इलाहाबाद:जिले के अंदर तबादलों का सत्यापन चार अगस्त तक 🎯अब शिक्षक दिवस के बाद ही जिले के अंदर तबादलों की अंतिम सूची जारी हो सकेगी, क्योंकि सत्यापन रिपोर्ट आने के बाद परिषद उसकी जांच करेगी, तब वेबसाइट पर तबादला लिस्ट जारी की जाएगी। 🎯यह प्रक्रिया दस सितंबर के पहले पूरा होने के आसार नहीं है।

September 01, 2017

जिले के अंदर तबादलों का सत्यापन चार अगस्त तक
🎯अब शिक्षक दिवस के बाद ही जिले के अंदर तबादलों की अंतिम सूची जारी हो सकेगी, क्योंकि सत्यापन रिपोर्ट आने के बाद परिषद उसकी जांच करेगी, तब वेबसाइट पर तबादला लिस्ट जारी की जाएगी।
🎯यह प्रक्रिया दस सितंबर के पहले पूरा होने के आसार नहीं है।

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : कार्य तेजी से व समय पर करने के साथ ही उसे पारदर्शी तरीके से करने के लिए विभिन्न महकमे तकनीक का सहारा ले रहे हैं लेकिन, उसमें भी लेटलतीफी जारी है। परिषदीय विद्यालयों में शिक्षकों के तबादलों में वेबसाइट ठीक से न चलने के कारण जिले के अंदर तबादला आवेदनों के सत्यापन की समय सीमा बढ़ा दी गई है। बीएसए अब चार सितंबर तक रिपोर्ट परिषद मुख्यालय पर भेजेंगे। 1बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक विद्यालयों के शिक्षकों का जिले के अंदर तबादले के लिए ऑनलाइन आवेदन लिए जा चुके हैं। बेसिक शिक्षा अधिकारियों को सभी आवेदनों का सत्यापन 31 अगस्त तक करके मुख्यालय पर भेजना था लेकिन, एनआइसी की वेबसाइट सही से काम न करने के कारण जिलों में सत्यापन पूरा नहीं हो सका है। इलाहाबाद, आजमगढ़, जौनपुर, फैजाबाद जैसे जिलों में आवेदकों की संख्या काफी अधिक है उन जिलों में सभी आवेदनों का सत्यापन दो दिन में पूरा करना संभव नहीं था। ज्ञात हो कि जिले के अंदर तबादले के लिए कुल 78 हजार से अधिक आवेदन हुए हैं। तमाम बीएसए ने इस समस्या से परिषद मुख्यालय को अवगत कराया। 1इस पर परिषद सचिव संजय सिन्हा ने आवेदनों के सत्यापन की समय सीमा बढ़ाकर चार सितंबर कर दी है। सिन्हा ने वरिष्ठ तकनीकी निदेशक को भेजे पत्र में लिखा है कि तकनीकी समस्या के कारण सत्यापन की समय सीमा बढ़ानी पड़ रही है। इसे वेबसाइट पर प्रदर्शित कर दें, ताकि सभी बीएसए तय समय पर कार्य पूरा कर सकें। अब शिक्षक दिवस के बाद ही जिले के अंदर तबादलों की अंतिम सूची जारी हो सकेगी, क्योंकि सत्यापन रिपोर्ट आने के बाद परिषद उसकी जांच करेगी, तब वेबसाइट पर तबादला लिस्ट जारी की जाएगी। यह प्रक्रिया दस सितंबर के पहले पूरा होने के आसार नहीं है।


Share this

Related Posts

Previous
Next Post »