GORAKHPUR : सरकार से मानदेय तय होने के बाद , विरोध में उतरे शिक्षामित्र आज से कार्य बहिष्कार

September 07, 2017

शिक्षामित्रों का आंदोलन एक बार फिर शुरू हो गया है। इसबार वे मानदेय के विरोध में उतरे हैं। उनका आरोप है कि सरकार उनके साथ छल कर रही है। उन्हें दस हजार रुपये मानदेय स्वीकार नहीं है। 1जिले भर के सैकड़ों शिक्षामित्रों ने बुधवार को बीएसए कार्यालय पर प्रदर्शन किया। इस दौरान उन्होंने आदेश की प्रतियां भी जलाई। उनका आरोप है कि मुख्यमंत्री ने शिक्षामित्रों के साथ बैठक में मानदेय को स्वीकार नहीं किया था। मुख्यमंत्री ने समान कार्य और समान वेतन देने का आश्वासन दिया था। लेकिन सरकार अब 10 हजार रुपये देने की बात कर रही है, जो गलत है। यह सरकार की वादाखिलाफी है। 10 हजार रुपये का मानदेय शिक्षामित्रों को स्वीकार नहीं है। इसके लिए वे फिर से कार्य बहिष्कार कर आंदोलन करेंगे। सरकार शिक्षक दिवस पर शिक्षामित्रों का अपमान किया है। सरकार के इस फैसले से शिक्षामित्रों में घोर निराशा है। साथ ही आक्रोश भी बढ़ता जा रहा है। इस मौके पर रागिनी सिंह, वंदना पांडेय, शशि यादव, शालिनी यादव, अनुपमा पांडेय, सीमा सिंह, रजनी सिंह, विजय लक्ष्मी, मनोरमा, गदाधर दूबे, हुकुम चंद चौहान, अजय सिंह, अविनाश कुमार, दिग्विजय दूबे, लालधर निषाद, बेचन सिंह, राम भजन, अतुल राय, अमित राय, संजय यादव, शिवाजी मिश्र, जनार्दन कुशवाहा, लक्ष्मीनारायण, रणविजय दूबे, इंद्रेश भारती, नृपजीत शाही, राजीव गुप्ता, राजेश गौड़ और विनोद यादव आदि मौजूद थे।बीएसए कार्यालय पर धरना देते शिक्षामित्र alt146 जागरणalt146 काली पट्टी बांधकर बीएसए कार्यालय पर प्रदर्शन, जलाई आदेश की प्रतियां 

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »