कौशाम्बी : चार फर्जी शिक्षकों के खिलाफ दर्ज कराया मुकदमा 2011 के फर्जी टीईटी के आधार पर जिले में कर रहे थे नौकरी सत्यापन रिपोर्ट आने के बाद बेसिक शिक्षा विभाग ने उठाया कदम’

October 26, 2018
Advertisements

चार फर्जी शिक्षकों के खिलाफ दर्ज कराया मुकदमा

2011 के फर्जी टीईटी के आधार पर जिले में कर रहे थे नौकरी

सत्यापन रिपोर्ट आने के बाद बेसिक शिक्षा विभाग ने उठाया कदम’

जासं, कौशांबी : जिले में फर्जी डिग्री के आधार पर शिक्षक बने चार लोगों के खिलाफ सरसवां एबीएसए ने गुरुवार को करारी व महेवाघाट थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। मुकदमा दर्ज होने से पहले ही शिक्षक फरार हैं। जांच रिपोर्ट आने के बाद चारों को बर्खास्त किया जा चुका है। पुलिस ने चारों के खिलाफ फर्जीवाड़ा के आरोप में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 1बेसिक शिक्षा विभाग में फर्जी डिग्री के आधार पर तमाम लोग नौकरी कर रहे हैं। ऐसे लोगों की शिकायत के बाद जांच भी हो रही है। अगस्त में 23 फर्जी शिक्षकों की सत्यापन रिपोर्ट आई थी। उसमें से 17 फर्जी शिक्षकों के खिलाफ पूर्व में मुकदमा दर्ज कराया गया था। गुरुवार को एबीएसए सरसवां मिथलेश कुमार ने टीइटी 2011 के फर्जी डिग्री के आधार पर प्राथमिक विद्यालय पथरकला में तैनात रहे बब्लू वर्मा पुत्र कल्लू राम वर्मा निवासी लक्ष्छीपुर नारायणपुर कोंडौर प्रतापगढ़ के खिलाफ करारी थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। इसी प्रकार प्राथमिक विद्यालय अंधावा में तैनात रहे अनिल कुमार पुत्र अमरनाथ निवासी सरसवां महेवाघाट, प्राथमिक विद्यालय महेवाघाट में वंदना सिंह पुत्री दिलीप कुमार निवासी नई दुनिया कसहाई कर्वी चित्रकूट, प्राथमिक विद्यालय टिकरी में तैनात रहे प्रदीप दत्त शर्मा पुत्र पद्मा दत्त शर्मा निवासी 134/10 बेनीगंज इलाहाबाद पर महेवाघाट थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। 1बुधवार को भी चार पर कराया था मुकदमा : बुधवार को एबीएसए कौशांबी ने अमर सिंह पुत्र जगदीश सिंह निवासी दामोदरपुर धीनपुर, सोरांव प्रयागराज व रामू पुत्र हरिश्चंद्र निवासी चंदोली कनेहटी फूलपुर प्रयागराज के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।जासं, कौशांबी : सिराथू ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय बेला फत्तेपुर में बच्चों को देने वाले एमडीएम को हेडमास्टर ने शौचालय में रखा था। ग्रामीणों की शिकायत पर जांच को पहुंचे बीएसए आरोप सही पाया। बच्चों ने बताया कि उन्हें दूध और फल भी नहीं मिलता है इस पर बीएसए ने प्रधानाध्यापक ऊषा देवी पति व्यासदत्त शुक्ल को निलंबित कर दिया है।1बेला फत्तेपुर प्राइमरी स्कूल में तैनात रहीं प्रधानाध्यापक एमडीएम का वितरण समय से नहीं कराती हैं। वह न तो बच्चों को दूध व फल देती थीं और न ही उनको मानक के अनुसार एमडीएम। ग्रामीणों ने बीएसए से शिकायत की थी। 14 अक्टूबर को बीएसए अचानक विद्यालय पहुंच गए। वहां पंजीकृत 185 विद्यार्थियों के सापेक्ष मात्र 75 बच्चे ही मिले। उन्होंने प्रधानाध्यापक को फटकार लगाने के बाद विद्यालय का निरीक्षण किया। शिक्षकों ने शौचालय खोला तो बोरे में रखा गया चावल व गेहूं देखकर दंग रह गए। शौचालय का भी प्रयोग हो रहा था और वहां भोजन सामग्री रखने पर बीएसए ने नाराजगी जताई। इस लापरवाही के लिए प्रधानाध्यापक को दोषी मानते हुए गुरुवार को उन्हें निलंबित कर दिया। बीएसए अर¨वद कुमार ने बताया कि अन्य विद्यालयों की भी लगातार जांच हो रही है। इस प्रकार की शिकायत मिली तो अब शिक्षकों के खिलाफ और भी कठोर कदम उठाया जाएगा।’>>14 अक्टूबर को बीएसए ने किया था औचक निरीक्षण1’>>स्कूल के बच्चों को नहीं दिया जा रहा था दूध व फलशौचालय से एमडीएम का राशन निकालते कर्मचारी

Advertisements

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »

Related Ads