-इंटर के रिजल्ट में आमतौर पर कॉलेजों के कुछ उत्तीर्ण परीक्षार्थी भूल से अनुत्तीर्ण हो जाते रहे हैं लेकिन, इस बार यूपी बोर्ड ने एक ही कॉलेज के सभी 239 परीक्षार्थियों का रिजल्ट शून्य कर दिया है। खास बात यह है कि परीक्षार्थी कॉलेज में पढ़ाई न होने से फेल नहीं हुए हैं और न ही उन्होंने परीक्षा छोड़ी है, बल्कि बोर्ड रिजल्ट तैयार करते समय उनके अंक दर्ज करना ही भूल गया।यह बड़ी चूक बोर्ड मुख्यालय से चंद किलोमीटर की दूरी पर स्थित चंद्रशेखर आजाद इंटर कॉलेज पूरबनारा इलाहाबाद के परीक्षार्थियों के साथ हुई है। यहां इंटर के 104 में से 100 व हाईस्कूल के 145 में से 139 परीक्षार्थियों ने जवाहरलाल नेहरू महाविद्यालय न्यायीपुर चौबारा इलाहाबाद में इम्तिहान दिया। बीते नौ जून को हाईस्कूल व इंटर का एक साथ रिजल्ट आया तो यहां का एक भी छात्र उत्तीर्ण नहीं हुआ। यह परिणाम कॉलेज के लिए किसी सदमे से कम नहीं था, साथ ही वर्षो पुरानी शैक्षिक संस्था को शर्मसार भी कर गया। इसीलिए हाईस्कूल के परीक्षार्थी सतीश यादव ने गुस्से में आकर अपना सिर फोड़ लिया। अभिभावक व परीक्षार्थी कॉलेज प्रबंधन पर खफा थे तो शिक्षक परीक्षा परिणाम को देखकर हैरान रह गए।


Adbox