68,500 बेसिक शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया हुई शुरू योगी शासनकाल में पहली सबसे बड़ी भर्ती भर्ती परीक्षा में बैठने के लिए आधार कार्ड होना जरूरी शासन ने जारी की गाइडलाइंस और संभावित समयसारिणी

January 10, 2018
Advertisements

68,500 बेसिक शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया हुई शुरू

योगी शासनकाल में पहली सबसे बड़ी भर्ती

भर्ती परीक्षा में बैठने के लिए आधार कार्ड होना जरूरी

शासन ने जारी की गाइडलाइंस और संभावित समयसारिणी

लखनऊ: योगी सरकार ने परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में 68,500 शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी है। योगी सरकार की यह अब तक की सबसे बड़ी भर्ती होगी। सरकार ने इस साल दो लाख युवाओं को रोजगार देने का किया है। 68,500 शिक्षकों की भर्ती के लिए ‘सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा, 2018’ आयोजित करने की तैयारी है। भर्ती परीक्षा के आयोजन के बारे में अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा राज प्रताप सिंह ने मंगलवार को शासनादेश के रूप में गाइडलाइन्स और संभावित समय-सारिणी जारी कर दी है। प्रदेश में बेसिक शिक्षकों की भर्ती के लिए लिखित परीक्षा पहली बार आयोजित की जा रही है। यह भी स्पष्ट किया गया है कि यह लिखित परीक्षा सिर्फ इसी भर्ती के लिए मान्य होगी।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर राज्य सरकार ने 1.37 लाख शिक्षामित्रों का समायोजन रद कर उन्हें उनके मूल पद पर वापस कर दिया था। समायोजन रद होने से खाली 1.37 लाख पदों में से आधे यानी 68,500 पदों पर भर्ती की जा रही है।

ये होंगे पात्र

स्नातक के साथ दो वर्षीय डीएलएड (पहले बीटीसी)/विशिष्ट बीटीसी/उर्दू बीटीसी विशेष प्रशिक्षण या दूरस्थ शिक्षा विधि से अप्रशिक्षित व स्नातक शिक्षामित्रों का दो वर्षीय बीटीसी प्रशिक्षण उत्तीर्ण करने के साथ यूपीटीईीटी/सीटीईटी उत्तीर्ण

स्नातक के साथ एनसीटीई/भारतीय पुनर्वास परिषद द्वारा मान्यताप्राप्त संस्था से शिक्षा शास्त्र/शिक्षा शास्त्र (विशेष शिक्षा) में दो वर्षीय डिप्लोमा डीएड के साथ यूपीटीईटी/सीटीईटी उत्तीर्ण

न्यूनतम 50 प्रतिशत अंकों के साथ इंटरमीटिएट तथा चार वर्षीय प्रारंभिक शिक्षा शास्त्र में स्नातक (बीएलएड) के साथ यूपीटीईटी उत्तीर्ण
45 फीसद अंक जरूरी

इस लिखित परीक्षा में अभ्यर्थियों को तीन घंटे में 150 अति लघु उत्तरीय प्रश्नों के जवाब देने होंगे। प्रश्नपत्र अंग्रेजी व हिंदी में होगा, लेकिन अंग्रेजी विषय को छोड़कर अभ्यर्थियों को बाकी विषयों के प्रश्नों के उत्तर हिंदी में देने होंगे। परीक्षा 150 अंकों की होगी जिसमें से 67 यानी 45 प्रतिशत या उससे अधिक अंक पाने वाले सामान्य व पिछड़ा वर्ग अभ्यर्थियों को उत्तीर्ण माना जाएगा। वहीं अनुसूचित जाति/जनजाति के अभ्यर्थियों के लिए न्यूनतम अर्हअंक 40 प्रतिशत यानी 60 अंक होंगे। सहायक अध्यापक के पद पर चयन के लिए भर्ती परीक्षा में उत्तीर्ण अभ्यर्थियों के प्राप्तांक प्रतिशत के 60 फीसद अंक उनके गुणांक में जोड़े जाएंगे। लिखित परीक्षा में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों का परीक्षा परिणाम वेबसाइट पर जारी किया जाएगा।

Advertisements

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »

Related Ads