यूपी बोर्ड : परीक्षा केंद्रों पर स्टेटिक मजिस्ट्रेट की तैयारी

January 09, 2018

यूपी बोर्ड : परीक्षा केंद्रों पर स्टेटिक मजिस्ट्रेट की तैयारी

इलाहाबाद : यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा 2018 में नकल पर अंकुश लगाने को मंथन तेज हो गया है। इस पर केंद्रों की संख्या कम हुई हैं, ऐसे में हर केंद्र पर स्टेटिक मजिस्ट्रेट की तैनाती कराने की तैयारी
है, ताकि पूरे समय निगरानी हो सके। वहीं, जिन केंद्रों पर उसी कालेज की छात्रएं परीक्षा देंगी वहां अतिरिक्त केंद्र व्यवस्थापक नियुक्त करने का निर्देश परीक्षा नीति में ही जारी हो चुका है।

माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा शुरू होने में अब एक माह से भी कम समय बचा है। पिछले दिनों उप मुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान बोर्ड सचिव से नकल रोकने के अन्य उपायों पर मंथन करने को कहा था। ऐसे में बोर्ड प्रशासन उन्हीं बिंदुओं पर तेजी से रिपोर्ट बना रहा है, ताकि किसी भी दशा में केंद्रों पर नकल न होने पाए। परीक्षा केंद्रों की तादाद बड़ी संख्या में घटने से हर केंद्र पर स्टेटिक मजिस्ट्रेट तैनात होने का आदेश देने की तैयारी है। साथ ही अपने कालेजों की छात्रओं को नकल न कराई जा सके, इसके लिए दूसरे कालेजों के वरिष्ठ शिक्षकों को अतिरिक्त केंद्र व्यवस्थापक का दायित्व दिया जाएगा। यही नहीं जिलों के कुछ केंद्रों की अलग से वीडियोग्राफी कराने का भी आदेश जारी हो सकता है।

गैरहाजिर प्रायोगिक परीक्षकों की सूची तलब : बोर्ड सचिव ने क्षेत्रीय कार्यालयों के अपर सचिवों से प्रायोगिक परीक्षा में गायब रहने वाले परीक्षकों की सूची तलब की है। उनसे पहले स्पष्टीकरण मांगा जाएगा और वाजिब जवाब न मिलने पर कार्रवाई भी होगी। उप मुख्यमंत्री ने ऐसे परीक्षकों पर कार्रवाई का निर्देश दिया था। वहीं, सभी परीक्षा केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने की रिपोर्ट भी बोर्ड प्रशासन ने जिला विद्यालय निरीक्षकों से जल्द मांगी है। यह कार्य 15 जनवरी तक पूरा किया जाना है।

फर्जी परीक्षकों का आकड़ा 50 हजार से अधिक : यूपी बोर्ड की परीक्षा में हाईस्कूल व इंटर के ऐसे परीक्षार्थियों ने आवेदन किया है, जिनके पास अभिलेख दुरुस्त नहीं है। इसकी क्षेत्रीय कार्यालय वार जांच हो रही है। ऐसे परीक्षार्थियों को परीक्षा में शामिल नहीं होने दिया जाएगा। बोर्ड सचिव ने बताया कि आकड़ा 50 हजार के ऊपर पहुंच चुका है, जबकि अभी एक मंडल की रिपोर्ट आना शेष है।

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »