शिक्षामित्रों को 25 अंक भारांक दिए जाने पर BTC, TET पास अभ्यर्थियों का प्रदर्शन लाख पदों पर नियुक्ति के लिए विज्ञापन की मांग कटऑफ निर्धारण एवम परीक्षा लिखित न कराकर ओएमआर शीट पर कराने की मांग को लेकर प्रदर्शन

December 18, 2017

शिक्षामित्रों को 25 अंक भारांक दिए जाने पर BTC, TET पास अभ्यर्थियों का प्रदर्शन

लाख पदों पर नियुक्ति के लिए विज्ञापन की मांग

कटऑफ निर्धारण एवम परीक्षा लिखित न कराकर ओएमआर शीट पर कराने की मांग को लेकर प्रदर्शन

सहायक अध्यापक के पदों की नियुक्ति में शिक्षामित्रों को 25 अंक भारांक दिए जाने के विरोध में बीटीसी व टीईटी पास अभ्यर्थियों ने सोमवार को हजरतगंज स्थित जीपीओ पर प्रदर्शन कर विरोध जताया। अभ्यर्थियों ने शिक्षामित्रों को 25 अंक भारांक के फैसले को अन्यायपूर्ण व अवैध बताया। इसे वापस लेने व एक लाख सहायक अध्यापकों के पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन जारी करने के मांग की।

सहायक अध्यापक के पदों पर भर्ती को लेकर बीटीसी व टीईटी पास अभ्यर्थी और शिक्षामित्र आमने सामने हैं। जहां एक ओर शिक्षामित्र सहायक अध्यापकों के पदों पर नई भर्तियों पर रोक लगाने की मांग कर रहे हैं, वहीं बीटीसी व टीईटी पास अभ्यर्थियों का कहना है कि सरकार को हमारे भविष्य को ध्यान में रखते हुए एक लाख पदों पर नियुक्ति के लिए विज्ञापन देना चाहिए।

कोर्ट के फैसले के बाद शिक्षामित्रों को उनके प्रतिवर्ष अनुभव के अनुसार 1.5 अंक का भारांक नियुक्ति में दिया जाएगा। यह भारांक अधिकतम 25 अंकों तक होगा। अगर शिक्षामित्रों को भारांक का फायदा मिला तो मेरिट में शिक्षामित्रों को पहले स्थान मिलेगा।

इसी फैसले से नाराज़ होकर सोमवार को बीटीसी व टीईटी पास अभ्यर्थियों ने रैली निकाली। उनका कहना है कि नियुक्ति परीक्षा में सरकार को कटआफ निर्धारित करना चाहिए। जिससे ये पता चल सके कौन अभ्यर्थी शिक्षक बनने के योग्य है। संयुक्त मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अभिषेक त्रिपाठी ने कहा कि परीक्षा को लिखित न कराकर ओएमआर शीट पर कराने की मांग को लेकर ही संघ ने पैदल मार्च किया।

रैली की शुरुआत से ही अभ्यर्थियों की पुलिस से नोकझोंक बनी रही। बीटीसी प्रशिक्षुओं ने भाजपा कार्यालय से लेकर एससीईआरटी कार्यालय तक पैदल मार्च निकाल कर विरोध प्रदर्शन किया।

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »