कानपुर: अन्तर्जनपदीय तबादले का लाभ सिर्फ मुट्ठी भर शिक्षकों को ही मिला- महेन्द्र यादव, प्रदेश अध्यक्ष बेसिक शिक्षक वेलफेयर एसोशिएसन उत्तर प्रदेश। 🎯अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण हेतु आवेदन करने वाले परिषदीय शिक्षक/शिक्षिका आज 14 जून को प्रातः 10 बजे से upbasiceduparishad.gov.in वेबसाइट पर अपना PAN और बैंक खाता भर कर अपने स्थानान्तरण की स्थिति देख सकेंगे। 🎯परिषदीय अध्यापकों के अन्तर्जनपदीय स्थानांतरण में 11963 शिक्षकों को ही मिला तबादले का तोहफा।

June 14, 2018
Advertisements

अन्तर्जनपदीय तबादले का लाभ सिर्फ मुट्ठी भर शिक्षकों को ही मिला- महेन्द्र यादव, प्रदेश अध्यक्ष बेसिक शिक्षक वेलफेयर एसोशिएसन उत्तर प्रदेश।
🎯अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण हेतु आवेदन करने वाले परिषदीय शिक्षक/शिक्षिका आज 14 जून को प्रातः 10 बजे से upbasiceduparishad.gov.in वेबसाइट पर अपना PAN और बैंक खाता भर कर अपने स्थानान्तरण की स्थिति देख सकेंगे।
🎯परिषदीय अध्यापकों के अन्तर्जनपदीय स्थानांतरण में 11963 शिक्षकों को ही मिला तबादले का तोहफा।

कानपुर। परिषदीय स्कूलों के शिक्षकों के अंतर जिला तबादलों की ऑनलाइन तबादला सूची का शुभारम्भ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को सचिवालय एनेक्सी स्थित अपने कार्यालय से किया। जिसमें प्राथमिक विद्यालयों के कुल 8918 शिक्षकों का अंतर जिला तबादला एवम् उच्च प्राथमिक विद्यालयों के 3045 शिक्षकों का अंतर्जनपदीय तबादला का तोहफा मिला। प्रदेश में कुल 11963 परिषदीय शिक्षकों का अन्तर्जनपदीय स्थानांतरण पहली किस्त में हो पाया है। वहीं अंतर जिला तबादले के लिए करीब 37 हजार 602 शिक्षकों ने आवेदन कर रखा था।
          बतातें चलें कि ठीक एक वर्ष पहले 13 जून, 2017 को इसका शासनादेश हुआ था। इस दौरान कई बार नियम बदले और दो बार शिक्षकों से आवेदन लिए गए। जिसमें अंतर जिला तबादले के लिए करीब 37 हजार शिक्षकों ने दावेदारी पेश की थी। बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्कूलों के शिक्षकों का अंतर जिला तबादले का शासनादेश भले ही जून 2017 में हुआ था लेकिन तबादले के लिए ऑनलाइन आवेदन लेने की प्रक्रिया छह माह बाद 16 जनवरी से शुरू हुई। इसमें वही शिक्षक आवेदन कर सकते थे, जिन्होंने पांच वर्ष की सेवा पूरी कर ली हो। पहले चरण में करीब 15 हजार शिक्षकों ने दावेदारी की थी। इस आदेश के विरुद्ध महिला शिक्षक हाईकोर्ट पहुंची, कोर्ट ने इन शिक्षिकाओं को राहत देते हुए निर्देश दिया कि पति के निवास स्थान या फिर ससुराल वाले जिले में जाने वाली महिला शिक्षिकाओं को पांच वर्ष की सेवा से छूट दी जाए। शासन ने इस मामले में सिर्फ याचियों को राहत देने का निर्देश दिया। जिसके बाद अन्य शिक्षिकाओं ने फिर कोर्ट का दरवाजा खटखटाया, तब सभी महिला शिक्षिकाओं को यह लाभ देने का आदेश हुआ। इस पर काउंसिलिंग रोक दी गई। नौ फरवरी से महिला शिक्षिकाओं से आवेदन लेने के लिए फिर वेबसाइट खोली गई और 15 फरवरी तक आवेदन लिए गए। इसकी काउंसिलिंग और अभिलेखों के सत्यापन की प्रक्रिया महीनों तक चली, कई बार समय सीमा बढ़ाई गई। पिछले दिनों तबादले की वेबसाइट डिजिटल लॉक करने के लिए भी तीन बार समय सीमा बढ़ी और 11 जून को यह प्रक्रिया जैसे-तैसे पूरी हो सकी है। जिसके बाद 13 जून बुधवार को प्रदेश के मात्र 11963 परिषदीय शिक्षकों का अन्तर्जनपदीय स्थानांतरण पहली किस्त में किया गया है। जिसमें प्राथमिक विद्यालयों के 8918 शिक्षकों का अंतर जिला तबादला एवम् उच्च प्राथमिक विद्यालयों के 3045 शिक्षकों का अंतर्जनपदीय तबादला किया गया है।
_________________इनसेट________________
अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण हेतु आवेदन करने वाले परिषदीय शिक्षक/शिक्षिका 14 जून को प्रातः 10 बजे से upbasiceduparishad.gov.in वेबसाइट पर अपना PAN और बैंक खाता भर कर अपने स्थानान्तरण की स्थिति देख सकेंगे।
________________इनसेट_____________________
बेसिक शिक्षक वेलफेयर एसोशिएसन उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र कुमार यादव ने कहा कि अन्तर्जनपदीय तबादले का लाभ सिर्फ मुट्ठी भर शिक्षकों को ही मिला है। प्रदेश सरकार को दूसरी तबादले की सूची अतिशीघ्र जारी करनी चाहिये। जिससे   4-5 सौ किलोमीटर दूर शिक्षक अपने परिवार के पास पहुँच सके और पूरी लगन से बच्चों को पढ़ाने में मन लगाये।


Advertisements

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »

Related Ads