लखनऊ:शिक्षामित्रों का लखनऊ में सत्याग्रह आज से 🎯मांगों के समर्थन में लखनऊ रवाना हुए शिक्षामित्र

August 21, 2017




शिक्षामित्रों का लखनऊ में सत्याग्रह आज से
🎯मांगों के समर्थन में लखनऊ रवाना हुए शिक्षामित्र

राज्य ब्यूरो, लखनऊ : समायोजन रद होने से भड़के शिक्षामित्र सोमवार से राजधानी के लक्ष्मण मेला मैदान में समायोजित शिक्षक शिक्षामित्र संघर्ष मोर्चा के बैनर तले अनिश्चितकालीन सत्याग्रह आंदोलन छेड़ेंगे। शिक्षामित्रों के आंदोलन को उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ, जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ, उप्र माध्यमिक शिक्षक संघ, कर्मचारी शिक्षक समन्वय समिति, भारतीय किसान यूनियन जैसे संगठनों ने समर्थन देने का एलान किया है। कई मोचरे पर जूझ रही सरकार के लिए शिक्षामित्रों के आंदोलन ने चुनौती बढ़ा दी है। 1आंदोलन को धार देने के लिए शिक्षामित्रों को दो बड़े गुट आदर्श शिक्षामित्र वेलफेयर एसोसिएशन और उप्र प्राथमिक शिक्षामित्र वेलफेयर एसोसिएशन ने साझा संघर्ष मोर्चा बनाया है। शिक्षामित्रों की मांग है कि सरकार संशोधित अध्यादेश लाकर उन्हें फिर से सहायक अध्यापक के पद पर समायोजित करे। तब तक ‘समान कार्य के लिए समान वेतन’ के सिद्धांत पर उन्हें शिक्षकों के बराबर तनख्वाह दी जाए। आंदोलन के लिए लक्ष्मण मेला मैदान पर रविवार शाम से ही शिक्षामित्रों का जुटना शुरू हो चुका है। आदर्श शिक्षामित्र वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष जितेंद्र शाही ने बताया कि सोमवार को हजरतगंज स्थित गांधी प्रतिमा पर माल्यार्पण के बाद सत्याग्रह शुरू होगा। 1शिक्षामित्रों के नेता गाजी इमाम आला और शाही ने कहा कि शिक्षामित्रों को शिक्षक बनाए जाने तक आंदोलन जारी रहेगा। शिक्षामित्रों की मांगें न मानने के लिए उन्होंने सरकार को जिम्मेदार ठहराया। कहा कि मुख्यमंत्री से आश्वासन मिलने के बाद शिक्षामित्रों ने अपना आंदोलन 15 दिनों के लिए स्थगित कर दिया लेकिन, सरकार ने इस बीच समस्या का कोई हल नहीं निकाला।इलाहाबाद : अपनी मांगों के समर्थन में शिक्षामित्रों ने लखनऊ की तरफ रुख कर लिया है। आदर्श समायोजित शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन के मंडलीय मंत्री शारदा शुक्ला ने सभी जिला पदाधिकारियों व ब्लॉक पदाधिकारियों की आवश्यक बैठक बुलाकर लखनऊ अधिक से अधिक संख्या में पहुंचने की अपील की। उन्होंने शिक्षामित्रों से कहा कि यह आंदोलन हमारे जीवन-मरण से जुड़ा हुआ है। इसलिए इसे हमें ईमानदारी से लड़नी होगी। आश्वस्त किया कि हमारी जीत होगी। सरकार को हमारी मांगें माननी होंगी। जिलाध्यक्ष अश्वनी त्रिपाठी, मोहम्मद अख्तर, अरुण सिंह, विनय पांडेय, शमीम, सुभाष चंद्र यादव, संतोष यादव, प्रदीप पाल व अभिनव आदि रहे।


Share this

Related Posts

Previous
Next Post »