इलाहाबाद: दिल्ली में 30 अप्रैल को होगा पुरानी पेंशन बहाली की माँग को लेकर राष्ट्रीय महाधिवेशन-महेन्द्र यादव 🎯पुरानी पेन्शन बहाली को लेकर बेसिक शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के संस्थापक एवम् प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र कुमार यादव ने अटेवा सन्गठन को समर्थन देने का किया ऐलान।

March 20, 2018

दिल्ली में 30 अप्रैल को होगा पुरानी पेंशन बहाली की माँग को लेकर राष्ट्रीय महाधिवेशन-महेन्द्र यादव
🎯पुरानी पेन्शन बहाली को लेकर बेसिक शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के संस्थापक एवम् प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र कुमार यादव ने अटेवा सन्गठन को समर्थन देने का किया ऐलान।
इलाहाबाद। पुरानी पेंशन बहाली को लेकर बेसिक शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के संस्थापक एवम् प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र कुमार यादव ने अटेवा सन्गठन को समर्थन देने का ऐलान कर होने वाले आंदोलन को और तेज कर दिया है। नई दिल्ली में 30 अप्रैल 2018 को होने वाले राष्ट्रीय महाधिवेशन में भाग लेने वालों की संख्या बल अधिक होने के आसार तेज होते जा रहे है।
             बताते चलें कि केंद्र सरकार ने अपने अधीन लगभग सभी विभागों में 01-01-2004 से पुरानी पेंशन योजना समाप्त करते हुए नव नियुक्त सभी कर्मचारियों/अधिकारियों को नवीन पेंशन योजना से आच्छादित कर दिया है। केंद्र सरकार ने पुरानी पेंशन के स्थान पर नवीन पेंशन योजना का आगाज क्या किया कि लगभग सभी राज्य सरकारें भी उसी रास्ते पर चल पड़ीं। उत्तर प्रदेश सरकार भी पीछे नहीं रही। उत्तर प्रदेश सरकार ने भी अपने अधीन लगभग सभी विभागों में  01-04-2005 के बाद नियुक्त सभी कर्मचारियों/अधिकारियों को पुरानी पेंशन योजना सुविधा से वंचित कर नवीन पेंशन योजना से आच्छादित करने का फरमान जारी कर दिया।
          समय बीतता गया पुरानी पेंशन योजना से वंचित पीड़ितों की संख्या दिन-प्रतिदिन हर नयी नियुक्ति के साथ बढ़ती गई। परिणामत: नयी पेंशन योजना का विरोध और पुरानी पेंशन योजना बहाली की मांग भी तेजी से जोर पकड़ने लगी। पुरानी पेंशन योजना से वंचितों की संख्या का वोट-गणित सर्वप्रथम तमिलनाडु की वर्तमान मुख्यमंत्री जयललिता जी ने समझा। तमिलनाडु में बीते विधानसभा चुनाव प्रचार में जयललिता जी ने ये चुनावी घोषणा कर दिया कि उनकी सरकार बनने पर नवीन पेंशन योजना समाप्त कर सभी कर्मचारियों/अधिकारियों को पुरानी पेंशन योजना से आच्छादित कर दिया जाएगा। बाद में तमिलनाडु में जयललिता जी की सरकार बन गई। अब नवनियुक्त मुख्यमंत्री जयललिता जी पर अपने चुनावी घोषणा को पूरा करने की बारी थी। उन्होंने अपनी चुनावी घोषणा को लागू करने के क्रम में राज्य में नयी पेंशन योजना को समाप्त कर पुरानी पेंशन योजना लागू करने के लिए तकनीकी सुझाव देने हेतु एक समिति का गठन भी कर दिया। फिलहाल ये समिति अपना रिपोर्ट तैयार कर रही है।
    इधर उत्तर प्रदेश में भी नयी पेंशन का विरोध और पुरानी पेंशन योजना बहाली की मांग भी जोर पकड़ता जा रहा है। पुरानी पेंशन योजना बहाली की मांग पर आधारित नये-नये संगठनों का उदय भी हुआ, जिसमें पुरानी पेंशन बहाली के एकसूत्रीय मांग पर आधारित 'अटेवा' संघ के संघर्ष की भूमिका अहम है। पुरानी पेंशन बहाली को लेकर बेसिक शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के संस्थापक एवम् प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र कुमार यादव ने अटेवा सन्गठन को समर्थन देने का ऐलान कर होने वाले आंदोलन को और तेज कर दिया है।


Share this

Related Posts

Previous
Next Post »