SULTANPUR: मानव संपदा के फॉर्म की फीडिंग के नाम पर की जा रही धन उगाही,शिक्षक ही जुटे हैं दलाली में,अधिकारी दे रहे संरक्षण,100-150 रुपये प्रति फॉर्म लागू है दर

July 02, 2017
Advertisements

जनपद सुल्तानपुर में बेसिक शिक्षा विभाग में भ्रष्टाचार का बोलबाला कम होने का नाम नही ले रहा है योगिराज में सख्ती का कोई असर नही है जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी भी सब कुछ जानते हुए अंजान बने है

जनपद के बेसिक शिक्षको से मानव संपदा फार्म भरने के लिए 100 से 150 रूपये की वसूली हो रही है कुछ विकास खंड में विभाग के शिक्षक ही दलाली में लगे है तो कुछ विकास खंडों से शिक्षको से पहले जमा कराए गए फार्म अब उनको वापस कर खण्ड शिक्षा अधिकारी की सेटिंग वाली दूकान पर फ़ार्म भरने के लिए विवश किया जा रहा है ऐसा इसलिए कि वही दुकानदार ही उस विकास खंड का फ़ार्म भर सकता है जिसके पास उस विकास खंड का आईडी और पासवर्ड होगा  विभाग द्वारा आवंटित गोपनीय आईडी और पासवर्ड प्राइवेट दुकानदारों को देकर अधिकारी जमकर दलाली में लगे है यही नही  बी एस ए कार्यालय के आस पास ही प्राइवेट दुकानों पर 100 से 150 रूपये लेकर फार्म भराये जा रहे है जबकि सभी विकास खंडों पर कंप्यूटर ऑपरेटर इन सब विभागीय कार्यो के लिए नियुक्त है और उनको इस बात का वेतन भी मिल रहा है तो यह गोपनीय कार्य जिसमे शिक्षको की गोपनीय जानकारियां है जो विभाग से बाहर प्राइवेट दुकानदारों को दी जा रही है भविष्य में अगर कोई अनियमितता या गड़बड़ी होगी तो इसका जिम्मेदार कौन होगा ।इस फार्म को भरने के लिए शासन से जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को लगातार आदेश के साथ साथ प्रतिदिन की प्रगति रिपोर्ट भी मांगी जा रही है लेकिन देरी किसलिए ही की जा रही है यह भी जांच का विषय है

क्या है मानव संपदा ?

100 बिंदु वाले इस फार्म में शिक्षको की व्यक्तिगत व विभागीय गोपनीय जानकारी भराकर शिक्षको से जमा कराया गया था जिसे अब मानव संपदा की वेबसाइट पर फीड करना है जिससे एक क्लिक पर प्रदेश के किसी भी शिक्षक की पूरी सूचना मिल सके

Advertisements

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »

Related Ads