कापियां बताएंगी टॉपर्स की सफलता का राज, इंटरनेट पर अपलोड की जाएंगी वर्ष 2017 के टॉपर्स की कापियांअगले साल परीक्षा देने वाले छात्र ले सकेंगे कॉपियों से टिप्सटॉपर्स की कॉपियां सार्वजनिक करने वाला बन जाएगा पहला बोर्ड

July 04, 2017
Advertisements

कापियां बताएंगी टॉपर्स की सफलता का राज, इंटरनेट पर अपलोड की जाएंगी वर्ष 2017 के टॉपर्स की कापियां

अगले साल परीक्षा देने वाले छात्र ले सकेंगे कॉपियों से टिप्स

टॉपर्स की कॉपियां सार्वजनिक करने वाला बन जाएगा पहला बोर्ड

उप्र में वर्ष 2017 के टॉपर्स की कापियां छात्रों को उनकी सफलता का राज बताएंगी। कैसे वे टॉपर रहे? कितनी सूझबूझ व स्टेप बाई स्टेप सवालों को हल किया? यह उनकी कॉपी देखकर पता चल जाएगा। इसके लिए प्रदेश सरकार ने 10वीं व 12वीं के टॉपर्स की कापियों को सार्वजनिक करने का लिया है। इनको माध्यमिक शिक्षा
परिषद की वेबसाइट पर अपलोड किया जाएगा। कॉपियों को ऑनलाइन करने की घोषणा उपमुख्यमंत्री और माध्यमिक शिक्षा मंत्री डॉ. दिनेश शर्मा बोर्ड का रिजल्ट आने के बाद कर चुके हैं।

अक्सर दूसरे छात्रों के मन में यह सवाल उठता है कि आखिर कैसे ये टॉपर बने। इसलिए उनकी कॉपियों को इंटरनेट पर सार्वजनिक किए जाने का लिया गया है। ऐसा करने से टॉपर पर कोई अंगुली नहीं उठा पाएगा और पारदर्शिता भी रहेगी। बिहार के टॉपर्स पर सवाल उठने की घटनाओं को ध्यान में रखकर प्रदेश सरकार कोई भी चीज पर्दे के पीछे नहीं रखना चाहती है। कॉपियों के साथ ही जिला और मंडलवार टॉपर्स की सूची भी ऑनलाइन की जाएगी। इससे उप्र बोर्ड देश का पहला ऐसा बोर्ड जो जाएगा जो टॉपर्स की कॉपियां सार्वजनिक करेगा।

यूपी बोर्ड में इस बार करीब 60 लाख छात्रों ने परीक्षा दी थी, जिसमें 10वीं में 81.6 फीसद और 12वीं में 82.5 फीसद छात्र पास हुए थे। पिछले साल यूपी बोर्ड में पास होने का प्रतिशत 88.83 रहा था।

क्षेत्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद बरेली के उपसचिव डॉ. महेंद्र सिंह का कहना है कि क्षेत्रीय कार्यालय के माध्यम से इलाहाबाद को टॉपर्स की कापियां भेजी जाएंगी।

इंटरनेट पर अपलोड की जाएंगी वर्ष 2017 के टॉपर्स की कापियां

Advertisements

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »

Related Ads