हजारों मदरसों की मान्यता पर लटकी तलवार मदरसा शिक्षा परिषद ने डाटा अपलोड न करने वाले 14 हजार मदरसों की किस्मत का फैसला करने के लिए गेंद शासन के पाले में डाल दी

September 16, 2017
Advertisements

हजारों मदरसों की मान्यता पर लटकी तलवार

मदरसा शिक्षा परिषद ने डाटा अपलोड न करने वाले 14 हजार मदरसों की किस्मत का फैसला करने के लिए गेंद शासन के पाले में डाल दी

जासं, लखनऊ : प्रदेश के हजारों मदरसों की मान्यता पर तलवार लटकी है। उप्र मदरसा शिक्षा परिषद ने डाटा अपलोड न करने वाले 14 हजार मदरसों की किस्मत का फैसला करने के लिए गेंद शासन के पाले में डाल दी है। अंतिम तारीख तक मदरसा पोर्टल पर शिक्षकों की संख्या सहित अन्य विवरण ऑनलाइन न करने वाले मदरसों के खिलाफ बोर्ड ने एक प्रस्ताव बनाकर शासन को भेजा है। ऐसे में दो ही विकल्प है कि इन मदरसों को एक और मौका दिया जाएगा या फिर इनकी मान्यता निरस्त होगी।

व्यवस्था को पारदर्शी बनाने के लिए पिछले दिनों प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार मदरसा बोर्ड ने मदरसा पोर्टल ेंि12ंङ्गं1.ि4स्र2ङ्घि¬5.्रल्ल लॉन्च किया था। 18 अगस्त को इस पोर्टल में प्रदेश के सभी तहतानियां, फौकानियां, आलिया व उच्च आलिया स्तर के सभी 19143 मदरसों को अपना पूरा विवरण 15 सितंबर तक ऑनलाइन अपलोड करना था।

इसमें सभी मदरसों को शिक्षक, शिक्षणोतर कर्मचारियों की संख्या उनके आधार कार्ड के साथ, भवन की फोटो व कक्षों की संख्या के विवरण के साथ कई अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां ऑनलाइन करनी थी लेकिन, प्रदेश सरकार के सख्त निर्देश के बावजूद भी अब तक केवल 4468 मदरसों ने ही अपना पूरा डाटा लोड किया है, जबकि करीब पांच हजार मदरसों ने केवल रजिस्ट्रेशन फार्म ही भरा है। वहीं 19 हजार में से करीब सात हजार मदरसों ने तो अपना रजिस्ट्रेशन तक नहीं कराया है।

Advertisements

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »

Related Ads