इलाहाबाद:यूपी बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव को माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड उप्र के सचिव का भी अतिरिक्त प्रभार मिला 🎯सूत्रों के अनुसार 21 अगस्त के आसपास चयन बोर्ड के सभी पांच सदस्य अपना त्यागपत्र शासन के अफसरों को सौंप सकते हैं।

August 17, 2017
Advertisements

यूपी बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव को माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड उप्र के सचिव का भी अतिरिक्त प्रभार मिला
🎯सूत्रों के अनुसार 21 अगस्त के आसपास चयन बोर्ड के सभी पांच सदस्य अपना त्यागपत्र शासन के अफसरों को सौंप सकते हैं।

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद। यूपी बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव को माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड उप्र के सचिव का अतिरिक्त प्रभार मिला है। शासन ने यह कदम चयन बोर्ड में अभिलेख बदलने की शिकायत मिलने के बाद उठाया है। जल्द ही नीना श्रीवास्तव चयन बोर्ड सचिव का भी कार्यभार ग्रहण कर लेंगी। उन्होंने कहा कि अभिलेख बदलने की सूचना महज अफवाह रही है, कार्यालय के अभिलेख बदल पाना संभव नहीं है। चयन बोर्ड में 2011 प्रवक्ता व स्नातक शिक्षक यानी पीजीटी-टीजीटी के विभिन्न विषयों के महत्वपूर्ण अभिलेख रखे हैं। 2013 के जिन अभ्यर्थियों का चयन हो चुका है वह अभिलेख भी यही रखे गए हैं। पिछले दिनों शासन को सूचना मिली कि कुछ अराजक लोग रिकॉर्ड से छेड़छाड़ कर रहे हैं इस पर शिक्षा विभाग, पुलिस व प्रशासन की टीम ने पूरे कार्यालय को निरीक्षण किया था, जिसमें सब दुरुस्त मिला था। इसके बाद सतर्क शासन ने यहां सचिव पद पर यूपी बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव की तैनाती कर दी है। वह पहले भी यहां कई पदों पर कार्य कर चुकी हैं। चयन बोर्ड सचिव का कार्य इधर एक पखवारे से खाली था। पूर्व सचिव रूबी सिंह का तबादला बेसिक शिक्षा में अपर निदेशक पद पर हो चुका है। उसके बाद उप सचिव नवल किशोर को सचिव का कार्यभार सौंपा गया था। आदेश जारी होने के बाद नीना श्रीवास्तव के गुरुवार को अतिरिक्त प्रभार ग्रहण करने की उम्मीद है। चयन बोर्ड के अफसरों के अनुसार वहां रखे रिकॉर्ड को बदलने किसी के बस में नहीं है। यहां पर 24 घंटे सुरक्षा का घेरा है। पूरे परिसर में 16 सीसीटीवी कैमरे लगे हैं, जो पूरे समय संचालित रहते हैं। जिन कमरों में अभिलेख हैं वह अलग से सीलबंद किए गए हैं।’
📚यूपी बोर्ड की सचिव को माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन  यूपी बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव को माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड उप्र के सचिव का अतिरिक्त प्रभार मिला का भी दायित्व
चयन बोर्ड में अभिलेख बदलने की शिकायत के बाद शासन का निर्णयसदस्यों पर टिका नया आयोग।
माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड उप्र और उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग उप्र के विलय की प्रक्रिया इस समय चयन बोर्ड के सदस्यों के इस्तीफे पर अटक गई है। माना जा रहा है कि इनका इस्तीफा होने के बाद ही कार्यवाही आगे बढ़ेगी। सूत्रों के अनुसार 21 अगस्त के आसपास चयन बोर्ड के सभी पांच सदस्य अपना त्यागपत्र शासन के अफसरों को सौंप सकते हैं।


Advertisements

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »

Related Ads