इलाहाबाद:स्कूल बंद होने पर शिक्षकों पर कठोर कार्रवाई 📣बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव संजय सिन्हा ने सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों को आदेश दिया है कि अब परिषदीय स्कूलों में समय सारिणी के अनुरूप पढ़ाई हर हाल में कराई जाए। सभी अध्यापक समय से स्कूल पहुंचे और अपने दायित्वों का पालन करें। इसकी नियमित मॉनीटरिंग की जाए। 🎯सूबे के हर जिले में तालाबंदी और प्रदर्शन कई दिनों से चल रहा था, मुख्यमंत्री और शासन की पहल के बाद अब आंदोलन पर विराम लगा है।

August 03, 2017

स्कूल बंद होने पर शिक्षकों पर कठोर कार्रवाई
📣बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव संजय सिन्हा ने सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों को आदेश दिया है कि अब परिषदीय स्कूलों में समय सारिणी के अनुरूप पढ़ाई हर हाल में कराई जाए। सभी अध्यापक समय से स्कूल पहुंचे और अपने दायित्वों का पालन करें। इसकी नियमित मॉनीटरिंग की जाए।
🎯सूबे के हर जिले में तालाबंदी और प्रदर्शन कई दिनों से चल रहा था, मुख्यमंत्री और शासन की पहल के बाद अब आंदोलन पर विराम लगा है।

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में इधर पठन-पाठन प्रभावित हो रहा है। पहले शिक्षकों के समायोजन और फिर शिक्षामित्रों के आंदोलन से पढ़ाई ठप रही है। अब उसे फिर से पटरी पर लाने के कड़े निर्देश जारी हुए हैं। प्रदेश में कोई भी स्कूल बंद मिलने पर वहां के शिक्षक या शिक्षिका पर कठोर कार्रवाई करने का आदेश जारी किया गया है। साथ ही विभागीय अफसर अब तेजी से विद्यालयों का निरीक्षण करेंगे। शीर्ष कोर्ट के आदेश के बाद सहायक अध्यापक पद पर नियुक्त शिक्षामित्रों का समायोजन रद हो चुका है। इसके बाद से सूबे के हर जिले में तालाबंदी और प्रदर्शन कई दिनों से चल रहा था, मुख्यमंत्री और शासन की पहल के बाद अब आंदोलन पर विराम लगा है। इसके बाद से शिक्षा महकमे के अफसर स्कूलों में पठन-पाठन के लिए सक्रिय हो गए हैं। बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव संजय सिन्हा ने सभी बेसिक शिक्षा अधिकारियों को आदेश दिया है कि अब परिषदीय स्कूलों में समय सारिणी के अनुरूप पढ़ाई हर हाल में कराई जाए। सभी अध्यापक समय से स्कूल पहुंचे और अपने दायित्वों का पालन करें। इसकी नियमित मॉनीटरिंग की जाए। कोई भी विद्यालय बंद न रहे यदि कहीं स्कूल बंद होने की नौबत आती है तो वहां के शिक्षक या फिर शिक्षिका पर कठोर कार्रवाई करके परिषद को भी अवगत कराया जाए। इसके पहले अपर मुख्य सचिव राज प्रताप सिंह ने भी डीएम को पत्र भेजकर पढ़ाई का निर्देश दिया था।


Share this

Related Posts

Previous
Next Post »