New

डी० एल० एड० ( पूर्व प्रचलित नाम बी० टी० सी० ) प्रशिक्षण- 2016 के लिये ऑनलाइन आवेदन प्रारम्भ, समस्त नियम शर्ते अर्हता आदि को पढ़ते समझते हुए यहां से आवेदन करें

डी० एल० एड० ( पूर्व प्रचलित नाम बी० टी० सी० ) प्रशिक्षण- 2016 परीक्षा नियामक प्राधिकारी, इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश STEP 1 आवेदन पत्र भर...

Sunday, 16 July 2017

ALLAHABAD:कवायद:जिले के अंदर व बाहर के तबादले ऑनलाइन🎯बेसिक शिक्षकों का सैलरी डाटा फीड व दुरुस्त कराने पर जोर 🎯जिलों में चल रहे ऑफलाइन समायोजन पर भी कड़ी नजर

कवायद:जिले के अंदर व बाहर के तबादले ऑनलाइन
🎯बेसिक शिक्षकों का सैलरी डाटा फीड व दुरुस्त कराने पर जोर
🎯जिलों में चल रहे ऑफलाइन समायोजन पर भी कड़ी नजर

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षकों का जिले के अंदर व अंतर जिला तबादला प्रक्रिया ऑनलाइन ही होगी। जिन जिलों ने शिक्षकों का सैलरी डाटा अभी फीड नहीं कर पाए हैं या फिर उनमें कमियां हैं उसे दुरुस्त करने के निर्देश दिए जा रहे हैं। वहीं, जिलों में ऑफलाइन समायोजन पर भी अफसरों की कड़ी निगाह है, जिन जिलों की शिकायतें ऊपर पहुंचेंगी उन पर सख्त कार्रवाई करने की तैयारी है। 1परिषद के प्राथमिक, उच्च प्राथमिक विद्यालयों के शिक्षकों जिलों में इन दिनों समायोजन हो रहा है। एकाएक यह कार्य ऑफलाइन कराना पड़ा है, क्योंकि शिक्षकों का सैलरी डाटा समय पर वेबसाइट पर अपलोड नहीं हो सका है, जिन जिलों ने कार्य पूरा भी कर लिया है, उनमें तमाम कमियां हैं। इस कार्य को प्राथमिकता के आधार पर पूरा करने के निर्देश दिए जा रहे हैं, यह भी कहा जा रहा है कि एक भी डाटा गलत दर्ज नहीं होना चाहिए। असल में बेसिक शिक्षा के अफसर जिले के अंदर व अंतर जिला तबादला किसी भी दशा में ऑफलाइन नहीं होने देंगे, समायोजन प्रक्रिया के साथ ही कार्य पूरा करने का लक्ष्य है। हालांकि जिलों की अधिकांश टीमें शिक्षकों के समायोजन में ही जूझ रही हैं। यही नहीं, ऑफलाइन समायोजन में मनमानी न होने पाए इसके लिए गुपचुप विशेष निगरानी की जा रही है। जहां गड़बड़ी की शिकायतें होंगी वह बेसिक शिक्षा अधिकारी कटघरे में होंगे और प्रकरण गंभीर होने पर कार्रवाई भी करने की तैयारी है। बेसिक शिक्षा के अपर मुख्य सचिव राज प्रताप सिंह ने शुक्रवार को ही समायोजन को लेकर वीडियो कांफ्रेंसिंग में तमाम नए निर्देश दिए हैं, ताकि कोई गफलत न रहें। हर उच्च प्राथमिक स्कूलों में भाषा के साथ ही विज्ञान व गणित का शिक्षक रहेगा, वहीं जूनियर स्कूल के शिक्षक को प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक पद पर समायोजित किया जा सकता है लेकिन, उसे विकासखंड से बाहर नहीं भेजा जाएगा। समायोजन में यह निर्देश है कि शिक्षकों को अनायास परेशानी न हो, इस कार्य मकसद एकल व बंद स्कूलों को संचालित करना ही है। कुछ जिलों में छात्र संख्या का मानक बदलने की भी चर्चा तेज है लेकिन, इस संबंध में विभाग की ओर से कोई नया निर्देश जारी नहीं हुआ है। हर शिक्षक की तैनाती आरटीई मानक के अनुरूप करने का निर्देश है।


Blog Archive

Blogroll

Recommended Posts × +