68500 : सवाल अंग्रेजी में भी, जवाब हिंदी भाषा में ही मान्य सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा 2018 की तैयारियां शुरूदो भाषाओं में होंगे प्रश्नपत्र, अनुचित साधनों के प्रयोग पर एफआइआर व डिबार

January 11, 2018
Advertisements

सवाल अंग्रेजी में भी, जवाब हिंदी भाषा में ही मान्य

सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा 2018 की तैयारियां शुरूदो भाषाओं में होंगे प्रश्नपत्र,

अनुचित साधनों के प्रयोग पर एफआइआर व डिबार

इलाहाबाद : परिषदीय स्कूलों की सहायक अध्यापक भर्ती की लिखित परीक्षा में अभ्यर्थियों को प्रश्नपत्र हंिदूी व अंग्रेजी में मिलेंगे, लेकिन अंग्रेजी विषय को छोड़कर अन्य का जवाब हंिदूी भाषा में ही देना होगा। शासन ने परीक्षा में नकल पर अंकुश लगाने के कड़े इंतजाम किए हैं। परीक्षा में अभ्यर्थी की जगह दूसरा कोई पकड़ा गया तो न केवल अभ्यर्थी भविष्य की परीक्षाओं से डिबार होगा, बल्कि उस पर एफआइआर भी दर्ज कराई जाएगी।

बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों में 68500 सहायक अध्यापक भर्ती की लिखित परीक्षा पहली बार होनी है। ऐसे में शासन ने अभ्यर्थियों के चयन को लेकर लंबी गाइड लाइंस जारी की है। इम्तिहान मंडल मुख्यालय के जिले पर होगा। ऐसे में परीक्षा केंद्रों का निर्धारण उस जिले की समिति करेगी जो जिलाधिकारी की अध्यक्षता में बनेगी। इसमें वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक, डायट प्राचार्य, सहायक मंडलीय शिक्षा निदेशक बेसिक, बेसिक शिक्षा अधिकारी सदस्य होंगे, जबकि जिला विद्यालय निरीक्षक सदस्य सचिव होंगे। परीक्षा केंद्रों के चयन में राजकीय, अशासकीय कालेज व महाविद्यालयों को वरीयता मिलेगी। यह सुलभ न होने पर ही अच्छी साख के निजी कालेज को केंद्र बनाया जाएगा साथ ही केंद्र शहरी क्षेत्र में ही रखने पर पूरा जोर है। हर परीक्षा केंद्र पर स्टेटिक मजिस्ट्रेट तैनात होगा। परीक्षा के दौरान प्रश्नपत्र परीक्षा केंद्र पर नामित मजिस्ट्रेट की उपस्थिति में केंद्र व्यवस्थापक, दो कक्ष निरीक्षकों व पर्यवेक्षक के सामने खोला जाएगा उसकी वीडियोग्राफी रिकार्डिग भी की जाएगी।

परीक्षार्थियों को उपस्थिति पंजिका में प्रश्नपत्र व उत्तरपुस्तिका का नंबर भी अनिवार्य रूप से डालना होगा। अभ्यर्थी हस्ताक्षर करेंगे और उनसे अंगूठा भी लगवाया जाएगा। परीक्षा में अनुपस्थित परीक्षार्थियों की सूचना तीन प्रतियों में बनेगी। एक केंद्र व्यवस्थापक के होगी, दूसरी परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव व तीसरी उत्तरपुस्तिका मूल्यांकन करने वाली एजेंसी को भेजी जाएगी। कक्ष निरीक्षकों को हिदायत होगी कि वह उत्तर पुस्तिका पर हस्ताक्षर से पहले सभी सूचनाएं सही हैं या नहीं इसे जरूर जांच लें, क्योंकि जिन उत्तरपुस्तिकाओं में अनुक्रमांक, नाम, पंजीकरण आदि सही से भरा नहीं होगा उनका मूल्यांकन नहीं किया जाएगा। परीक्षा के बाद प्रमाणपत्र मंडल मुख्यालय के जिले पर स्थित डायट से दिया जाएगा। उसके खोने या नष्ट होने पर 500 रुपये का डिमांड ड्राफ्ट देने पर दूसरा प्रमाणपत्र भी निर्गत होगा। परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव उत्तर पुस्तिका की स्कैंड कॉपी की प्रति एक वर्ष तक दो हजार रुपये का डिमांड ड्राफ्ट लेकर दे सकेंगी। यही नहीं, यदि किसी अभ्यर्थी ने एक से अधिक बार ऑनलाइन आवेदन किया तो अंतिम बार हुआ आवेदन ही मान्य होगा।

Advertisements

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »

Related Ads