कैबिनेट के फैसले प्राइमरी टीचर बनने को देनी होगी लिखित परीक्षा 60% लिखित व 40% अकेडमिक अंकों के गुणांक से बनेगी मेरिट शिक्षामित्रों को 25 अंक का वेटेज

September 27, 2017

कैबिनेट के फैसले

प्राइमरी टीचर बनने को देनी होगी लिखित परीक्षा

60% लिखित व 40% अकेडमिक अंकों के गुणांक से बनेगी मेरिट

शिक्षामित्रों को 25 अंक का वेटेज

संशोधित नियमावली के तहत शिक्षामित्रों को शिक्षक भर्ती में 25 अंक तक का वेटेज मिलेगा। 60 साल तक की उम्र वाले शिक्षामित्र भर्ती प्रक्रिया में शामिल हो सकेंगे, लेकिन उनका टीईटी पास होना जरूरी होगा। उन्हें 2.5 अंक प्रति शैक्षणिक अनुभव वर्ष के हिसाब से वेटेज मिलेगा, जो अधिकतम 25 अंकों तक हो सकेगा। वेटेज का लाभ दो क्रमिक भर्तियों में ही मिलेगा। 

कैबिनेट ने प्राइमरी स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता के लिए शिक्षक की जिम्मेदारी तय करने के लिए आरटीई नियमावली में बदलाव किया है। अब कक्षा और विषय के हिसाब से प्राइमरी में लर्निंग आउटकम तय किया जाएगा। इस आउटकम के हिसाब बच्चों की प्रगति और शिक्षकों की जवाबदेही तय होगी। नियम 7 व 23 में संशोधन के जरिए बच्चों के प्रदर्शन को शिक्षकों की प्रगति से जोड़ दिया गया है। वहीं, जिस धारा के तहत शिक्षामित्रों को बिना टीईटी शिक्षक बनने की छूट दी गई थी उसे भी खत्म कर दिया गया है। सूत्रों की मानें तो निजी स्कूलों में दाखिले के लिए पास-पड़ोस के स्कूल की सीमा पर फैसला नहीं हो सका।
खेत के पेड़ काट सकेंगे किसान

लखनऊ : अब यूपी के किसान अपने खेत में लगे हुए पेड़ आसानी से काट सकेंगे। कैबिनेट बैठक में सरकार ने इसके लिए वन नीति 2017 को मंजूरी दे दी है। अब तक किसानों को अपने ही खेत में लगाए हुए पेड़ भी काटने की अनुमति नहीं मिलती थी। अन्य फैसले

बच्चे पढ़ाई में पिछड़े  तो शिक्षक जिम्मेदार
शहरों में हाई-वे पर खुलेंगी शराब की दुकानें

लखनऊ : उत्तर प्रदेश सरकार ने मंगलवार को नैशनल व स्टेट हाई-वे पर शराब की दुकानें फिर से खोलने के आदेश जारी कर दिए। हाई-वे पर शराब की दुकानें नगर निकाय क्षेत्रों में ही खुल सकेंगी। अपर मुख्य सचिव दीपक त्रिवेदी ने मंगलवार को आबकारी आयुक्त से सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट लखनऊ खंडपीठ के आदेशों के मद्देनजर नगर निकायों की परिधि में आने वाले हाई-वे पर तत्काल शराब की दुकानें खुलवाने के निर्देश दिए हैं। शासनादेश में कहा गया है कि सुप्रीम कोर्ट और हाई कोर्ट के आदेशों से स्पष्ट होता है कि नगर निकायों की परिधि में ‘हाई-वे पर अब शराब बिक्री पर पाबंदी’ का नियम लागू नहीं होगा। 

साल से नकल की शिकायतों के कारण अकेडमिक मेरिट से भर्ती पर सवाल उठ रहे थे। ऐसे में सरकार ने भर्ती के लिए अब टीईटी पास करने के बाद एक और लिखित परीक्षा करवाने का फैसला किया है। राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद की ओर से लिखित परीक्षा के लिए न्यूनतम उत्तीर्ण अंक एवं परीक्षा संबंधी दिशा-निर्देश अलग से जारी किए जाएंगे। 

60% लिखित व 40% अकेडमिक अंकों के गुणांक से बनेगी मेरिट

• एनबीटी ब्यूरो, लखनऊ 

यूपी के प्राइमरी स्कूलों में अब सहायक शिक्षकों की भर्ती केवल अकेडमिक मेरिट पर नहीं होगी। प्रदेश सरकार इसके लिए राज्य स्तरीय लिखित परीक्षा करवाएगी। भर्ती के लिए जो मेरिट बनेगी उसमें लिखित परीक्षा के प्राप्तांकों का 60% और अकेडमिक अंकों का 40% वेटेज होगा। सीएम योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई कैबिनेट बैठक में यूपी बेसिक शिक्षा (अध्यापक) सेवा नियमावली-1981 में संशोधन को मंजूरी मिल गई। बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अनुपमा जायसवाल ने बताया कि 1.37 हजार पदों पर सहायक शिक्षकों की भर्ती होगी। 

शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू होने के बाद से प्राइमरी स्कूलों में भर्ती के लिए टीचर एलिजबिलटी टेस्ट (टीईटी) क्वॉलिफाई करना अनिवार्य है। उसके बाद हाईस्कूल से लेकर बीटीसी तक के प्राप्तांकों के आधार पर बनने वाली मेरिट से सहायक शिक्षकों की भर्ती होती थी। यूपी बोर्ड की परीक्षाओं में पिछले कई

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »