फैजाबाद:पद की लोलुपता के चक्कर मे पेंशन विहीन शिक्षकों को किया दरकिनार।

September 29, 2017
Advertisements

फैजाबाद:पेंशन विहीन शिक्षकों ने प्राथमिक शिक्षक संघ का किया बहिष्कार


अवगत हो कि पुरानी पेंशन बहाली का आन्दोलन बहुत तेजी से चल रहा है जो कि अटेवा-पुरानी पेंशन बचाओ मंच उत्तर प्रदेश द्वारा चलाया जा रहा है।अटेवा आन्दोलन है जिसमे सभी शिक्षकों/कर्मचारियों को जोड़ने का कार्य किया जा रहा है ।जिसका एक मात्र उद्देश्य-पुरानी पेंशन बहाली ही है।अटेवा कोई शिक्षक संगठन नही है यह 1 अप्रैल 2005 के बाद नियुक्त सभी विभागों के कर्मचारियों को जोड़कर पुरानी पेंशन की मांग कर रहा है।अटेवा के साथियों की सक्रियता और जबरदस्त मेहनत को देखते हुए अपनी कुर्सी जाने के खतरा देखकर हैरान व परेशान हैं।आपको ज्ञात हो कि फैज़ाबाद में लगभग 78% शिक्षक नई पेंशन योजना के अंतर्गत हैं। जनपद फैज़ाबाद में उ0प्र0 प्राथमिक शिक्षक संघ जनपद इकाई फैज़ाबाद के जिलाध्यक्ष श्री नीलमणि त्रिपाठी एवं उनकी कार्यकारिणी ने 22 सिंतबर को एक पत्र जारी करके अन्य शिक्षक संगठनों से जुड़े सदस्यों और पदाधिकारियों प्राथमिक शिक्षक संघ की सदस्यता लेने पर रोक लगा दी है।जिसमे अटेवा को प्रथम स्थान पर रखा गया है।गौरतलब है कि इनके पत्र जारी करने से इनके ही शिक्षक संघ के कई पदाधिकारी में नाराजगी व्याप्त है।आपको अवगत हो कि अटेवा कोई शिक्षक संगठन नही है यह एक आन्दोलन है जो पुरानी पेंशन के लिए संघर्षरत है। जनपद फैज़ाबाद में शिक्षक संघ ने किसी भी समस्या के समाधान के लिए होने वाले धरना प्रदर्शन में अपने आपको सबसे बड़े शिक्षक हितैषी के रूप में बताते हैं फिर भी उन्ही अपने पेंशन विहीन साथियों का विरोध करते हैं। जबकि 22 व 23 अगस्त 2017 को उ0प्र0 प्राथमिक शिक्षक संघ उत्तर प्रदेश द्वारा जनपद स्तरीय जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय फैज़ाबाद पर हुए धरने में शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष नीलमणि त्रिपाठी ने जिले के शिक्षको को संबोधित करते हुए उनकी पेंशन बहाली के मुद्दे पर पूरा सहयोग करने की बात कही थी लेकिन आज उन्ही पेंशन विहीन साथियों को दरकिनार किया जा रहा है।यह दोहरी नीति अपनायी जा रही है।जिससे सभी पेंशन विहीन शिक्षकों में रोष है।सभी ने इनका बहिष्कार करने का निर्णय लिया है साथ ही यह भी कहा कि होने वाले ब्लॉक स्तरीय एवं जिला स्तरीय चुनाव में ऐसे शिक्षक नेताओं को समर्थन दिया जाएगा जो खुलकर पुरानी पेंशन बहाली के समर्थन करेंगे।


Advertisements

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »

Related Ads