कानपुर/इलाहाबाद: दिल्ली में 30 अप्रैल को होगा पुरानी पेंशन बहाली की माँग को लेकर राष्ट्रीय महाधिवेशन-महेन्द्र यादव 🎯बेसिक शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र यादव ने "अटेवा" को समर्थन देने का किया ऐलान।

April 20, 2018
Advertisements

दिल्ली में 30 अप्रैल को होगा पुरानी पेंशन बहाली की माँग को लेकर राष्ट्रीय महाधिवेशन-महेन्द्र यादव
🎯बेसिक शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र यादव ने "अटेवा" को समर्थन देने का किया ऐलान।

📚📚📚📚📚दैनिक युवा गौरव📚📚📚📚📚
कानपुर। पुरानी पेंशन बहाली को लेकर बेसिक शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के संस्थापक एवम् प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र कुमार यादव ने अटेवा सन्गठन को समर्थन देने का ऐलान कर नई दिल्ली में 30 अप्रैल को होने वाले आंदोलन को और तेज कर दिया है। 
             बताते चलें कि केंद्र सरकार ने अपने अधीन लगभग सभी विभागों में 01-01-2004 से पुरानी पेंशन योजना समाप्त करते हुए नव नियुक्त सभी कर्मचारियों/अधिकारियों को नवीन पेंशन योजना से आच्छादित कर दिया है। केंद्र सरकार ने पुरानी पेंशन के स्थान पर नवीन पेंशन योजना का आगाज क्या किया कि लगभग सभी राज्य सरकारें भी उसी रास्ते पर चल पड़ीं। उत्तर प्रदेश सरकार भी पीछे नहीं रही। उत्तर प्रदेश सरकार ने भी अपने अधीन लगभग सभी विभागों में  01-04-2005 के बाद नियुक्त सभी कर्मचारियों/अधिकारियों को पुरानी पेंशन योजना सुविधा से वंचित कर नवीन पेंशन योजना से आच्छादित करने का फरमान जारी कर दिया।
          समय बीतता गया पुरानी पेंशन योजना से वंचित पीड़ितों की संख्या दिन-प्रतिदिन हर नयी नियुक्ति के साथ बढ़ती गई। परिणामत: नयी पेंशन योजना का विरोध और पुरानी पेंशन योजना बहाली की मांग भी तेजी से जोर पकड़ने लगी। इधर उत्तर प्रदेश में भी नयी पेंशन का विरोध और पुरानी पेंशन योजना बहाली की मांग भी जोर पकड़ती जा रही है। पुरानी पेंशन योजना बहाली की मांग पर आधारित नये-नये संगठनों का उदय भी हुआ, जिसमें पुरानी पेंशन बहाली के एकसूत्रीय मांग पर आधारित 'अटेवा' संघ के संघर्ष की भूमिका अहम है। पुरानी पेंशन बहाली को लेकर बेसिक शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन उत्तर प्रदेश के संस्थापक एवम् प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र कुमार यादव ने अटेवा सन्गठन को समर्थन देने का ऐलान कर होने वाले आंदोलन को और तेज कर दिया है। नई दिल्ली में 30 अप्रैल 2018 को होने वाले राष्ट्रीय महाधिवेशन में भाग लेने वालों की संख्या बल अधिक होने के आसार तेज होते जा रहे है।

Advertisements

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »

Related Ads