ALLAHABAD:प्रदेश के महज 12 हजार कॉलेज केंद्र बनने की रेस में, अब केंद्र निर्धारण बोर्ड मुख्यालय करेगा 🎯यूपी बोर्ड के कॉलेजों का हाल 📚शासकीय कालेजों की संख्या→1910 📚अशासकीय कालेजों की संख्या→4531 📚वित्तविहीन कालेजों की संख्या→17901 🎯 कुल कालेजों की संख्या→24342

June 17, 2017
Advertisements


प्रदेश के महज 12 हजार कॉलेज केंद्र बनने की रेस में, अब केंद्र निर्धारण बोर्ड मुख्यालय करेगा
🎯यूपी बोर्ड के कॉलेजों का हाल
📚शासकीय कालेजों की संख्या→1910
📚अशासकीय कालेजों की संख्या→4531
📚वित्तविहीन कालेजों की संख्या→17901
🎯 कुल कालेजों की संख्या→24342
राब्यू, इलाहाबाद : यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा 2018 में परीक्षा केंद्रों का निर्धारण ऑनलाइन होगा। नया सत्र शुरू होने के बाद परीक्षा फार्म भरने व पंजीकरण कराने की होड़ मचेगी। ऐसे में बोर्ड ने केंद्र निर्धारण की सारी तैयारियां पहले ही पूरी करने का जतन किया था, लेकिन वह परवान नहीं चढ़ सका, प्रदेश के महज
12 हजार कालेज ही केंद्र निर्धारण की रेस में शामिल हो सके हैं और इतने ही कॉलेजों ने अभी ऑनलाइन सूचनाएं नहीं भेजी हैं। माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटर परीक्षा केंद्र पहले जिलों में बनते रहे हैं। अब केंद्र निर्धारण बोर्ड मुख्यालय करेगा। इसमें गड़बड़ी न हो और समय पर केंद्र बन जाए इसके लिए अभी से कार्य हो रहा है। बोर्ड प्रशासन कालेज व परीक्षा केंद्र के बीच की दूरी को लेकर सतर्क है। इसीलिए कॉलेज की सड़क से दूरी जानने के लिए मोबाइल एप जारी किया है। यही नहीं, मई माह में माध्यमिक शिक्षा के निदेशक अमरनाथ वर्मा ने सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों को पत्र भेजकर विद्यालयों की आधारभूत सूचनाएं वेबसाइट पर मांगी। इसमें कॉलेज के बालक व बालिका से लेकर मान्यता, शिक्षण कक्ष, संसाधन व अन्य तमाम प्रकार की जानकारियां देनी हैं। बोर्ड प्रशासन ने सीसीटीवी कैमरा, कंप्यूटर, ऑपरेटर, जेनरेटर तक का इंतजाम पूछा है। यदि किसी प्रबंधक के एक से अधिक कॉलेज हैं उसकी भी सूचना मांगी गई है। प्रबंधतंत्र विवाद व बोर्ड परीक्षा के दौरान गड़बड़ी की सूचनाएं भी कॉलेजों को देनी है। शिक्षा निदेशक ने इसके लिए 15 दिन का समय दिया था, लेकिन केवल 12 हजार कॉलेजों ने ही वेबसाइट पर जानकारियां अपलोड की है। इस समय कॉलेजों में गर्मी की छुट्टी है। बोर्ड प्रशासन जुलाई में नया सत्र शुरू होते ही अन्य कॉलेजों से लंबित सूचनाएं भेजने को कहेगा, जो कालेज सारी सूचनाएं नहीं देंगे वह केंद्र बनने की सूची से बाहर हो जाएंगे।


Advertisements

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »

Related Ads