परिषदीय शिक्षकों की भर्ती के लिए लिखित परीक्षा भी शिक्षकों की भर्ती के लिए तैयार की जाने वाली मेरिट में अभ्यर्थियों के शैक्षिक गुणांक के अलावा लिखित परीक्षा में प्राप्त अंकों को भी जोड़ा जाएगा बेसिक शिक्षा अध्यापक सेवा नियमावली में संसोधन का प्रस्ताव कैबिनेट से मंजूर करने की तैयारी

September 16, 2017

परिषदीय शिक्षकों की भर्ती के लिए लिखित परीक्षा भी

शिक्षकों की भर्ती के लिए तैयार की जाने वाली मेरिट में अभ्यर्थियों के शैक्षिक गुणांक के अलावा लिखित परीक्षा में प्राप्त अंकों को भी जोड़ा जाएगा

बेसिक शिक्षा अध्यापक सेवा नियमावली में संसोधन का प्रस्ताव कैबिनेट से मंजूर करने की तैयारी

राब्यू, लखनऊ : परिषदीय विद्यालयों में शिक्षकों की भर्ती के लिए टीईटी उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को अब लिखित परीक्षा भी देनी होगी। शिक्षकों की भर्ती के लिए तैयार की जाने वाली मेरिट में अभ्यर्थियों के शैक्षिक गुणांक के अलावा लिखित परीक्षा में प्राप्त अंकों को भी जोड़ा जाएगा। इसके लिए उप्र बेसिक शिक्षा (अध्यापक) सेवा नियमावली में संशोधन का प्रस्ताव है।

उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक बेसिक शिक्षा विभाग के इस प्रस्ताव को जल्द ही कैबिनेट से मंजूर कराने की तैयारी है। इस प्रस्ताव को कैबिनेट की मंजूरी मिलने पर टीईटी उत्तीर्ण शिक्षामित्रों को शिक्षक बनने के लिए लिखित परीक्षा देनी होगी।

शिक्षा का अधिकार कानून लागू होने के बाद पहली से आठवीं कक्षा तक के शिक्षकों की भर्ती के लिए अध्यापक पात्रता परीक्षा (टीईटी) अनिवार्य कर दी गई है। परिषदीय विद्यालयों में प्राथमिक शिक्षकों की भर्ती के लिए अभ्यर्थी का स्नातक व बीटीसी योग्यताधारी होना जरूरी है। शैक्षिक गुणांक अभ्यर्थी के हाईस्कूल, इंटरमीडिएट व स्नातक के अलावा बीटीसी प्रशिक्षण में प्राप्त अंकों पर तैयार किया जाता है।

सरकार ने राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में एलटी ग्रेड शिक्षकों की भर्ती को लिखित परीक्षा आयोजित करने का फैसला किया है।  

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »