शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा का विरोध बीटीसी, विशिष्ट बीटीसी व उर्दू बीटीसी के अभ्यर्थियों ने सौंपा ज्ञापन टीईटी उत्तीर्ण को ही वेटेज देकर शैक्षिक मेरिट से ही नियुक्ति की मांग

December 12, 2017
Advertisements

शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा का विरोध

बीटीसी, विशिष्ट बीटीसी व उर्दू बीटीसी के अभ्यर्थियों ने सौंपा ज्ञापन

टीईटी उत्तीर्ण को ही वेटेज देकर शैक्षिक मेरिट से ही नियुक्ति की मांग

प्रदर्शन

उपलब्ध कराया जाए मॉडल पेपर

बीटीसी व टीईटी उत्तीर्ण प्रशिक्षुओं ने परीक्षा नियामक प्राधिकारी से मांग की है कि पहली बार विभाग शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा कराने जा रहा है इसलिए विशेषज्ञों से तैयार कराकर मॉडल पेपर उपलब्ध कराया जाए। बेसिक शिक्षा परिषद पहले ही सिलेबस जारी कर चुका है। अभ्यर्थियों ने लिखित परीक्षा में 60 फीसद अंकों की अनिवार्यता का भी विरोध किया है उनका कहना है कि जब चयन परीक्षा के मेरिट पर होना है, तब ऐसे मानक बनाने की जरूरत नहीं है, सिर्फ प्रमाणपत्र की वैधता तय की जाए। यहां कबीर, आशीष, पंकज आदि मौजूद रहे।

राज्य ब्यूरो’इलाहाबाद परिषदीय स्कूलों में सहायक अध्यापक भर्ती की प्रक्रिया शुरू होने से पहले ही विरोध तेज हो गया है। बीटीसी, विशिष्ट बीटीसी व उर्दू बीटीसी के अभ्यर्थियों ने कहा है कि एनसीटीई की गाइड लाइन में शिक्षक पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण को वेटेज देकर शैक्षिक मेरिट से भर्ती कराने का प्रावधान है लिखित परीक्षा न कराकर उसे ही लागू किया जाए। बड़ी संख्या में अभ्यर्थियों ने सोमवार को परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय पर करने के बाद ज्ञापन सौंपा। इसमें कहा गया है कि अलग से लिखित परीक्षा कराने की जरूरत नहीं है। इससे भर्ती जल्दी पूरी हो जाएगी। अन्यथा यह भर्ती भी कोर्ट तक पहुंचेगी।

अभ्यर्थियों ने यह भी कहा कि टीईटी का 60 व शैक्षिक मेरिट को 40 फीसद वेटेज माना जाए। विशिष्ट बीटीसी के प्रदेश अध्यक्ष जितेंद्र प्रताप सिंह, अरशद अली, अश्विनी मिश्र ने कहा कि परीक्षा नियामक प्राधिकारी को इसमें पहल करनी चाहिए।’

Advertisements

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »

Related Ads