शिक्षा महकमे में खाली पदों की भरमारशिक्षा निदेशालय से पद भरने के लिए कई बार सूचनाएं मांगी जा चुकी हैं, लेकिन कुछ ही पदों को भरा जा सका, अधिकांश अब भी खाली पड़े

July 04, 2017
Advertisements

शिक्षा महकमे में खाली पदों की भरमार

शिक्षा निदेशालय से पद भरने के लिए कई बार सूचनाएं मांगी जा चुकी हैं, लेकिन कुछ ही पदों को भरा जा सका, अधिकांश अब भी खाली पड़े

इलाहाबाद : माध्यमिक शिक्षा का नया सत्र शनिवार से शुरू हो गया है। छात्र-छात्रओं को प्रवेश देने की प्रक्रिया भी चल पड़ी है। कालेजों में शिक्षकों की पहले से कमी है, ग्रामीण क्षेत्रों में तो चंद शिक्षक विद्यालय का जैसे-तैसे
संचालन करेंगे, वहीं इन विद्यालयों की निगरानी करने वाले अफसरों की भी बड़े पैमाने पर कमी है। ऊपर से नीचे तक हर संवर्ग में रिक्त पदों की संख्या लगातार बढ़ रही है।

शिक्षा निदेशालय से पद भरने के लिए कई बार सूचनाएं मांगी जा चुकी हैं, लेकिन कुछ ही पदों को भरा जा सका, अधिकांश अब भी खाली पड़े हैं। तमाम अहम पदों को प्रभारी और कार्यवाहक के भरोसे संचालित किया जा रहा है। निदेशालय पदोन्नति के लिए अर्ह अधिकारियों की रिपोर्ट लगातार भेज रहा है। यह प्रकरण कैंप कार्यालय में डंप हो रहे हैं।

शिक्षा निदेशक जैसा अहम पद चार महीने से रिक्त है, अपर शिक्षा निदेशक के तीन पदों को नियमित अफसरों का इंतजार है और दो पद चार महीने बाद और खाली हो रहे हैं। ज्ञात हो कि एडी माध्यमिक रमेश और एडी महिला शैल कुमारी यादव अक्टूबर में सेवानिवृत्त होंगे। खाली पदों से जूझने वाले महकमे ने आश्चर्यजनक तरीके से माध्यमिक शिक्षा के तमाम अफसरों को बेसिक शिक्षा में भेज दिया है।

Advertisements

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »

Related Ads