सामूहिक नकल के दोषी विद्यालय नहीं बनेंगे केंद्र यूपी बोर्ड परीक्षा 2018 केंद्र निर्धारण के लिए शासन ने जारी की नीति

October 20, 2017

सामूहिक नकल के दोषी विद्यालय नहीं बनेंगे केंद्र
यूपी बोर्ड परीक्षा 2018 केंद्र निर्धारण के लिए शासन ने जारी की नीति

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : आगामी वर्ष 2018 में उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की ओर से कराई जाने वाली हाईस्कूल/ इंटरमीडिएट परीक्षा के लिए ऑनलाइन केंद्र निर्धारण की नीति शासन ने तय कर दी है। अधिकांश तौर पर तो नीति निर्देश परंपरागत ही हैं लेकिन, 2015, 2016 और 2017 में सामूहिक नकल के चलते जिन केंद्रों पर दोबारा परीक्षाएं संपादित करानी पड़ी हैं उन्हें इस बार डिबार कर दिया गया है। साथ ही प्रश्नपत्रों की गोपनीयता भंग करने व 2017 में जिन केंद्रों पर सचल दल या शिक्षा और किसी प्रशासनिक अधिकारियों से निरीक्षण के दौरान अभद्र व्यवहार हुआ हो और उपद्रव होने पर एफआइआर दर्ज कराई गई हो उन्हें भी इस बार परीक्षा केंद्र बनाए जाने से डिबार कर दिया गया है। इसके लिए सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों को सख्त निर्देश दिए गए हैं। 1यूपी बोर्ड की सचिव नीना श्रीवास्तव ने शासन से निर्धारित हुई केंद्र निर्धारण नीति को समस्त जिला विद्यालय निरीक्षकों को भेज कर शासन की मंशा से अवगत कराया है। केंद्र निर्धारण के लिए माध्यमिक शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय अग्रवाल की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि 2018 की हाईस्कूल/इंटरमीडिएट परीक्षाओं के लिए केंद्र निर्धारण ऑनलाइन किया जाए। इसकी सूचनाएं प्रधानाचार्य परिषद की वेबसाइट पर भेजेंगे, जिसमें विद्यालय की स्थिति, उसकी धारण क्षमता, फर्नीचर, सीसीटीवी कैमरा, बिजली कनेक्शन, पेयजल-शौचालय की व्यवस्था, सड़क मार्ग से विद्यालय की दूरी आदि का जिक्र अपलोड होगा। केंद्र निर्धारण में इस बार प्रवेश द्वार पर सीसीटीवी कैमरा लगे विद्यालयों को वरीयता दी जाएगी। .......

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »