उन्नाव: पुरानी पेंशन की जंग जीतना ही है प्राथमिक शिक्षक संघ का लक्ष्य- जिलाध्यक्ष बृजेश पाण्डेय 🎯जिले भर के अधिकारी कर्मचारी पुरानी पेंशन बहाली को लेकर महाआन्दोलन में हुए शामिल

August 09, 2018













































































पुरानी पेंशन की जंग जीतना ही है प्राथमिक शिक्षक संघ का लक्ष्य- जिलाध्यक्ष बृजेश पाण्डेय
🎯जिले भर के अधिकारी कर्मचारी पुरानी पेंशन बहाली को लेकर महाआन्दोलन में हुए शामिल

उन्नाव। कर्मचारी अधिकारी पुरानी पेंशन बहाली मंच के प्रान्तीय कार्यसमिति के प्रांतीय अध्यक्ष दिनेश चन्द्र शर्मा के आह्वान पर बृहस्पतिवार को उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ एवम् कर्मचारी अधिकारी पुरानी पेंशन बहाली मंच के जिलाध्यक्ष बृजेश कुमार पाण्डेय के नेतृत्व में अधिकारी कर्मचारी संगठनों के जिला एवम् ब्लाक अध्यक्ष, मंत्री, कोषाध्यक्ष समेत सभी पदाधिकारियों और कर्मचारियों का हुजूम एक सूत्रीय माँग बुढ़ापे की लाठी (पुरानी पेंशन बहाली) को लेकर जिला मुख्यालय पर एकत्रित होकर जोरदार धरना प्रदर्शन कर माननीय मुख्यमंत्री आदित्य नाथ योगी को संबोधित ज्ञापन जिला अधिकारी उन्नाव देवेन्द्र कुमार पाण्डेय के माध्यम से सौंपा।
           उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ एवम् कर्मचारी अधिकारी पुरानी पेंशन बहाली मंच की मंच की अध्यक्षता कर रहे बृजेश कुमार पाण्डेय ने प्रदेश सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि 1 जनवरी 2004 में भारत सरकार एवं 1 अप्रैल 2005 से प्रदेश सरकार द्वारा पुरानी पेंशन व्यवस्था समाप्त कर नई पेंशन व्यवस्था लागू की गई है।  जिसमें शिक्षक कर्मचारियों की इच्छा के विपरीत बेसिक पे का 10 प्रतिशत काटकर शेयर मार्केट में लगाया जा रहा है जो शिक्षक कर्मचारियों के साथ छलावा है। जिलाध्यक्ष बृजेश पाण्डेय ने कहा कि सरकार गठन के 15 माह उपरांत भी मुख्यमंत्री आदित्यनाथ द्वारा पुरानी पेंशन बहाली के लिए कुछ भी नहीं किया गया है। उनके द्वारा किया वादा दिखाई भी नहीं दे रहा है। जिससे जनपद के समस्त शिक्षक कर्मचारी आंदोलित है। अब पुरानी पेंशन बहाल नहीं की गई तो आर पार की लड़ाई लड़ी जाएगी। जिलाध्यक्ष श्री पाण्डेय ने ही कहा कि शिक्षकों की समस्याओं में वेतन विसंगति मृतक शिक्षक के पाल्य को शिक्षक ही बनाने आदि माँगे अभी भी लम्बित हैं। वहीं राज्य कर्मचारियों की भाँति प्रदेश के परिषदीय शिक्षकों को भी कैशलेश चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करायी जानी चाहिए।
        धरने को संबोधित करते हुए मंच के संयोजक उमा निवास बाजपेई ने कहा कि सरकार कमेरा समाज की बुढ़ापे का सहारा पेंशन छीनकर जो कुठाराघात किया है उसे कर्मचारी शिक्षक समाज कभी स्वीकार नहीं करेगा। प्राथमिक शिक्षक संघ के जिला महामंत्री एवं मंच के सह संयोजक गजेंद्र वर्मा ने संबोधित करते हुए कहा कि विडंबना है कि सांसद और विधायक दोनों पुरानी पेंशन ले रहे हैं और कर्मचारी शिक्षक अपने कार्यकाल 60- 62 वर्ष की सेवा करने के उपरांत भी उसे पुरानी पेंशन जो बुढ़ापे का सहारा होती है छीनकर शिक्षक कर्मचारियों के साथ अन्याय किया है। कार्यक्रम को राजबहादुर सिंह चंदेल एमएलसी ने भी संबोधित किया। आन्दोलन में लगभग 10 हजार शिक्षक कर्मचारियों एवम् अधिकारियों ने प्रतिभाग किया।
         इस मौके पर परिषद के उपाध्यक्ष एस पी सिंह जिला मंत्री केशव सिंह वरिष्ठ उपाध्यक्ष आर सी कनौजिया शैलेश शुक्ला शिक्षक नेता राघवेंद्र सिंह अनुपम मिश्रा विकास मिश्रा विकास सिंह सौरव यादव यशपाल सिंह अमित सिंह वीरेंद्र मिश्रा सुरेंद्र कुमार अरुण वर्मा राम सिंह कनौजिया मोहम्मद कादिर नीरज अग्निहोत्री विमलेश सोनवानी संजीव शंखवार सूर्यकांत यादव अजय कटिहार राघवेंद्र सिंह प्रेम शंकर चौधरी धर्मेश श्रीवास्तव विश्वनाथ सिंह विनोद तिवारी वेद नारायण मिश्रा जय शंकर वर्मा दिलीप बाजपेई फूलचंद सहदेव विवेक कुमार द्विवेदी श्रवण पटेल अरविंद वर्मा देश दीपक पाण्डेय शिव स्वरूप धीरेंद्र सिंह आशीष अवस्थी विजय बहादुर वरुण सिंह देव स्वरूप द्विवेदी माध्यमिक शिक्षक संघ के मुन्ना मिश्रा दिलीप अवस्थी प्रवीण पटेल शैलेंद्र प्रताप सिंह हैदर हसन हरनाम सिंह कौशल किशोर द्विवेदी अरुण यादव जय बिंद जिला मीडिया प्रभारी कयामुद्दीन समेत आदि शिक्षक पदाधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे।


Share this

Related Posts

Previous
Next Post »