टीईटी की वेबसाइट बदली ,पुराने आवेदन और पंजीकरण बरकरार

October 07, 2018
Advertisements

टीईटी की वेबसाइट बदली

पुराने आवेदन और पंजीकरण बरकरार

परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव अनिल भूषण चतुर्वेदी ने बताया कि नई वेबसाइट अभ्यर्थियों की सहूलियत और तेज क ार्य के लिए शुरू की गई है, जिन अभ्यर्थियों ने पुरानी वेबसाइट पर आवेदन या पंजीकरण कर रखा है वे सभी सुरक्षित हैं और उनका दावा मान्य है। इसलिए नए सिरे से दोबारा आवेदन करने की जरूरत नहीं है। नई वेबसाइट का सिर्फ वे ही प्रयोग करें जिनको आवेदन करने, शुल्क जमा करने में दिक्कत आ रही है।
आवेदन व परीक्षा शुल्क जमा करने में आ रही दिक्कत, शासन का निर्णय

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : उप्र शिक्षक पात्रता परीक्षा यानी यूपी टीईटी 2018 के लिए ऑनलाइन पंजीकरण व आवेदन की वेबसाइट एनआइसी ने आखिरकार बदल दी है। इधर, दो दिन से पंजीकरण ताबड़तोड़ हुए लेकिन, आवेदन व परीक्षा शुल्क जमा करने में बहुत परेशानी हो रही थी। एनआइसी ने टीईटी के लिए अब नया यूनीफार्म रिसोर्स लोकेटर यानी यूआरएल जारी किया है। अफसरों का दावा है कि http://4स्रङ्गं2्रङ्घी4िङ्गं1.ि¬5.्रल्ल इस पर आवेदन होने व परीक्षा शुल्क जमा होने की गति काफी तेज हो जाएगी। वहीं, सीधे परीक्षा शुल्क जमा करने के लिए इस http://4स्रङ्गं2्रङ्घी4िङ्गं1.ि¬5.्रल्ल/ँऋि/स्रं8ी.ं2स्र7 वेबसाइट का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

टीईटी के लिए आवेदन 17 सितंबर से चल रहे हैं। बीच में आवेदन व पंजीकरण का सर्वर आठ दिन तक बंद रहा। बीते मंगलवार शाम से किसी तरह एनआइसी ने उसे संचालित जरूर किया लेकिन, आवेदन करने व परीक्षा शुल्क जमा करने में दिक्कत बरकरार रही।1 दो दिन से फिर सर्वर बेहद धीमा हो गया था। इसीलिए पंजीकरण का आकड़ा बढ़कर 21 लाख तक पहुंच गया लेकिन, फाइनल आवेदन सिर्फ सवा सात ही हो सके हैं। शनिवार को दिन भर में जहां करीब 75 हजार नए पंजीकरण हुए, वहीं आवेदन महज 25 हजार ही हो पाए हैं। अफसरों का दावा है कि अब नई वेबसाइट से प्रक्रिया काफी तेज हो जाएगी। इधर, शासन ने पंजीकरण व आवेदन की समय सीमा तीन दिन बढ़ाई थी लेकिन, सर्वर के धीमे होने से आवेदन की संख्या पंजीकरण की अपेक्षा एक तिहाई ही रह गई थी। ऐसे में यह मियाद भी काफी कम लग रही थी। इसीलिए शनिवार को पूरे दिन शिक्षा विभाग के बड़े अफसर एनआइसी में डटे रहे और समस्या का हर संभव हल तलाशते रहे। शाम को वेबसाइट बदलने का निर्णय लिया है।

Advertisements

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »

Related Ads