उन्नाव: शिक्षक संघ ने लेखाधिकारी से एनपीएस कटौती और अंशदान को प्रान खाते में दर्ज करने की किया माँग 🎯संघ ने शिक्षकों के देय अवशेषों का भुगतान पीपीएफ खातों में न करके सैलरी खातों में भी भेजने की किया माँग।

May 13, 2018
Advertisements

शिक्षक संघ ने लेखाधिकारी से एनपीएस कटौती और अंशदान को प्रान खाते में दर्ज करने की किया माँग
🎯संघ ने शिक्षकों के देय अवशेषों का भुगतान पीपीएफ खातों में न करके सैलरी खातों में भी भेजने की किया माँग।

ⓂⓂहिन्दी दैनिक युवा गौरव, संवाददाताⓂⓂ
उन्नाव। उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ जनपद इकाई उन्नाव के जिला अध्यक्ष बृजेश कुमार पाण्डेय की अध्यक्षता में शिक्षक/ शिक्षिकाओं की समस्याओं को देखते हुए एक बैठक निराला पार्क में की गयी। जिसमें कई समस्याओं पर चर्चा परिचर्चा की गयी। बैठक में प्रतिभाग कर रहे जिला एवम् ब्लॉक के पदाधिकारियों ने  दो प्रमुख समस्याओं को प्रमुखता उठाया। बैठक के पश्चात प्राथमिक शिक्षक संघ के जिला अध्यक्ष बृजेश कुमार पाण्डेय के नेतृत्व में जनपदभर के पदाधिकारियों ने वित्त एवम् लेखा बेसिक शिक्षाधिकारी राम लखन यादव को दो अलग अलग मांगों से सम्बंधित ज्ञापन देकर समस्याओं का शीघ्र निस्तारण कराने की माँग की। जिसमें पहली माँग को प्राथमिक शिक्षक संघ ने दिए गए ज्ञापन में बताया है कि अप्रैल 2005 के बाद जनपद में नियुक्त शिक्षकों की एनपीएस कटौती माह नवंबर 2017 से हो रही है। परंतु कटौती की गई धनराशि शिक्षकों के प्रान खातों में दर्ज नहीं हो रही है और न ही सरकार द्वारा दिए जाने वाला एनपीएस अंशदान ही दर्ज हो रहा है। जिससे शिक्षकों में ऊहापोह की स्थिति बनी हुई है। संघ ने लेखाधिकारी से माँग की है कि शिक्षकों को एनपीएस कटौती एवं सरकारी एनपीएस अंशदान के विवरण को प्रान खातों में दर्ज कराया जाये।
       वहीं दूसरी माँग को संघ ने ज्ञापन के माध्यम से ही अवगत कराते हुए बताया कि जनपद उन्नाव में वर्ष 2005 के बाद नियुक्त शिक्षकों का महँगाई बोनस अन्तर एवम् सातवें वेतन आयोग का एरियर सहित अन्य अवशेषों का भुगतान शिक्षकों के पीपीएफ खाते में न करके सीधे उनके सैलरी खाते में ही किया जाये। क्योंकि पीपीएफ खाता एक ऐसा निवेश है जिसमें सलाना एक निश्चित धनराशि ही जमा की जा सकती है। अवशेषों की भुगतान राशि निवेश सीमा से अधिक हो जाने पर बढ़ी हुई धनराशि को बैंक पुनः विभाग को वापस लौटा देता है। जिससे शिक्षकों को व्यर्थ की भागदौड़ करनी पड़ती है। व्यर्थ की भागदौड़ से बचने के लिए देय अवशेषों का भुगतान शिक्षकों के वेतन खातों में करने की मांग की। जिसपर वित्त एवम् लेखा बेसिक शिक्षा अधिकारी राम लखन यादव ने दोनों समस्याओं को गम्भीरता से लेते हुए शीघ्र समाधान कराने का भरोसा दिलाया।
         इस मौके पर प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष बृजेश कुमार पाण्डेय,महामंत्री गजेन्द्र वर्मा जी,कोषाध्यक्ष संजीव संख्वार जी, बिछिया ब्लॉक अध्यक्ष वेद नारायण मिश्रा, सुमेरपुर ब्लॉक अध्यक्ष प्रेम शंकर चौधरी व मंत्री धर्मेश श्रीवास्तव, ब्लॉक सिकन्दरपुर कर्ण के युवा शिक्षक नेता विवेक कुमार द्विवेदी व देश दीपक पाण्डेय, असोहा के अध्यक्ष सन्दीप द्विवेदी, बीघापुर ब्लॉक के अध्यक्ष जय शंकर जी एवम् मंत्री विश्व नाथ सिंह, हिलौली ब्लॉक अध्यक्ष विकास सिंह, सरोसी ब्लॉक अध्यक्ष दिलीप बाजपेई, नवावगंज अध्यक्ष विनोद तिवारी, बांगरमऊ अध्यक्ष‎ राम सिंह कन्नौजिया, गंज मुरादाबाद अध्यक्ष‎ अजय कटियार,एफ-84 अध्यक्ष‎ मदन गोपाल,सफीपुर अध्यक्ष राघवेन्द्र सिंह ,हसन गंज अध्यक्ष सूर्यकान्त यादव,औरास अध्यक्ष मो० कादिर ,जिला मीडिया प्रभारी कयामुद्दीन आदि शिक्षक पदाधिकारी मौजूद रहे।

Advertisements

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »

Related Ads