��हलचल एक नाम विश्वास का ��शिक्षा विभाग की समस्त खबरें एवं आदेश सबसे तेज एवं सबसे विश्वसनीय सिर्फ हलचल पर - सौरभ त्रिवेदी

Breaking

Latest Update

सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा 2018 में ऑनलाइन फॉर्म भरने हेतु समस्त दिशा निर्देशों को पढ़ते हुए यहां से फॉर्म भरें

  Step I आवेदन पत्र भरने हेतु महत्त्वपूर्ण दिशा निर्देश (ऑनलाइन आवेदन करने से पूर्व दिशा निर्देश ध्यान पूर्वक पढ़ लें एवं आवेदन के प्रारूप को...

TOP 5 ORDERS ( महत्वपूर्ण 5 हलचलें )

Thursday, 15 June 2017

तबादले की नई नीति लगेगा तगड़ा झटकाआबकारी में अब उखड़ेंगे अंगद के पांव

तबादले की नई नीति लगेगा तगड़ा झटका

आबकारी में अब उखड़ेंगे अंगद के पांव

जासं, इलाहाबाद : योगी सरकार ने स्वास्थ्य, आबकारी एवं बेसिक शिक्षा सहित कई विभागों में लंबे अरसे से एक ही जगह जमे कर्मचारियों एवं अधिकारियों के लिए नई तबादला नीति जारी कर दी है। अब विभाग में ऐसे लोगों को जल्दी ही तगड़ा झटका लगने वाला है, जो लंबे अर्से से एक ही जगह पर टिके हैं। 1चिकित्सकों में मची खलबली : प्रदेश की बिगड़ी स्वास्थ्य सेवाओं को पटरी पर लाने के लिए योगी सरकार की ओर से बनाई गई नई तबादला नीति से पूरे स्वास्थ्य महकमें में खलबली है। इस नीति के घेरे में नए व पुराने चिकित्सकों आएंगे। माना जा रहा है कि एक माह में कार्यवाही पूरी कर ली जाएगी। जिला अस्पताल, समेत अन्य सरकारी अस्पतालों में सबसे ज्यादा कमी स्पेशलिस्ट डाक्टर्स की रही है। इलाहाबाद मंडल के चार जनपदों में कुल 751 चिकित्सक हैं। इनमें प्रतापगढ़ सबसे ज्यादा चिकित्सकों की कमी से जूझ रहा है यहां 133 चिकित्सकों के पद खाली हैं। जब कि इलाहाबाद में 62, फतेहपुर में 33, कौशांबी में 14 चिकित्सकों की कमी लगातार बनी हुई है। 1आठ- आठ साल से एक ही स्थान में जमें हैं चिकित्सक : प्रदेश सरकार ने हर जिले की स्वास्थ्य ग्रेडिंग बनाई है। इसमें इलाहाबाद को ए, जबकि प्रतापगढ़ और फतेहपुर को बी और कौशांबी को सी ग्रेड में रखा गया है। इन जिलो में सबसे अधिक फतेहपुर और कौशांबी में आठ- आठ साल से चिकित्सक एक ही स्थान में जमे हुए हैं। कहीं- कहीं जुगाड़ से चिकित्सकों ने दोबारा उसी स्थान में तैनाती कराई जहां वह पहले भी तैनाती पा चुके हैं। प्रतापगढ़ और इलाहाबाद में भी जुगाड़ सिस्टम में चिकित्सक पीछे नही रहे हैं। मंडल के चार जिलों में दौ सौ से अधिक चिकित्सकों पर तबादले की सीधे गाज गिरती दिख रही है। गैर जनपद जाने में शासन की अधिक वेतन देने की योजना भी कितना कारगर होगी यह बड़ा सवाल है, लेकिन शासन की इस नीति ने प्रदेश के चिकित्सकों की नींद उड़ा दी है। 1शासन से मांगा जाने वाला डाटा भेजेंगे : एडी स्वास्थ्य इलाहाबाद मंडल बीपी सिंह ने कहा कि शासन स्तर से मांगी जाने वाली जानकारी भेजी जाएगी । कहा कि तबादला नीति से ऐसे स्थानों में भी चिकित्सक पहुंचेगे, जहां पर चिकित्सक तैनात ही नही हैं। 

Adbox